Home
Quotes New

Audio

Forum

Read

Contest


Write

Write blog

Log In
CATEGORIES
आत्ममंथन

आत्ममंथन...................इंसान की एक स्तिथि पत्ती जैसी होती है। पानी की बूँदें जब पत्तियों पर रुकती हैं। पत्तियों की सुंदरता उनकी चमक से कई गुना बढ़ जाती है।लेकिन ये भी एक सच्चाई है कि पत्ती उसे  कुछ पल बाद अपनी चिकनाहट से फिसला के नीचे गिरा देती है। और फिर से उसी तरह नई नई बूंदों का स्वागत करती है। पत्ती को पता ही नही चलता कि बरसात कब चली गई और बूंदों ने कब आना ही बंद कर दिया। ऐसे में केवल जड़ों में समाहित जल ही उसका साथ देता है।इंसान का व्यक्तित्त्व भी इसी पत्ती की तरह ही है वो रोज़ नए नए साथी के पीछे भागता रहता है।  वो भूल जाता है कि जीवन के रिश्ते किसी अपने के साथ ही चलते हैं। फिर चाहे उस रिश्ते में ताजग़ी अभी भी हो या न हो। भले ही हमारा रिश्ता थोड़ा उबाऊ हो गया हो लेकिन याद रहे, काम हमेशा अपने ही आएंगें।इसलिए अपनों की कद्र करो और नई दुनिया की चमक के पीछे भागना बंद करो।कुछ लोग कहेंगे कि हम उन पत्तियों में से नहीं है। फिर भी इसके विपरीत लोगों को हमारी क़द्र नहीं है। ये दूसरी परिस्थिति होती है। तो उनके लिए कहना है कि क्या आपने कभी धूप में चमकता हुआ पत्थर देखा है।धूप में पत्थर खूब चमकता है लेकिन एक निश्चित समय बाद धूप अपनी सुविधानुसार अपना रुख बदल कर उसको छोड़ के चली जाती है। और पत्थर फिर अगले दिन उसी जगह पर उसी धूप का इंतज़ार करता रहता है। पत्थर के इसी वविश्वास,लगाव और समर्पण को देखते हुए रोज़ वही धूप उस पत्थर पर आने को विवश हो जाती है। इसलिए हमेशा रिश्तों में वविश्वास, लगाव और समर्पण रखिए। रिश्ता कभी आपसे दूर हो ही नही सकता।और एक तीसरी स्तिथि ये भी होती है कि सब कुछ करने के बाद भी कोई हल नहीं निकलता और  लोग अपनी जरूरत के अनुरूप आपका प्रयोग करते हैं।ऐसे में आप अपने आपको प्रयोगशाला न बनाएं। उनसे दूर होना ही आपके लिए समझदारी है। उनसे दूर हो जाएं और अपने जीवन को एक ऐसी ऊंचाई दें जहाँ पहुँचना लोगों का सपना बन जाए। और तब आप ये तय करें कि आपको अपने जीवन में किसे जगह देनी है और किसे नहीं।😊सिद्धी दिवाकर बाजपेयी😊

एलआईसी में अब हफ्ते में 5 दिन होगा काम, बैंक यूनियन भी तेज करेंगी मांग
 6 May 2021  
Art

मुंबई– देश की सबसे बड़ी बीमा कंपनी भारतीय जीवन बीमा निगम (LIC) ने हफ्ते में 5 दिन काम को मंजूरी दे दी है। 10 मई से इसे लागू किया जाएगा। सोमवार से शुक्रवार तक काम होगा। शनिवार और रविवार छुट्टी होगी। अभी तक दूसरे और चौथे शनिवार को LIC चालू रहती थी।गुरुवार को एलआईसी ने इस संबंध में बाकायदा नियम लागू कर दिया। एलआईसी ने कहा कि सोमवार से शुक्रवार तक सुबह 10 से शाम 5.30 तक आफिसेज चालू रहेंगी। जबकि हर शनिवार और रविवार को पूरी तरह से बंद रहेंगी। यानी हफ्ते के चालू दिनों में केवल 7.30 घंटे काम होगा। एलआईसी में करीबन 1.15 लाख कर्मचारी हैं। सभी को इसका फायदा मिलेगा। एलआईसी ने कहा कि इस संबंध में सरकार ने पहले ही मंजूरी दे दी थी।पिछले महीने ही सरकार ने एलआईसी की इस मांग को मंजूरी दे दी थी और अब इसे एलआईसी ने लागू किया है। पिछले महीने ही एलआईसी के कर्मचारियों की सैलरी में 16 पर्सेंट के इजाफे को मंजूरी दे दी गई थी। हालांकि यह काफी लंबे समय बाद की गई थी। इससे पहले अगस्त 2012 में वेज को बढ़ाया गया था। हालांकि एलआईसी में 5 साल पर सैलरी में सुधार किया जाता है, पर इस बार काफी देरी से इसे किया गया।एलआईसी इस समय अपने आईपीओ पर काम कर रही है। यह भारत में अब तक का सबसे बड़ा आईपीओ होगा और इस पर सबकी निगाह लगी है। एलआईसी ने इसमें अपने पॉलिसीधारकों के लिए 10 पर्सेंट हिस्सा रिजर्व रखेगी। माना जा रहा है कि आईपीओ आते समय इसके कर्मचारियों का भी हिस्सा इसमें रिजर्व होगा।उधर एलआईसी के इस कदम के बाद एक बार फिर से बैंकिंग सेक्टर में भी हफ्ते में 5 दिन काम करने की मांग तेज हो सकती है। सूत्रों के मुताबिक बैंक यूनियन इस संबंध में इंडियन बैंक्स एसोसिएशन के साथ बात करने की तैयारी कर रही हैं। बैंक यूनियन लंबे समय से इसकी मांग कर रही हैं। पर इस पर अभी तक कोई फैसला नहीं किया गया है। बैंकों में फिलहाल सोमवार से शुक्रवार और पहले तथा तीसरे शनिवार को काम होता है। हालांकि कोरोना के समय में बैंकिंग के कामकाज के समय को घटा दिया गया है।इंडियन बैंक्स एसोसिएशन ने जनवरी 2020 में बैंक यूनियनों की इस मांग को खारिज कर दिया था। हालांकि उस समय 19 पर्सेंट की सैलरी बढ़त को एसोसिएशन ने मंजूरी दे दी थी। बैंक कर्मचारियों का कहना है कि जब डिजिटल की बात है और सब कुछ डिजिटल हो रहा है तो फिर सोमवार से शनिवार तक बैंक खोलने की जरूरत नहीं है। वैसे भी पूरी दुनिया में इस समय हफ्ते में 5 दिन का ही का चलन है। लेकिन भारत में अभी भी यह कुछ सेक्टर या कंपनियों में लागू नहीं हो पाया है।Resource Link- https://www.arthlabh.com/2021/05/06/lic-will-now-have-5-days-a-week-work-bank-unions-will-also-increase-demand/

फिजियोथेरेपी में करियर कैसे बनाये ! Physiotherapy Me Career Kaise Banaye
 2 May 2021  

आज के समय में पैरा मेडिकल का क्षेत्र लगातार बढ़ता जा रहा है | जिसके कारण फिजियोथेरेपी में करियर ही संभावनाएं बढ़ती जा रही है इसलिए बहुत सी बीमारियों का इलाज करवाने के लिए फिजियोथेरेपी का इस्तेमाल किया जा रहा है। फिजियोथेरेपी की सबसे बड़ी बात यह है कि इसका कोई भी साइड इफेक्ट नहीं है | फिजियोथेरेपी चिकित्सा विज्ञान की वह शाखा जिसकी मदद से शरीर के बाहरी हिस्से का इलाज किया जाता है। इसके माध्यम से कई स्तरों में इलाज किया जाता हैं। आज हम आपको इस लेख में  इसी करियर के बारे में संपूर्ण जानकारी देने वाले है कि फिजियोथेरेपी में करियर कैसे बनाये Physiotherapy Me Career Kaise Banaye या फ़िज़ियोथेरेपिस्ट कैसे बने Physiotherapist Kaise Bane आजकल की भागदौड़ में इंसान के पास अपने शरीर को स्वस्थ रखने के लिए शारीरिक व्यायाम करने का समय नहीं है | यही कारण है कि ज्यादातर लोगो को उनकी आरामदायक दिनचर्या के कारण हड्डियों एवं मांसपेशियाँ संबंधी बीमारियाँ होने लगती है | | तेजी से बदलती जीवनशैली और भागदौड़ भरी जिंदगी में शरीर की मांसपेशियों में खिंचाव और दर्द होना आम बात हो गई है  | शारीरिक व्यायाम के अभाव में ज्यादा आरामदायक कार्य एवं गलत जगह पर काफी समय तक बैठकर देर तक कार्य करने के कारण अधिकांश लोग हड्डियों एवं मांसपेशियाँ संबंधी बीमारियों से ग्रसित होने लगते हैं |मांसपेशियों एवं हड्डियों संबंधी समस्याओं और दर्द में परंपरागत चिकित्सा पद्धति कारगर साबित नहीं हो रही है ऐसे में दर्द निवारक औषधि भी थोड़ी देर के लिए आराम तो पहुँचाती है ! लेकिन समस्या फिर सामने आ जाती है ऐसे में इस बीमारी का स्थायी समाधान नहीं हो पाता है | इस तरह की बीमारियों का आसानी से इलाज करने के लिए Physiotherapy फिजियोथैरेपी का सहारा लिया जाता है |एलोपैथिक दवाइयों का साइड इफेक्ट भी बहुत ज्यादा होता है | जिसकी वजह से आपके शरीर में  दूसरी बीमारियाँ भी  उत्पन्न होने लगती है | हड्डियों एवं मांसपेशियों संबंधी बीमारियों का इलाज आजकल नई चलन की तकनीक चिकित्सा पद्धति फिजियोथैरेपी के द्वारा किया जा रहा है | दुर्घटना में हड्डी टूटने के बाद शल्य चिकित्सा के पश्चात हड्डियों और मांसपेशियों को पूर्व अवस्था में लाने के लिए फिजियोथैरेपी काफी अच्छी साबित हुई है | ज्यादातर हड्डियों संबंधी समस्याएं वृद्धावस्था मे  होती है जिसको व्यायाम मालिश स्ट्रैचिंग द्वारा फिजोथेरपी तकनीक से दूर किया जा सकता है! जिसके कारण फिजियोथैरेपी के क्षेत्र में अच्छे कैरियर विकल्प की संभावनाएं बढ़ती जा रही है |कोर्स एवं योग्यता Course and Qualificationsफिजियोथेरेपी Physiotherapy में अच्छा कैरियर बनाने के लिए छात्रों को 12वी मे जीव विज्ञान रसायन विज्ञान एवं भौतिक विज्ञान विषय के साथ 50% अंक प्राप्त करना अनिवार्य है | 12वीं करने के पश्चात Bachular of Physiotherapist ( BPT) कोर्स में दाख़िला लेना होता है | कुछ बड़े संस्थानों में दाख़िला 12वी मे प्राप्त अंक की मेरिट के आधार पर प्रवेश लेना होता है यह कोर्स 4.5 वर्ष का होता है | जिसमें 6 माह की इंटर्नशिप होती है |Bachelor in Physiotherapy बैचलर इन फिजियोथैरेपी ( BPT )के पश्चात 2 वर्ष का Masters in Physiotherapy मास्टर इन फिजियोथैरेपी ( MPT ) कोर्स किया जा सकता है  | जिसमे आप इस फील्ड के अंदर विशेषज्ञता हासिल कर सकते हो | इसके अलावा आप  न्यूरोलॉजिकल फिजियोथेरपी, पिडियाट्रिक फिजियोथेरपी, स्पोर्ट्स फिजियोथेरपी, ऑथ्रोपेडिक फिजियोथेरपी, ऑब्सेक्ट्रिक्स फिजियोथेरपी, पोस्ट ऑप्रेटिव फिजियोथेरपी, कार्डियोवास्कुलर फिजियोथेरपी इत्यादि में भी विशेषज्ञता हासिल कर सकते हैं। फिजियोथेरपी कोर्सेस Physiotherapy Course में ऐडमिशन लेने के लिए आप गवर्नमेंट व प्राइवेट, दोनों में से कोई भी कॉलेज चुन सकते हैं। गवर्नमेंट कॉलेजों में ऐडमिशन लेने के लिए आपको स्टेट या सेंट्रल लेवल के एंट्रेंस एग्जाम क्वालिफाई करने पड़ते है अगर आप एंट्रेंस एग्जाम में अच्छी रैंक प्राप्त कर लेते हो तो आपको कोर्स करने के लिए ज्यादा खर्च नहीं करने पड़ते है | बहुत से प्राइवेट कॉलेजों में  डायरेक्ट ऐडमिशन होते है  व कुछ एंट्रेंस एग्जाम द्वारा ऐडमिशन लेते हैं। कौशल एवं दक्षता  Skill and Efficiencyफिजियोथैरेपिस्ट Physiotherapist को एनाटॉमी, तंत्रिका तंत्र, मांसपेशियाँ विज्ञान, और अस्थियो संबंधी विज्ञान में अच्छी जानकारी होना आवश्यक है|  नहीं तो आपको लाभ की बजाय हानि भी हो सकती है | फिजियोथैरेपिस्ट मरीज़ों का उपचार दवाइयों की बजाए व्यायाम मालिश स्ट्रैचिंग इत्यादि तकनीक से करता है | नर्व और मांसपेशियों के विभिन्न बिंदुओं पर नियंत्रित दबाव देकर जटिल से जटिल बीमारियों को ठीक किया जा सकता है |फिजियोथैरेपिस्ट कोर्स Physiotherapy Course में अच्छी जानकारी हासिल कर बाल चिकित्सा Child Specialist, जेरियाट्रिक्स Geriatric, ऑर्थोपेडिक्स Orthopedic , स्पोर्ट्स फिजिकलथेरेपी Sports Physiotherapist, न्यूरोलॉजी Neurology , क्लिनिकल इलेक्ट्रोफिजियोलाजी Clinical Electrophysiology और कार्डियोफुलमोनरी Cardiopulmonary इत्यादि क्षेत्रों में अच्छी विशेषज्ञता हासिल की जा सकती है इसके अलावा आप में इन स्किल का होना ही भी बेहद जरूरी है |कम्युनिकेशन स्किल समस्या को हल करने उपाय आत्मविश्वास सहनशक्तिभविष्य में इसकी संभावनाएं जटिल अस्थियों और मांसपेशियों संबंधी विकारों का उपचार फिजियोथेरेपी तकनीक के द्वारा किया जा सकता है | आजकल इस तकनीक का उपयोग घायलों और विकलांगों को सफल इलाज प्रदान कर रहा है जिसके कारण फिजियोथैरेपी तकनीक की मांग दिन पर दिन बढ़ती जा रही है | भविष्य में इस क्षेत्र में करियर की बहुत अधिक संभावनाएं जीत होती जा रही है | फिजियोथैरेपी से दूर होने वाली समस्याएँसर्वाइकल दर्द सर्वाइकल नेक दर्द चेहरे का लकवा कार्डियोपल्मोनरी अस्थमा मांसपेशिया एवं हड्डियों का दर्दनौकरी के अवसर  Job opportunitiesPhysiotherapy Course करने के पश्चात आप एक अच्छी नौकरी भी पा सकते हैं  | इसके लिए आपके पास अच्छे विकल्प मौजूद है वर्तमान में लगभग सभी सरकारी और निजी अस्पतालों में पृथक रूप से Physiotherapy Center बनाए जा रहै है |जो शल्य चिकित्सक की मदद करने के अतिरिक्त फिजियोथैरेपी तकनीक द्वारा हड्डियों एवं  मांसपेशियों संबंधी दर्द को दूर करता है | बैचलर इन फिजियोथैरेपी कोर्स करने के पश्चात आप स्वयं का क्लीनिक भी खोल सकते हैं | मास्टर इन फिजियोथैरेपी कोर्स के पश्चात फिजियोथैरेपी कॉलेज में प्रशिक्षक के रूप में नौकरी भी सकते हैं | प्रत्येक स्पोर्ट्स एकेडमी एवं  इंस्टिट्यूट मे फिजियोथेरेपिस्ट की पोस्ट उपलब्ध रहती है |  जो खिलाड़ियों को एक्सरसाइज और उपचार के लिए उपलब्ध रहते हैं | सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ,मानसिक स्वास्थ्य केंद्र , वृद्ध आश्रम, पुनर्वास केंद्र, खेल क्लीनिक, स्पोर्ट्स एवं फिटनेस सेंटर में फिजियोथैरेपिस्ट की उपयोगिता महत्वूर्ण होती है |Health CentersSchool CentersHealth Center Charity OrganizationsSports CentresGYM CentersArmy Centresसैलरी Salaryअगर आप अपना करियर फिजियोथेरेपी  के क्षेत्र में शुरू करते हो तो आपको शुरुआत में  10,000 रुपये से लेकर 15,000 रुपये तक आसानी से मिल जाते है | बहुत से हॉस्पिटल इंटर्नशिप के दौरान स्टूडेंट्स के काम को देखते हुए उन्हें अपने यहां ही बतौर फिजियोथेरपिस्ट रख लेते हैं या फिर फिजियोथेरपी की टीम में शामिल कर लेते है। आगे आगे जिस प्रकार से आपका अनुभव और आपकी समझ बढ़ती जाती है उसी प्रकार से आपकी इनकम भी बढ़ती जाती है | अगर आपके पास इस क्षेत्र का अच्छा अनुभव हो जाता है तो आप खुद का प्राइवेट फिजियोथेरेपी सेंटर या क्लीनिक भी खोल सकते है | या किसी बड़े संस्थान में बतौर फिजियोथेरपिस्ट काम करके अपने करियर की ग्रूमिंग कर सकते हैं। इसमें सैलरी या इनकम  की कोई लिमिट नहीं है।देश के कुछ फिजियोथैरेपी  संस्थानApollo Physiotherapy College, HyderabadPandit Deendayal Upadhyaya Institute of Physically Handicapped ,New DelhiIndian Institute of Health Education and Research, PatnaPost Graduate Institute of Medical Education and Research, ChandigarhNizam Institute of Medical Sciences, HyderabadSDM College of Physiotherapy, KarnatakaMahatma Gandhi University of Medical Education, KeralaKJ  Somaiya College of Physiotherapy, MumbaiDepartment of Physical Medicine and Rehabilitation ,Vellore Tamil NaduJSS College of Physiotherapy, Mysore KarnatakaJamia Millia Islamia, New DelhiGuru Gobind Singh Indraprastha University, New DelhiSaint John’s Medical College, Bangalore दोस्तों आज हमने आपको इस लेख में भविष्य के उभरते हुए करियर विकल्प फिजियोथेरपी कोर्स के बारे में सम्पूर्ण  जानकरी दी है कि आप किस प्रकार से इस क्षेत्र में अपने कदम बढ़ा सकते हो इस लेख में हमने आपको बताया है कि फिजियोथेरपी में करियर कैसे बनाये या फिजियोथेरपिस्ट कैसे बने या फिर फिजियोथेरपी  कोर्स कैसे करे अगर आपको ये जानकारी पसंद आयी है तो हमे कमेंट करके बताये और इस जानकरी को दूसरी विधार्थियो के साथ भी शेयर करे ताकि उन्हें भी मेडिकल से जुड़े इस करियर विकल्प के बारे में पता चल सके     

बाहर कोरोना का अंबार था , घर में खुशीयों का बहार था।
 27 April 2021  

जब 2020 कोरोना का दौर चल रहा था।जिसकी शुरुआत चीन से हुई थी। और धीरे - धीरे इस बिमारी ने पूरी दुनिया को अपने कब्ज़े में ले लिया था जिससे पूरी दुनिया अस्त व्यस्त हो गई थी। दिन प्रतिदिन इस बिमारी के बढ़ते आंकड़ों ने सबके मन में डर पैदा कर दिया था। इसने सबके काम काज को ठप्प कर दिया। बच्चों की पढ़ाई लिखाई सब पीछे छूटी जा रही थी। गरीब, मजदूर, किसान जो शहर आए थे अपने और अपने परिवार का पेट पालने अपनी आँखों में कुछ सपने लिए। वे सभी लोग इस कोरोना के कारण शहर से गाँव कि ओर स्थानांतरण हो रहे थे। सड़कों  पर कई ऐसे गरीब जो कोरोना से तो नहीं लेकिन भूख से हर रोज़ मरते हैं। कोरोना के इस अंबार के कारण पूरा विश्व अपनी वर्तमान गति से पीछे चल रहा था। और यह कबतक चलेगा इसकी दूर - दूर तक कहीं संभावनाएं नज़र नहीं आ रही थी। भारत की 138 करोड़ की आबादी वाला देश संक्रमण के कारण सुनसान पड़ा था। कई वर्षों में ऐसा पहली बार देखा गया था कि देश ठप्प होना किसे कहते हैं । बच्चा, बुढा़ , युवा सब परेशान थे। और एक उम्मीद की प्रतीक्षा कर रहे थे की कब इस बीमारी से छुटकारा मिले।इस संक्रमण के कारण लॉकडाउन, पढाई कि छुट्टी, काम काज का ठप्प होना लोगों के लिए बहुत हानिकारक साबित हुआ था। जिसके कारण आर्थिक, सामाजिक और राजनीतिक कार्यकलापों में भी हानि हुई थी। इस संक्रमण के डर से लोग अपने - अपने घरों में ही थे। लेकिन जहाँ एक तरफ बस, ट्रेन, हवाई जहाज के आने जाने पर पाबंदी थी। घर से निकलने किसीसे मिलने जुलने की मनाही थी। वहीं दूसरी ओर घर बैठे आराम फरमाने की छूट भी थी। वैश्विक संक्रमण के इस दौर में लोग यह ज़रूर देख रहें थे कि देश में कितनो की कोरोना के कारण मौत हो रही है। देश की आर्थिक, सामाजिक और राजनीतिक स्थिति कहाँ तक पहुँची है। लोग घर बैठे यही देख रहे थे लेकिन कोई यह देख नहीं रहा था कि उन्हें  अपने परिवार, बीवी, बच्चे, माता-पिता के साथ कैसे वक़्त भी मिल रहा है।जो वक़्त उन्हें काम के कारणवश कभी नहीं मिल सका। जहां बीमारी को लेकर डर था वहां परिवार के साथ मन संतुष्ट था। माना कि बाहर जाने पर पाबंदी थी लेकिन बीवी, बच्चे, माता - पिता के साथ घर में ही दुनिया रंगीन थी। आर्थिक स्थिति बिगड़ी ज़रुर थी लेकिन मिल बाटंकर खाने का मज़ा ही कुछ और था। बच्चों को बाहर खेलने न जाने देना थोड़ा मुश्किल ज़रूर था पर पापा अपने बच्चों के साथ खेले ये दृश्य देखने का आनंद ही कुछ और था।माना बाहर जाना त्यौहार नहीं मनाया जा रहा था लेकिन घर में ही औरतों का हाथ बटाने में मज़ा बहुत आ रहा था। इस बिमारी के बुरे सफर में एक बात सबसे ज्यादा दिल को छू गई की जब मंदिर ,, मस्जिद, गिरजाघर बंद पड़े थे तो अपने ही घर में इबादत करने में दिल तो जैसे प्रसंन हो गए हों। पहले लोग अपने घर को मंदिर, मस्जिद और गिरजाघर बोलते थे लेकिन इस संक्रमण ने वास्तव में घर को इबादत करने का पाक या पवित्र स्थान बना दिया। वैश्वीक संक्रमण के कारण बुरा तो बहुत देखा है पूरे देश ने लेकिन कुछ ऐसे पलो को भी संजोया है इस दिल में। पैसो की तंगी तो बहुत हुई पर मुहब्बत कम न हुई। सुनसान सड़कें ज़रुर  थी पर घर में कुछ हलचल सी थी। , इस कोरोना के कारण से एक बात और सामने आई की जो मर्द यह सोचते थे कि घर में रहना बहुत आसान है, औरतों को परम्परागत तरीके से एक ग्रहणी बनकर ही घर में रहना चाहिए। वह दकियानूसी सोच कहीं न कहीं ख़त्म भी हुई है। मर्दो को लॉकडाउन के समय में यह एहसास हुआ कि घर में ही रहना काम करना कितना कठिन है।कोरोना के इस बुरे सफर में एक और बात पर रोशनी डाली गई थी की जो लोग औरतों को यह ताना देते थे कि ग्रहस्ती का काम आसान होता है और बाहर का काम मुश्किल और कठिन होता है। लेकिन वह लोग गलत साबित हुए क्योंकि इस वैश्विक संक्रमण के कारण पूरे विश्व का काम - धाम ठप्प हो गया था, लेकिन केवल एक ग्रहणी का ही काम बढ़ गया था। सबका ध्यान कोरोना, काम काज, आर्थिक, सामाजिक और राजनीतिक क्रियाकलापों पर था लेकिन किसी का भी ध्यान एक महिला की ग्रहस्थी पर नहीं गया। जिन्होंने पूरी मेहनत और लगन से अपनी हरेक ज़िम्मेदारी को बखूबी निभाया था। बिना किसी शिकायत के धन की कमी होते हुए भी अपने फर्ज को निभाया।कहने का पूरा तात्पर्य यह है कि "जहां बाहर कोरोना का अंबार था, वहीं घर में खुशीयों का बाहार था" लोगों के मन में लंबे समय तक यह बात घर कर जाएगी की कोरोना के कारण से पूरा विश्व सुनसान पड़ा था। लेकिन यह बात कोई नहीं सोच रहा होगा की घर में कितनी  रौनक, हलचल सी थी। पूरे देश में इस मुसीबत के कारणवश कई भारतीय अभिनेताओं जैसे कि सोनू सूद, सुनिल शेट्टी आदि ने गरीब, लाचार, मज़दूर जो काम काज ठप्प होने के कारण बुरा वक़्त झेल रहे थे उनकी मदद की। उन्होने सड़क पर रहने वाले सभी लोगों को खाने - पीने, उनके बच्चों के लिए पुस्तकों की सहायता प्रदान की। "हम ऐसे लोगों का आभार व्यक्त करते हैं, और उन्हें लोगों की मदद करने के लिए प्रोत्साहन भी करते हैं"।इस कोरोना ने इंसान को इंसानियत याद दिला दी थी। एक वक़्त था जब अपने काम के कारण से कोई किसी की मदद करने में असमर्थ हुआ करता था। लेकिन इस वैश्विक संक्रमण के कारण एक व्यक्ति दूसरे व्यक्ति की सहायता करने लगा। हमारे देश के डॉक्टर, पुलिसकर्मी, सरकारी कर्मचारी की दिन रात की मेहनत ने लोगों की सहायता की और उन्हें यह आश्वासन दिया कि सब बेहतर होगा। इस संक्रमण के कारण अत्यधिक बूरा तो हुआ था लेकिन कुछेक चीजें बेहतर और अच्छी तरह से भी हुई थीं। लोग हमेशा कोरोना के कारण से वैश्विक तबाही को भूल नहीं पाएंगे पर उसके कारण घर में अपने परिवार बीवी, बच्चे, माता-पिता के साथ गुज़रे अच्छे वक़्त को भी भूलना नामुमकिन होगा।आज की यह हक़ीकत है कि भारत और अन्य देशों के नागरिकों ने इस बिमारी को कही हद तक समाप्त करने की जो कोशिश की थी जिसमें यह एक नारा "दो गज़ दूरी मास्क है ज़रूरी" काफी असरदार साबित हुआ। और आज इतनी कोशिशो के बाद भारत के योग्य और क़ाबिल वैज्ञानिक की कड़ी मेहनत के कारण ही इस संक्रमण का टीका यानी की वैक्सीन तैयार हो गई है। और इसी कारण कोरोना के आकडों में कमी आई है। जिससे बच्चों की पढ़ाई लिखाई, काम काज, देश की आर्थिक, सामाजिक और राजनीतिक क्रियाकलाप अपनी गति पर फिर आने की कोशिश में लगे हुए हैं ।]हमारे कुछ योगदान के कारण से पूरा देश इस बिमारी के चंगुल से धीरे - धीरे निकल रहा है। और इसमें सबसे बड़ी और महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले भारतीय डॉक्टर, पुलिसकर्मीयो को हम कभी नहीं भूल सकते हैं ज़िन्होने लोगों की मदद उस वक़्त की जब कई लोगों ने ज़िंदगी जीने की उम्मीद ही छोड़ दी थी। उस समय सबका हाथ थामकर हौसला देते हुए आगे बढ़ने की हिम्मत दी। और कोरोना के बुरे दौर में सबने यह देखा की इंसानियत आज भी ज़िंदा है क्योंकि वह कभी मरी ही नहीं थी बस लोगों के मशरुफी के कारण लुप्त हो गई थी। और संक्रमण के बुरे दौर में देखी गई। बस यूँही एक दूसरे का साथ देना और आगे बढ़ते रहना। और बुरी यादों को भूलकर अच्छी यादों को याद रखें। " Think Positive and Keep Smile " क्योंकि बाहर कोरोना का अंबर था, लेकिन घर में खुशीयों का बहार था "।बहुत दुख के साथ कहना पड़ रहा है कि कोरोना 2021 में फिर वापस आ गया है एक नऐ रूप में अधिक शक्तिशाली होकर । जिसने फिर से लोगों के मन में डर पैदा कर दिया है। जिसके कारण देश में फिर लॉकडाउन हो गया है। और देश की स्थिति खराब हो गई है लेकिन डरने और घबराने की ज़रूरत नहीं है क्योंकि यह याद रखना होगा की जिस तरह से हमने एकजुट होकर कोरोना को हराया था उसी प्रकार आज के इस नए कोरोना को भी हराया जा सकता है। बस ये याद रखिए की “ बाहर से कोरोना का अंबार था, लेकिन घर में खुशीयों का बहार था”। और बीते दिनों की यही बाते याद रखते हुए घर में रहें और सुरक्षित रहें। हम एक दूसरे के साथ है तो कोरोना को हरा देंगें। (अंजुम खातुन)

डिजिटल मीडिया मे करिअर कैसे बनाए ? Media Me Career Kaise Banaye
 23 April 2021  

वर्तमान समय को विज्ञापन का युग कहना गलत नहीं होगा | क्योंकि आज का समय विज्ञापन का बोलबाला है पूरी की पूरी मार्किट विज्ञापन पर ही टिकी हुई है | असल विज्ञापन की वजह यह है कि एक ही प्रोडक्ट को बनाने वाली हजारों कंपनियां होती है | जो अलग अलग अलग तरीकों से अपने प्रोडक्ट ग्राहकों तक पहुँचती है |अगर आपके अंदर कुछ क्रिएटिव करने की इच्छा है और आपके पास मार्केटिंग करने के आइडियाज है तो विज्ञापन के क्षेत्र में आप अपना अच्छा करियर बना सकते है |आपकी जानकरी के लिए बता दे जब से दुनिया में इंटरनेट का क्रेज बढ़ा है | तब से विज्ञापन का क्षेत्र लगातार तरक्की कर रहा है | प्रिंट मीडिया से लेकर टेलीविजन और अब इंटरनेट जैसे प्लेटफॉर्म पर विज्ञापन और उससे बढ़ती हुई कमाई को देखते हुए इस क्षेत्र में काम करने वाले प्रोफेशनल की मांग दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है |इसलिए आज हम आपको इस लेख में एडवरटाइजिंग से जुड़े इस करियर के बारे सम्पूर्ण जानकारी देने वाले है कि दोस्तों इस लेख में हमने आपको डिजिटल मीडिया से जुड़े एडवरटाइजिंग करियर के बारे में सम्पूर्ण जानकरी दी है | कि किस प्रकार से आप इस क्षेत्र में अपने कदम बढ़ा सकते है इस लेख में हमने आपको बताया कि एडवरटाइजिंग क्या है ? Advertising Kya Hai एडवरटाइजिंग में करियर कैसे बनाये ? Advertising Me Career Kaise Banaye डिजिटल मीडिया में करियर कैसे बनाये ? Digital Media Me Career Kaise Banaye | मीडिया में करियर कैसे बनाये Media Me Career Kaise Banaye इत्यादि | अगर आप भी इस क्षेत्र में करियर बनाने की सोच रहे है तो इस लेख को अंत तक पढ़े ?एडवरटाइजिंग क्या है | What is Advertisingवैसे देखा जाये तो प्रोडक्ट की एडवरटाइजिंग करना ये कोई नया तरीका नहीं है | एडवरटाइजिंग का इतिहास बहुत पुराना है | विज्ञापन का काम करने वाली कंपनियां वर्ष 1905 से देश के अंदर काम कर रही है लेकिन समय के साथ एडवरटाइजिंग करने के तरीकों में भी काफी बदलाव होता जा रहा है | पुराने समय में विज्ञापन का जो कार्य दीवारों पर प्रोडक्ट के चित्र बनाकर किया जाता था | आज वही कार्य वीडियो डिजिटल ग्राफ़िक्स के माध्यम से किया जा रहा है |परन्तु प्रत्येक प्रोडक्ट की बिक्री उसकी क्वालिटी और विज्ञापन पर निर्भर करती है | जिसके कारण विज्ञापन का क्षेत्र एक अच्छे करियर विकल्प के रूप में उभर रहा है | देश के अंदर प्रोडक्ट का जितना बड़ा बाजार होगा उतना ही ज्यादा मार्किट में कॉम्पिटीशन होगा |विज्ञापन का इस्तेमालआपने भी पत्र पत्रिकाओं , टीवी , अखबारों , और सड़को पर बड़े बड़े होर्डिंग्स बैनर ज़रूर देखे होंगे | इन विज्ञापनों में आप प्रोडक्ट को देखकर उस प्रोडक्ट के बारे में जाने के लिए उत्साहित रहते है | कि ये इतना अच्छा विज्ञापन किस प्रोडक्ट का है | आपको विज्ञापन के डिज़ाइन काफी आकर्षित करते है जिसके कारण आप उस प्रोडक्ट की तरफ खींचे चले आते है |इसे भी जरूर पढे : - वीडियो एडिटर कैसे बने |आखिर में इसके पीछे कौन सी शक्ति काम करती है जो हमे उस प्रोडक्ट को खरीदने के लिए मेंटली दबाव डालती है असल में यह सारा खेल एडवरटाइजिंग एजेंसियों का होता है जो उनकी टीम के द्वारा तैयार किया जाता है |विज्ञापन को डिजाइन करने से लेकर उसे मार्किट में सफलतापूर्वक पहचान दिलाने का श्रेय इस एडवरटाइजिंग टीम को ही जाता है | जिसके कारण ये कंपनियां लाखों करोड़ों रुपये का फायदा लेती है |योग्यता Qualificationअगर कोई भी विधार्थी विज्ञापन के क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहता है तो उसे कम से कम बारहवीं की परीक्षा पास करना अनिवार्य है उसके बाद आप विज्ञापन के क्षेत्र से जुड़े कुछ डिग्री डिप्लोमा कोर्स कर सकते है | इन कोर्स की अवधि दो से तीन वर्ष के बीच होती है | विज्ञापन से जुड़े कुछ कोर्स ऐसे भी है जिन्हे आप ग्रेजुएशन के बाद कर सकते है |एडवरटाइजिंग संबंधी कुछ प्रमुख कोर्सBachelor of Journalism & Mass CommunicationBA in Advertising and Brand ManagementMaster of Journalism and Mass Communication)?PG Diploma in AdvertisingMBA in Advertisingएडवरटाइजिंग से जुड़े कुछ प्रमुख कार्य क्षेत्रएडवरटाइजिंग Advertising का क्षेत्र बहुत बड़ा है | जिसके अंदर काम करने के लिए अलग अलग कार्य क्षेत्र मौजूद है आप अपनी इच्छानुसार किसी भी क्षेत्र का चुनाव कर सकते है |इसे भी जरूर पढे : - डिजिटल मार्केटिंग मे करिअर कैसे बनाए |क्रिएटिव डिपार्टमेंट – इस डिपार्टमेंट के अंतर्गत कॉपी राइटर , विजुअलाइजर , फोटोग्राफर , इत्यादि कार्य किये जाते है , इस सभी का काम विज्ञापनों के लिए पंच-लाइन या स्लोगन लिखना , ग्राफ़िक्स डिज़ाइन करना , विज्ञापन के लिए फोटो खींचना स्केचिंग तैयार करना इत्यादि प्रकार के कार्य किये जाते है | इस प्रकार के कार्यो के लिए उन लोगो की ज्यादा डिमांड है जो कुछ अलग हटकर काम करना चाहते है |क्लाइंट सर्विसिंग – इस डिपार्टमेंट में अकाउंट एग्जीक्यूटिव , बिज़नेस डेवलपमेंट मैनेजर , मार्केटिंग एग्जीक्यूटिव तथा मार्केटिंग डायरेक्टर से संबंधित पद होते है | क्लाइंट सर्विसिंग और एडवरटाइजिंग का आपस में वही संबंध है जो दिल और शरीर का होता है | इनका काम विज्ञापन का बजट तैयार करना , विज्ञापन के लिए माध्यम तैयार करना , कंपनियों से विज्ञापन लेना ,क्लाइंट से विज्ञापन डील करना और ग्रुप मैनेजिंग जैसे कार्य इनकी देख रेख में किये जाते है |मीडिया प्लानिंग – इस डिपार्टमेंट का काम विज्ञापन तैयार होने के बाद उसे कौन कौन से प्लेटफार्म पर प्रकाशित करना ये सभी कार्य इनके द्वारा किये जाते है | इस डिपार्टमेंट का मुख्य काम प्रोडक्ट संबंधी ग्राहकों को टारगेट करना है ताकि ज्यादा से ज्यादा ग्राहक उस विज्ञापन से प्रभावित होकर उस प्रोडक्ट को खरीद ले |इसे भी जरूर पढे : - वॉइस ओवर आर्टिस्ट कैसे बने |रिसर्च डेवलपमेंट – कोई भी काम एक दम से शुरू नहीं किया जाता उसे शुरू करने से पहले उस काम की पूरी प्लानिंग की जाती है तब जाकर आप उस काम को शुरू करते है | यंहा पर भी ऐसा ही है कोई भी विज्ञापन शुरू करने से पहले एडवरटाइजिंग कम्पनी उस विज्ञापन के बारे में कई प्रकार की रिसर्च करती है जैसे कि इस विज्ञापन का ग्राहकों में कितना असर देखने को मिल सकता है , नए विज्ञापन करने से हमें पहले के मुकाबले कितना अधिक लाभ होगा | इस प्रकार के रिसर्च संबंधी सभी प्रकार के कार्य रिसर्च डिपार्टमेंट के द्वारा किये जाते है |रोजगार की सम्भावनायेजैसे कि आपको पता लग चूका है कि एडवरटाइजिंग का क्षेत्र बहुत ज्यादा फैला हुआ है | तो इस क्षेत्र में रोज़गार के अवसर भी भरपूर है | इस इंडस्ट्री में युवा अपनी पसंद से कोई भी डिपार्टमेंट चुन सकते है | विज्ञापन के बढ़ती हुई डिमांड को देखते हुए नई नई विज्ञापन एजेंसीज खुल रही है जिनमे आप अपनी आवश्यकता के अनुसार जॉब प्राप्त कर सकते है | आने वाले समय में यह इंडस्ट्री और भी ग्रो करने वाली है |इसे भी जरूर पढे : - डिजिटल बैंकिंग क्या है |इसलिए अभी आपके पास इस इंडस्ट्री में करियर बनाने का अच्छा मौका है इस क्षेत्र में क्रिएटिविटी के मांग बहुत ज्यादा रहती है | अगर आपको इस इंडस्ट्री की अच्छी जानकारी हो जाती है तो आप घर बैठे फ्रीलांस वर्क भी कर सकते है और अच्छी इनकम प्राप्त कर सकते है |सेलरी Salaryविज्ञापन का क्षेत्र आज का उभरता हुआ क्षेत्र है जिसमे आपको शुरुआती सेलरी भी अच्छी मिल जाती है | अगर आप इस इंडस्ट्री में अपने करियर की शुरुआत करते है |तो आपको अलग अलग डिपार्टमेंट के अनुसार आपकी सेलरी में भी अंतर होता है |शुरुआत में प्रोडक्शन मैनेजर को 15 हजार , कॉपीराइटर को 20 हजार , अकाउंट मैनेजर को 35 से 40 हजार रूपये प्रतिमाह तक मिल जाते है | जिस प्रकार से आपका अनुभव बढ़ता है उसी प्रकार से आपकी सेलरी भी बढ़ती जाती है | आप चाहे तो इस इंडस्ट्री में एक लाख रूपये महीने तक भी आसानी से पहुंच सकते है |इसे भी जरूर पढे : - रिटेल मैनेजमेंट में करियर कैसे बनाये |फ्रीलांसर वर्क में आप अपने अनुभव के अनुसार प्रति घंटे के हिसाब से चार्ज कर सकते है |दोस्तों इस लेख में हमने आपको डिजिटल मीडिया से जुड़े एडवरटाइजिंग करियर के बारे में सम्पूर्ण जानकरी दी है | कि किस प्रकार से आप इस क्षेत्र में अपने कदम बढ़ा सकते है इस लेख में हमने आपको बताया कि एडवरटाइजिंग क्या है ? Advertising Kya Hai एडवरटाइजिंग में करियर कैसे बनाये ? Advertising Me Career Kaise Banaye डिजिटल मीडिया में करियर कैसे बनाये ? Digital Media Me Career Kaise Banaye | मीडिया में करियर कैसे बनाये Media Me Career Kaise Banaye इत्यादि | अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी हो तो आप अपनी राय हमें कमेंट बॉक्स में बता सकते है और इस जानकारी को दुसरो के साथ भी शेयर करे ताकि उन्हें भी इस बारे में पता चल सके | अगर आपका इस करियर को लेकर किसी प्रकार का सवाल है तो आप कमेंट करके पूछ सकते है |

नीट क्या है ? Neet Kya Hai
 16 April 2021  

अगर आप एक विद्यार्थी है और मेडिकल क्षेत्र में करियर बनाना चाहते है तो आपने नीट के बारे में ज़रूर सुना होगा लेकिन अगर आप यह नहीं जानते है कि आखिर  ये नीट क्या होता है और हम इसकी की सहायता से किस प्रकार करियर अपना करियर बना सकते है ताकि आपको अपना करियर चुनने में किसी भी प्रकार की कोई परेशानी न हो आज  हम आपको इस लेख में नीट के बारे में संपूर्ण जानकरी देने वाले है कि नीट क्या है Neet Kya Hai, नीट एग्जाम क्या है Neet Exam Kya Hai और आप इसकी सहायता से किस प्रकार करियर बना सकते है |नीट क्या  है | Neet Exam Kya Haiअगर आप एक अच्छे डॉक्टर बनने का सपना देख रहे है और आप देश के मेडिकल  कॉलेजों मे दाख़िला लेना चाहते है तो आपको देश में मेडिकल की तरफ से राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित होने वाली  National Eligibility Entrance Test ( NEET ) की परीक्षा पास करना अनिवार्य है | वर्ष 2016 से पहले इस परीक्षा को ‘एआईपीएमटी’ (ऑल इंडिया प्री-मेडिकल टेस्ट) के नाम से जाना जाता था | इस एग्जाम को अगर हम हिंदी में कहे तो राष्ट्रीय पात्रता व प्रवेश परीक्षा कहते है उसके बाद आप अपनी रैंक के आधार पर मेडिकल क्षेत्र से जुड़े विभिन्न कोर्स में अपनी इच्छानुसार दाख़िला ले सकते है जैसे कि एमबीबीएस MBBS, बीयूएमस BUMS , बीएचएमस BHMS , बीफार्मा B. Pharma , बीएमएलटी BMLT , बायो टेक्नोलॉजी, बीडीएस, बीएएमस, बीओटी,आयुर्वेद,  बीपीटी इत्यादि |नीट एग्जाम का प्रारूप नीट की परीक्षा ऑफ-लाइन आयोजित  की जाती है जिसमे दो सेक्शन होते है पहला फ़िज़िक्स और केमिस्ट्री , दूसरा  बॉयोलॉजी | लेकिन यंहा पर बॉयोलॉजी को भी दो सब सेक्शन में बाँटा गया है पहला जूलॉजी दूसरा बॉटनी | इसे भी जरूर पढे :- प्रोफेशनल फोटोग्राफर कैसे बने |पहला सेक्शन  –  बॉयोलॉजी सेक्शन में कुल 90 प्रश्न पूछे जाएँगे जिसमे 45 प्रश्न बॉटनी और 45 प्रश्न जूलॉजी से पूछे जाएँगे | दूसरा सेक्शन – फ़िज़िक्स और केमिस्ट्री के सेक्शन में क्रमश 45 – 45  प्रश्न पूछे जाते है | नीट परीक्षा को हल करने के लिए विधार्थियो को कुल तीन घंटे का समय दिया जाता है देश में अलग अलग भाषाएँ होने की  वजह से नीट एग्जाम  भी अलग अलग भाषाओं में  आयोजित किया जाता है | जैसे कि  अंग्रेजी, मराठी, उड़िया, तमिल, तेलुगू , बांग्ला , गुजरती, कन्नड़, असमी, उर्दू इत्यादि इस परीक्षा में निगेटिव मार्किंग का  विकल्प भी मौजूद है  जिसमे प्रत्येक गलत उत्तर के लिए आपके पॉजिटिव अंकों में से एक अंक काट लिया जाता है इसलिए बेहतर होगा केवल उन प्रशनो को ही हल करने की कोशिश करे जिनके उत्तर आप जानते हो | इसे भी पढे :- ऑनलाइन मीडिया में करियर कैसे बनायेनीट एग्जाम का सेलेबस फ़िज़िक्स पाठ्यक्रमग्यारहवीं फिजिकल वर्ल्ड एंड मेजरमेंट , कायनेमेटिक्स , लॉ ऑफ़ मोशन , वर्क , एनर्जी एंड पॉवर , मोशन ऑफ़ सिस्टम्स ऑफ़ पोलटिकल्स एंड रिजिड बॉडी , ग्रेविटेशन , प्रॉपर्टीज ऑफ़ बल्क मैटर , थर्मोडीनमिक्स इसे भी पढे :- माइक्रो बायोलॉजी मे करिअर कैसे बनाए |बारहवीं इलेक्ट्रोस्टैटिक्स , इलेक्ट्रिसिटी ,  करंट एंड मैग्नेटिजम , इलेक्ट्रोमेग्नेटिक इंडक्शन एंड अल्टरनेटिंग कर्रेंटस इलेक्ट्रोमग्नेटिक वेव्स ऑप्टिक्स इत्यादि बॉयोलॉजी पाठ्यक्रमग्यारहवीं डायवर्सिटी इन लिविंग वर्ल्ड , स्ट्रक्चर ऑर्गेनाइजेशन इन एनिमल्स  एंड प्लांट्स , सेल स्ट्रकचर एंड फंक्शन , प्लाट एंड ह्यूमन फियोलॉजी बारहवीं रिप्रोडक्शन जेनेटिक्स , बॉयोलॉजी एंड ह्यूमन वेलफेयर , बायो टेक्नोलॉजी  , इकोलॉजी एंड एनवायरमेंट इसे भी पढे :- खाना बनाने का शौक है तो बने शेफकेमिस्ट्री पाठ्यक्रमग्यारहवीं केमिस्ट्री के बेसिक कॉन्सेप्ट्स , एटम स्ट्रक्चर , क्लासिफिकेशन ऑफ़ एलिमेंट्स , केमिकल बॉडिंग एंड मोलेक्यूलर स्ट्रक्चर  मेटर स्टेट , गैस व् द्रव थर्मोडायनामिक्स , इक्विलिब्रियम , रेडॉक्स रिएक्शन , हाइड्रोजन , एस ब्लॉक और पी ब्लॉक एलिमेंट्स बारहवीं सॉलिड स्टेट , सोल्यूशन इलेक्ट्रोकेमिस्ट्री केमिकल काइनेटिक्स , सरफेस केमिस्ट्री , जनरल प्रिंसिपल्स एंड प्रोसेस ऑफ़ आइसोलेशन ऑफ़ एलिमेंट्स , कोऑर्डिनेशन कम्पाउंड् हेलोएरीन  नीट एग्जाम का स्कोरिंग इसे भी पढे :- इन्वेस्ट बैंकिंग मे करियर कैसे बनाए |नीट एग्जाम  कुल 720 अंकों का होता है  जिसमे आपसे 180 सवाल पूछे जाते है जिसमे फ़िज़िक्स और केमिस्ट्री से  कुल 45 – 45 सवाल पूछे जाते है और बॉयोलॉजी से कुल 90 सवाल पूछे जाते  है  | इन  सवालों को हल करने के लिए आपको केवल तीन घंटे का समय दिया जाता है | इस परीक्षा  में भाग लेने के लिए विधार्थी की  न्यूनतम आयु 17 वर्ष और अधिकतम आयु 25 वर्ष के मध्य होनी चाहिए तभी आप इस परीक्षा में  भाग ले सकते है नीट एग्जाम की तैयारी  कैसे करे नीट  एग्जाम को पास करने के लिए बेहतर होगा कि आप सभी विषयों को बराबर अहमियत दे  | हार्ड टॉपिक की सबसे पहले अच्छे से तैयारी कर ले उसके बाद आसान सवालों को हल करे सभी विषयों की बराबर तैयारी करने के लिए एक टाइम टेबल बना ले और उसको फॉलो करने की कोशिश करे और इससे बेहतर होगा कि रोजाना खुद को सभी विषयों पर आधारित टास्क दे और उन्हें पूरा करे |देश विदेश के आर्थिक मुद्दों मे है ,रुचि तो अर्थशास्त्र मे करिअर बनाए |तैयारी करने के साथ साथ थोड़ा समय निकालकर कुछ खेल खेले और मस्ती करे ताकि आप स्वयं को तरोताजा महसूस कर सके इससे आपके ऊपर पढ़ाई का प्रेशर नहीं बनेगा अगर आप प्रेशर लेकर पढाई करते है तो आप मानसिक रूप से स्वस्थ नहीं रह पाओगे |फ़िज़िक्स और केमिस्ट्री में न्यूमेरिकल सवालों  को हल करने का अच्छा अभ्यास करे  और उनसे जुड़े सभी फॉर्मूलों को याद कर ले ताकि आपको न्यूमेरिकल सवाल हल करने के ज्यादा परेशानी न हो आप चाहे तो फॉर्मूलों का अलग से नोट्स बनाकर भी तैयारी कर सकते है ताकि  आपकी स्कोरिंग अच्छी हो सके यही नहीं आप सेमी कंडक्टर , कम्युनिकेशन सिस्टम , नेचर ऑफ़ मेटर , इलेक्ट्रिसिटी , इत्यादि विषयों पर अच्छी पकड़ बनाये |तैयारी करने के लिए आप एनसीआरटी की  ग्यारह वीं और बारहवीं  की पुस्तकों का इस्तेमाल कर सकते है जिनसे सबसे ज्यादा परीक्षा में सवाल पूछे जाते है | शुरुआत आप अपने बेसिक टॉपिक मजबूत करे तभी आपको आगे के विषय अच्छे से समझ में आयेंगे |इसे पढे :- मनी लेंडिंग मोबाइल ऐप्स लोन से कतई लोन न लें |अगर आपको  ये लग रहा है कि अब मेरी तैयारी पूरी हो चुकी है तो अब आप मार्किट से नीट के लगभग 5 से 10 वर्ष पुराने अनसॉल्वड एग्जाम पेपर खरीद ले और उन्हें हल करे इससे आपको प्रश्नो का स्तर और पैटर्न समझने में आसानी होगी ऐसी करके आप उन टॉपिक के बारे में जान सकते है जिनसे ज्यादातर सवाल पूछे जाते है  |आप इन पेपर को सॉल्व करके आप अपनी टाइमिंग और एक्यूरेसी और सुधर सकते है इससे आपके प्रश्नो को सॉल्व करने की स्पीड भी बढ़ेगी और आपको अपने कमजोर टॉपिक्स की भी जानकारी हो जाएगी | इसलिए आप इन पेपरों को  नीट  के मैंन एग्जाम से पहले  ही हल करके अपना अच्छा अभ्यास कर ले ताकि आपको मैन एग्जाम के समय किसी प्रकार की कोई कठिनाई न हो |इसे भी पढे :- डिजिटल मीडिया मे करिअर कैसे बनाए ?दोस्तों इस लेख में हमने आपको मेडिकल के क्षेत्र में दाख़िला लेने वाले  के लिए  होने वाली प्रवेश परीक्षा नीट  के बारे में संपूर्ण जानकारी दी है कि कि किस प्रकार से आप नीट एग्जाम में हिस्सा ले सकते है इस लेख में हमने आपको बताया है कि नीट क्या है Neet Kya Hai या नीट एग्जाम क्या है Neet Exam Kya Hai इसके अलावा हमने आपको इस लेख में यह भी बताया है कि नीट की तैयारी कैसे करे ताकि |आपको परीक्षा में हिस्सा लेने के लिए किसी भी प्रकार की परेशानी न हो अगर आपको यह जानकारी पसंद आयी हो तो आप अपनी राय हमे कमेंट बॉक्स में भी बता सकते है अगर नीट एग्जाम को लेकर आपके मन मी किसी प्रकार का सवाल है तो आप हमसे कमेंट करके या ईमेल के द्वारा पूछ सकते है और इस जानकरी को दुसरो के साथ भी शेयर करे ताकि उन्हें भी इस महत्वपूर्ण एग्जाम के बारे में पता चल सके | धन्यवाद 

यू एंड मी...द अल्टिमेट ड्रीम ऑफ लव’ लेखक द्वय: मल्लिका मुखर्जी, अश्विन मॅकवान रूहानी प्रेम
 12 April 2021  
Art

कोई कॉलेज के पहले बरस में किसी को नज़र भर देखकर उसके प्रेम में पड़ जाए,पर कभी कह न सके ...आप कहेंगे इसमें नया क्या है,ऐसा तो होता ही रहता है। जीवन में ऐसे कई लम्हे आते-जाते रहते हैं। कभी हम उन्हें जी लेते हैं तो कभी वे हाथ से निकल जाते हैं । फिर हम चाहे जितना दुःख मना लें...पर जीवन नहीं रुकता...गुजरता वक्त बीते चित्रों को धुँधला भी कर देता है और घावों पर मलहम लगाकर उन्हें सहला भी देता है....लेकिन अगर कोई उस प्रेम को 41 बरस सीने में छिपाकर रखे, कॉलेज की मेगजीन पर छपी एक श्वेत-श्याम तस्वीर को सहेज कर, उसे ही अपना संबल बना ले...सारे दुन्यवी फर्जों और जिम्मेदारियों को ईमानदारी और प्रेम से निभाए....और जब सोशल मीडिया मुहैया करा दे बिछड़ों को ढूंढने के अवसर, तो बार-बार उस एक नाम को टाइप करके सर्च भी कर ले....और बिना किसी जवाब की उम्मीद के उसे मेसेज भी कर दे, बस इसलिए कि 41 बरस तक सँभाले गए इस सच को अब  बोले बिना चैन से मरा नहीं जाएगा....तो आप सब यही कहेंगे न कि ऐसा तो बस फिल्मों में होता है। मैं भी यही कहती अगर ये मल्लिका जी की आपबीती न होती। एक सांवली सी लड़की, जिसने अपने चारों तरफ बचपन से ही धर्म और जाति के बंधन देखे।जिसे कॉलेज में पढ़ने के एवज में माँ-बाप के विश्वास को बनाए रखना है, वह कैसे किसी गोरे-चिट्टे, हैंडसम विधर्मी लड़के जिसका नाम अश्विन है, को अपने मन की बात बता सकती है!41 बरस के बाद मल्लिका मेसेंजर में एक मैसेज छोड़ती है उस लड़के के लिए, जो अब लॉसएंजेलिसमें रहता है....धीरे-धीरे लड़के को भी याद आती है मल्लिका...और शुरू होती है चैट....जिसमें अतीत के किस्से हैं, चुहल है, छेड़खानी है....अश्विन का संघर्ष भरा जीवन है,  भारतीयों के अमेरिका मोह का दुःखद सच है, और इतने बरस बाद वर्तमान में एक दूसरे से बात कर पाने का सन्तोष है। इस पूरी बातचीत को एक किताब की शक्ल देने का वायदा भी ताकि बच्चों की परवरिश में होने वाली गलतियाँ समाज तक पहुँच सके। बिना किसी व्यवस्थित शिक्षा और डिग्री के विदेश का जीवन कितने संघर्षो से भरा है, यह बताया जा सके; लेकिन क्या यह निर्णय लेते वक्त अश्विन और मल्लिका को यह रूहानी प्रेम, दुनिया और परिवार के सामने आ जाएगा, यह डर न सताया होगा? मैं सोचती हूँ कि कोई और लड़की होती तो क्या वो भी मल्लिका की तरह साहस करती? शायद नहीं, लेकिन यह तो मल्लिका है, जो अपनी हर कमजोरी को पछाड़ते हुए आगे बढ़ी है।जिसने सच का साथ कभी न छोड़ा और जो जीवन भट्टी में तप कर सोना हुई। यहाँ एक पुरुष हर पल खड़ा है मल्लिका के साथ।उसके पति पार्थो, जो उसके जीवन के हर सच से परिचित हैं और उसे मजबूती से थामे हुए हैं, लेकिन अश्विन को चाहने वाला सच तो पार्थो को भी नहीं पता, क्योंकि जो बात कभी शुरू ही न हुई हो, उसे क्या बताना! अगर पता हो तो भी उसे अतीत मानकरस्वीकारने वाले और सहजता से लेने वाले पुरुष मिल जाएंगे, मगर 41 साल बाद फिर से उस पात्र का जीवन में आना, उससे बात करना और अपने सच को किताब की शक्ल देना यह कौन पुरुष स्वीकार कर पाएगा? मगर पार्थो न सिर्फ इस सच को सुनते हैं बल्कि कई बार मल्लिका, अश्विन से बात कर सके इसलिए उसके हिस्से के कुछ काम भी निपटा देते हैं। और अगर इस तरह देखूं तोपार्थो के प्रति मैं असीम श्रद्धा से भर उठती हूँ।अश्विन के लिए यह निर्णय शायद कुछ सरल रहा होगा, क्योंकि एक तो वो भारत बीते तीस बरसों से आए ही नहीं है, अतः कौन क्या कहेगा यह मुश्किल कुछ कम रही होगी, दूसरा अपनी बीमारी के कारण भी वे अपने शेष जीवन को लेकर शंकित होंगे और यह निर्णय ले सके होंगे। मैंने इस उपन्यास को किसी विधा की कसौटी पर नहीं तौला, क्योंकि यह संभव ही नहीं था मेरे लिए। मैं तो बस इतना जानती हूँ कि इस उपन्यास को मैंने तब पढ़ा जब मैं खुद अपनी स्प्रिंग एलर्जी के कारण बेहद कठिन दिनों में थी। यहां एक बाद स्पष्ट करना चाहूंगी कि यह एलर्जी इतनी सीवियर होती है कि एक महीने तकमेरी आँखें और नाक बर्बाद हो जाते हैं।मुझे किसी से बात करना, कुछ लिखना-पढ़ना अच्छा नहीं लगता। इन दिनों में, अगर मैं किसी से बात करती हूँ तो निश्चित ही वे लोग मेरे जीवन में मायने रखते हैं। ऐसे दिनों में इस उपन्यास ने खुद को मुझसे पढ़वा लिया। इस उपन्यास के दूसरे मुख्य पात्र अश्विन अब इस दुनिया में नही हैं, लेकिन आपने उन्हें हमेशा के लिए अमर कर दिया, मल्लिका जी। आपने दोस्ती और प्रेम को अमर कर दिया।आपको ढेर सारा प्यार। अहमदाबाद अब जब मिलेंगे, तब आपके गले लगकर एक बार इस मल्लिका को मिलूँगी।अब तक अहमदाबाद आने पर आपसे मिलती थी, अब एक बार पार्थो जी से भी मिलना चाहूँगी, और पूछूँगी ईश्वर से कि ऐसे पुरुष अब क्यों नहीं बनाते प्रभु...?- डॉ. मालिनीगौतम,एसोसिएट प्रोफ़ेसर, संतरामपुर   गुजरात 

योगा में करियर कैसे बनाये ? Yoga Me Career Kaise Banaye
 12 April 2021  

अगर आप योग के क्षेत्र में करियर बनाने की सोच रहे है और आपको इसके बारे में सही जानकरी नहीं है तो यह लेख आपके लिए महत्वपूर्ण है क्योकि आज हम आपको इस लेख में योग से संबंधित करियर विकल्प के बारे में बताने वाले है कि योगा में करियर कैसे बनाये YOGA ME CAREER KAISE BANAYEया फिर योग गुरु कैसे बने Yoga Guru Kaise Baneतेजी से बदलते हुए खान पान के स्वरूप और दूषित पर्यावरण के कारण हम अनेको बीमारियों से चारों तरफ से घिरे हुए है | जिसके कारण हमारी कमाई का एक बड़ा हिस्सा डॉक्टरों और दवाइयों पर खर्च हो रहा है | एक औसतन अनुमान के मुताबिक दुनिया के 40 फीसदी लोग किसी न किसी बीमारी से घिरे हुए है | इन बीमारियों में से ज्यादातर बीमारियों का इलाज नियमित योगाभ्यास और एक्स-साइज से किया जा सकता है देश में बढ़ती हुई बीमारियों देखते हुए स्वास्थ्य संगठन और सरकार की तरफ से लोगो को बीमारियों से बचाने के लिए योग का प्रचार प्रसार बड़े स्तर पर किया जा रहा है ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग योग के प्रति आकर्षित होकर स्वयं को बीमारियों से महफूज कर सके |योग के प्रति लोगो की बढ़ती हुई जागरूकता के कारण देश में योग प्रशिक्षकों की काफी कमी है जिसकी वजह से योग के क्षेत्र में एक बेहतरीन करियर उपलब्ध है | वर्तमान समय में मनुष्य का जीवन चारों और से समस्याओं और तनावों से घिरा हुआ है जिसके कारण मनुष्य  अशांति , दबाव ,चिड़चिड़ापन , हृदय रोग , सुगर , ब्लड प्रेशर , इत्यादि जैसे बीमारियों में भी दिन प्रतिदिन फसता चला जा रहा है | मनुष्य का खान पान , भागदौड़ भरी जिंदगी में इतनी असयंमित है कि वह हमारे तन मन दोनों को प्रभावित कर रहा है इसे भी पढे : – जियोलॉजी में करियर कैसे बनाये |इन सभी समस्याओं को दूर करने के लिए योग ही एक ऐसा विकल्प है  जो इन्हे दूर कर सकता है जो बहुत ही सस्ता और आसान भी है | योग न केवल शरीर पर अपना प्रभाव छोड़ता है बल्कि आपके तन और मन दोनों को मजबूत बनाता है भारत सरकार के प्रयासों से योग भारत ही नहीं दुनिया में भी प्रचलित हो रहा है जिसके कारण प्रत्येक वर्ष 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योगा दिवस मनाया जाता है योग क्षेत्र में जॉब के विकल्प योग प्रशिक्षक बनने के बाद आप रिसर्च सेक्टर में अपनी जगह बना सकते हैं, | देश के नामी संस्थान से रिसर्च के बाद आप विदेश में भी नौकरी कर सकते हैं। देश के नामी हेल्थ रिसर्च  और फाइल स्टार होटल चेन में भी योग इंस्ट्रक्टर की जॉब निकलती है।बड़े प्राइवेट और सरकारी अस्पतालों में भी योग प्रशिक्षकों को जॉब मिलती है। यहां मरीज़ों को बीमारी के साथ-साथ मानसिक स्वास्थ्य सुधारने  योग  भी  काफी मददगार साबित रहता है |इसे भी पढे :- कॉर्पोरेट लॉयर कैसे बने |योग में विशेषज्ञता हासिल करने के बाद आप जिम, स्कूल और हाउसिंग सोसाइटीज में भी जॉब पाने के लिए अप्प्लाई कर सकते है | योग प्रशिक्षक बनने के बाद आप हाउसिंग सोसायटी में  खुद का भी बिज़नेस  शुरू कर सकते हैं।देश के बड़े  कार्पोरेट घराने और टेलीविजन चैनल भी योग प्रशिक्षकों को जॉब के लिए हायर करते हैं। इन‍ दिनों देश विदेश की जाने-मानी हस्तियां भी प्राइवेट योग इंस्ट्रक्टर हायर करती हैं।योग विशेषज्ञता हासिल करने के बाद  योग एयरोबिक्स इंस्ट्रक्टर, योग थेरेपिस्ट, योग इंस्ट्रक्टर, योग टीचर, थेरेपिस्ट एंड नैचूरोपैथ्स, रिसर्च ऑफिसर के तौर पर कार्य कर सकते है | भविष्य में जॉब के अवसर समाज में बढ़ती हुई महँगाई और आर्थिक कमी के कारण  लोगो में मानसिक  तनाव और दबाव जैसी समस्याओं में वृद्धि हो रही है यही नहीं लोगो में असंतुलित व् अनियमित दिनचर्या के कारण लोगो की शारीरिक क्षमताओं भी कम होती जा रही है  जिसके  कारण लोगो के अस्वस्थ होने की सम्भावना ये ज्यादा रहती है |इसे भी पढे : –सेल्स मार्केटिंग में करियर कैसे बनाये |इस तरह की समस्याओं से बचने के लिए योग को बढ़ावा दिया जा रहा है ताकि लोग स्वयं को शारीरिक और मानसिक दोनों तरह से मजबूत बना सके लेकिन देश में योग शिक्षकों की काफी कामी है जिसके कारण इस क्षेत्र में करियर के अच्छे अवसर खुले हुए है जिसका फायदा आप ले सकते है | कुछ आंकड़ों के मुताबिक देश में लगभग  तीन लाख योग प्रशिक्षकों की कमी है | भारत दक्षिण पूर्व एशिया और चीन में सबसे ज्यादा योग प्रशिक्षकों को भेजने वाला देश है  |योग सीखने के लिए दूसरी स्किल अगर आप योग गुरु बनना चाहते है तो जरूरी है कि आप अच्छे स्पीकर भी बने क्योंकि दूसरे लोगो को योग सिखाते समय आपको एक व्यक्ति से लेकर हजारों लोगो के ग्रुप को एक  साथ प्रशिक्षण देना पड़ता है | ऐसे में आपको अपनी बात सभी लोगो तक पहुंचाने की क्षमता होनी चाहिए  |इसे भी पढे : – इवेंट मैनेजमेंट में करियर कैसे बनाये |योग गुरु बनने से पहले आपको योग के बारे में गहराई से ज्ञान  होना चाहिए ये याद रहे कि एक भी गलत आसन और कसरत किसी भी नई बीमारी को जन्म दे सकता है |योग के 5 फायदे | 5 Benefits of Yogaयोगा  करने से मांसपेशियों का अच्छा व्यायाम होता है, लेकिन चिकित्सा शोधों ने ये साबित कर दिया है कि  योग शारीरिक और मानसिक रूप से वरदान है योग से दोनों तरह से फायदा है इंटरनल भी एक्सटर्नल भी योग से तनाव भी दूर होता है और अच्छी नींद भी आती है, भूख अच्छी लगती है, यही  नहीं  योग करने से भोजन की पाचन क्रिया भी सही रहती  है.|इसे भी पढे :- विदेशी भाषा मे करिअर कैसे बनाए ?अगर आप जिम जाते हैं, तो यह केवल आपके शरीर को तंदुरुस्त रखेगा, लेकिन मन को नहीं ! . वहीं अगर आप योगा करते हो तो यह आपके तन के साथ ही आपके मन और मश्तिष्‍क दोनों को भी स्वस्थ रखेगा | योग को अपने डेली रूटीन में शामिल करने से आप बहुत से  रोगों से भी मुक्ति पा सकते हैं. योग करने से रोगों से लड़ने की शक्ति बढ़ती है. योग से शरीर स्वस्थ और निरोग बनता है.इसलिए हो सके तो सुबह उठने के बाद काम से कम 15 से 20 मिनट योगा करना चाहिए | ताकि आप भी बहुत से रोगो से बच सके नहीं तो रोज़ाना नई नई बीमारियाँ जन्म ले रही है |योगा मांस पेशियों को हस्ट पुष्ट करता है और शरीर को मजबूत  बनाता है, इसके अलावा योग से शरीर का फैट भी कम किया जा सकता है.|इसे भी जरूर पढे :- कपल चैलेंज के अनलाइन फ्रॉड का तरीका है |योगा करने  से आप अपने ब्लड शुगर लेवल को भी कंट्रोल में कर सकते  है और बढ़े हुए ब्लड शुगर लेवल को घटता भी सकते  है. डायबिटीज़ रोगियों के लिए योग बेहद फ़ायदेमंद है. योग LDL या बैड कोलेस्ट्रोल को भी कम करता है.योग में करियर कैसे बनाये ?अगर आपको योग क्षेत्र  में अपना करियर बनाना चाहते है तो इसके लिए आपको एक विशेष प्रशिक्षण या प्रमाण पत्र की जरूरत पड़ेगी।यही नहीं आपको  12 th की परीक्षा  किसी भी विषय कम से कम 50 % अंकों के साथ पास होना भी  जरूरी है  | तभी आप योगा के क्षेत्र में किसी सर्टिफ़िकेट,डिप्लोमा या डिग्री कोर्स में दाखिले के योग्य माने जाएंगे। और योग के क्षेत्र में मास्ट्स की डिग्री हासिल करने के लिए आपका स्नातक होना जरूरी है इसे भी पढे :- डाइटीशियन कैसे बने |योग के क्षेत्र में करियर बनाने के लिए आप 12वीं के बाद और ग्रेजुएशन के बाद शुरुआत कर सकते है |  योग में प्रशिक्षण प्राप्त करने के लिए कई डिग्री, डिप्लोमा और सर्टिफ़िकेट कोर्स उपलब्ध हैं.जिन्हे करने के बाद आप योग के क्षेत्र में करियर बना सकते हैयोग से संबंधित कुछ कोर्स बैचलर ऑफ आर्ट्स योग मास्टर इन आर्ट्स योग, पीजी डिप्लोमा इन योग थैरेपी बैचलर ऑफ नैचुरोपैथी एंड योगिक साइंसेस (बीएनवाईएस) कोर्सेज की अच्छी डिमांड हैइसे भी पढे :- ऑनलाइन मीडिया में करियर कैसे बनायेयोग क्षेत्र में नौकरी के प्रकार :योगा थेरेपिस्ट योगा अध्यापक योगा स्पेसलिस्ट योगा मैनेजर योगा कंसल्टेंट योगा एरोबिक इंस्ट्रक्टर योगा एडवाइजर योग रिसर्च ऑफिसर एंड नेच्युथेरेपि इसे भी जरूर पढे :- प्रोफेशनल फोटोग्राफर कैसे बने |योगा से संबंधित देश के कुछ प्रमुख संस्थान मोरारजी देसाई नैशनल इंस्टीच्यूट ऑफ योग, नई दिल्लीपरमार्थ निकेतन आश्रम, उत्तराखंडयोग ज्ञान, चंडीगढ रामामानी आयंगर मेमोरियल योग संस्थान, पुणेपतंजलि योगपीठ यूनिवर्सिटी, हरिद्वारसैलरीएक योगा ट्रेनर की सैलरी कुछ हद तक पर्वत-माला जैसी होती है। यह आपके  स्टूडियो के आकार और स्थान पर निर्भर करती  है। इस क्षेत्र में आपको शुरूआती सैलरी 5 से 20 हजार तक मिल सकती है  और जैसे-जैसे आपका अनुभव बढ़ता जाता  है उसी प्रकार आपकी सैलरी भी बढ़ती रहती है। कुछ वर्षों  का अनुभव प्राप्त करने के बाद आपकी सैलरी में असीमित इज़ाफा हो जाएगा। फिर आप खुद अपनी सेल-री डि-साइड कर सकते है ये आप पर निर्भर करेगा |इसे भी पढे :- केमिस्ट्री मे करिअर कैसे बनाए |दोस्तों इस लेख में हमने आपको योग से संबंधित करियर विकल्प के बारे में बताया है | कि आप  योगा में अपना करियर किस प्रकार बना सकते हो या योग में करियर कैसे बनाये YOGA ME CAREER KAISE BANAYE या फिर योग गुरु कैसे बने  Yoga Guru Kaise Bane अगर आपको ये लेख पसंद आया हो तो आप अपनी राय हमे कमेंट बॉक्स में भी बता सकते है और इस जानकारी को दुसरो के साथ भी शेयर करे ताकि उन्हें भी इसके बारे में पता चल सके | 

2020-21 में बेहतर प्रदर्शन करेंगी निफ्टी-50 कंपनियां, दोगुना बढ़ सकता है फायदा
 9 April 2021  
Art

मुंबई– निफ्टी-50 कंपनियां सालाना आधार पर बेहतर प्रदर्शन कर सकती हैं। इन कंपनियों का फायदा पिछले साल की इसी अवधि की तुलना में दोगुना बढ़ सकता है। ऐसा इसलिए क्योंकि उस समय इनको कोरोना के कारण बड़े पैमाने पर प्रोविजन और नुकसान उठाना पड़ा था। दरअसल किसी भी संभावित आंकलन के आधार पर कंपनियां एक प्रोविजन करती हैं कि आगे कितने का नुकसान या फायदा हो सकता है। पिछले साल कोरोना की वजह से कंपनियों को नुकसान के लिए ज्यादा प्रोविजन करना पड़ा था।  विभिन्न ब्रोकरेज हाउसों के अलग-अलग अनुमानों से पता चलता है कि इन कंपनियों के रेवेन्यू में 20% की बढ़त हो सकती है। जबकि शुद्ध फायदा पिछले साल की तुलना में दोगुना हो सकता है। तिमाही आधार की बात करें तो मार्च तिमाही में इनका रेवेन्यू 18% और फायदा 2% बढ़ सकता है। ब्रोकरेज हाउसों का अनुमान है कि कंपनियों की ग्रोथ में साइक्लिकल सेक्टर जिसमें मेटल और ऑटो हैं, उनका बेहतर योगदान हो सकता है।  हालांकि कंपनियों पर लागत और ईंधन के साथ कच्ची सामग्री की कीमतें बढ़ने का दबाव भी बना रहेगा। इससे कंपनियों के ऑपरेटिंग मार्जिन पर असर दिख सकता है। पिछले साल के लॉकडाउन के बाद से काफी कुछ रिकवर भी हुआ है। हालांकि इस साल फिर से एक बार लॉकडाउन की शुरुआत कुछ हिस्सों में होने से कंपनियों को पहली तिमाही में मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है।  ब्रोकरेज हाउसों की रिपोर्ट के मुताबिक, माल ढुलाई या ट्रांसपोर्टेशन की दरें पिछले कुछ महीनों में कुछ रूट्स पर दोगुना से भी ज्यादा बढ़ गई हैं। इससे ऑपरेटिंग लागत में बढ़त हो सकती है। ब्रोकरेज हाउसों का मानना है कि कोरोना का दूसरा चरण भले ही दिख रहा है, पर कंपनियों का प्रदर्शन अच्छा रहेगा। इनका मानना है कि वित्त वर्ष 2021-11 में अर्थव्यवस्था में रिकवरी चौंकाने वाली रहेगी। यह तब होगा, जब कोरोना का दूसरा चरण कुछ समय में नियंत्रण में होगा। निफ्टी-50 कंपनियों की बात करें तो इसकी प्रति शेयर की आय 2021-22 में 36% बढ़ सकती है। इसमें बैंकिंग, इंफोटेक, ऑटोमोबाइल और फाइनेंस का प्रमुख योगदान होगा।  विश्लेषकों के मुताबिक, ऑटोमोबाइल सेक्टर की बात करें तो इसकी मार्जिन पर दबाव दिख सकता है। क्योंकि कच्ची सामग्री की कीमतें बढ़ी हैं। बैंकिंग और फाइनेंस सेक्टर में उधारी की मांग दिखी है। खासकर ब्याज दरें कम होने से कुछ हिस्सों में होम लोन की अच्छी मांग रही है। इसके साथ ही रिटेल सेगमेंट में भी बैंकों ने अच्छा लोन दिया है।  सीमेंट सेक्टर की बात करें तो इसमें एक स्थिर मांग रही है। इंफ्रा और कम कीमत वाले घरों के प्रोजेक्ट की मांग रही है। इसमें बड़ी कंपनियां जैसे एसीसी, अल्ट्राटेक सीमेंट, अंबूजा जैसों के वोल्यूम ग्रोथ में 10-12% की बढ़त दिख सकती है। एफएमसीजी सेक्टर में गांवों से अच्छी मांग रही है। कच्ची सामग्रियों की ज्यादा कीमतों से हालांकि इन पर असर दिखा है। इस सेक्टर में टाटा कंज्यूमर प्रोडक्ट, एशियन पेंट्स, ब्रिटानिया और नेस्ले जैसी कंपनियों को अच्छा फायदा हो सकता है।  ऑयल एवं गैस सेक्टर में मजबूत रिफाइनरी युटिलाइजेशन का फायदा मिलेगा। पिछले साल इनकी मांग घट गई थी। पर इस साल इसकी मांग फिर से कोरोना के पहले के लेवल पर आ गई हैं। इसका फायदा रिलायंस इंडस्ट्रीज, भारत पेट्रोलियम और हिंदुस्तान पेट्रोलियम को मिल सकता है। फार्मा एक ऐसा सेक्टर है जिसको कोरोना का ज्यादा फायदा हो सकता है। इसमें सिप्ला, ग्लेन मार्क जैसी कंपनियों को फायदा होगा। सन फार्मा और डॉ. रेड्डी भी इस सेक्टर में अच्छा प्रदर्शन कर सकती हैं।Source Link- https://www.arthlabh.com/2021/04/09/nse-nifty-50-companies-will-perform-better-in-2020-21/

कॉरपोरेट लॉयर कैसे बने ? Corporate Lawyer Kaise Bane
 8 April 2021  

पिछले कुछ वर्षो से कानून के क्षेत्र में युवाओ की दिलचस्पी काफी बढ़ी है क्योकि इस क्षेत्र आप अच्छी इनकम कमाने के साथ साथ अपनी एक अलग पहचान भी बना सकते है और इस क्षेत्र में युवाओ के लिए अच्छे करियर विकल्प भी मौजूद है | इसलिए आज हम आपको इस लेख में  कानून  से जुड़े एक ऐसे  करियर विकल्प के बारे में बताने वाले है  जिसकी आज के समय में काफी डिमांड है इस लेख में अहम आपको बताने वाले है | कॉरपोरेट लॉयर के बारे में कि कॉरपोरेट लॉयर कैसे बने ? Corporate Lawyer Kaise Bane  कॉरपोरेट लॉयर क्या है ? Corporate Lawyer Kya Hai वकील कैसे बने ? Vakil Kaise bane इत्यादि अगर आप भी इस क्षेत्र के बारे मे  संपूर्ण जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो इस लेख को अंत तक जरूरी पढ़े जो आपको करियर का चुनाव करने में काफी मदद करेगा |वर्तमान समय में  क़ानून के जानने वालो की काफी मांग बढ़ गयी है | इस प्रोफेशन में आप कमाई के आलावा समाज में अपना एक रुतबा भी बना सकते है | यही कारण है कि आज बड़े स्तर पर युवा कानून की पढ़ाई करने में लगे हुए है | बदलते समाजिक और आर्थिक परिदृश्य और नियामक की बढ़ती भूमिका के कारण कानून विशेषज्ञों के लिए क्षेत्र में विशेष में काम करने के नए विकल्प भी विकसित हुए है | इनमे से एक विकल्प कॉरपोरेट लॉयर का भी है |बदलते समय के कारण वर्तमान समय में सभी बड़ी कंपनियां स्वयं की कॉपोरेट लॉयर नियुक्त करके रखती है | लेकिन यह क्षेत्र चुनौतियों से भरा हुआ है | अगर आप इस क्षेत्र में अपना करियर बनाने की सोच रहे है तो आपको भरपूर मेहनत करनी होगी | इसमें आपको कई वर्षो तक अध्ययन और अनुभव प्राप्त करना होगा  लेकिन एक बार अच्छे से मेहनत करने के बाद आप इस क्षेत्र में  अपनी एक अलग पहचान बना सकते है |कॉरपोरेट लॉयर क्या है ? What is Corporate Lawyerकॉरपोरेट लॉयर विशेषज्ञ कारोबारियों , कंपनियों और औद्योगिक फर्म के कानूनी सलाहकार के रूप में कार्य करते है | कॉरपोरेट लॉयर अपने क्लाइंट्स को कानूनी तरीको से कारोबार करने की सलाह देते रहते है कि उन्हें कानून के दायरे में रहकर किस प्रकार कार्य करना है ताकि उनके कारोबार पर सरकार की तरफ से कोई कानूनी कार्रवाई न की जाये |इसे भी पढे :- डिजिटल मीडिया मे करिअर कैसे बनाए ?कॉर्पोरेट लॉयर नई फर्म के कागजात बनवाने से लेकर कॉरपोरेट रीऑर्गेनाइजेशन करवाने तक सभी की अच्छी तरीके से देखभाल करता है ताकि कम्पनी या फर्म को किसी भी प्रकार का नुकसान न उठाना पड़े |इसे भी पढे :- स्टेज एंकर कैसे बने |अगर कम्पनी या फर्म के ऊपर किसी भी प्रकार का कोई केस हो जाता है तो कॉरपोरेट लॉयर अदालत में केस फाइल करने से लेकर कम्पनी  प्रतिनिधित्व करने और कंपनी के खिलाफ कोर्ट में दर्ज मामले में कंपनी का बचाव करने ये सभी कॉरपोरेट लॉयर के होते है | कम्पनी या फर्म से जुड़े विशेष मामलो जैसे कि विलय और अधिग्रहण आदि में कानूनी मुद्दों का संभालने का कान भी कॉर्पोरेट लॉयर के द्वारा ही किया जाता है |योग्यता Qualificationअगर आप कॉरपोरेट लॉयर बनने की सोच रहे है तो आपको सबसे पहले अपनी स्कूल शिक्षा पूरी करनी होगी ऐसे में अगर आप अपनी बारहवीं की शिक्षा कॉमर्स विषय से पूरा करते हो तो कॉपोरेट लॉयर की पढ़ाई करने के लिए आपको काफी सुविधा मिल जाती है लेकिन अगर आप बीकॉम करने के बाद भी इस क्षेत्र में अपना कदम बढ़ाते हो तो कॉर्पोरेट लॉयर की पढ़ाई करना आपके लिए और भी आसान हो जाता है |कोर्स Courseकॉरपोरेट लॉयर बनने के लिए विद्यार्थी  बारहवीं के बाद बीए एलएलबी कोर्स में दाखिला ले सकते है इस कोर्स की अवधि पांच वर्ष की होती है |लेकिन अगर आप ग्रेजुएशन करने के बाद एलएलबी कोर्स में दाखिला लेते है तो फिर इस कोर्स की अवधि तीन वर्ष की हो जाती है |इसे भी पढे :- सेल्स मार्केटिंग में करियर कैसे बनायेएलएलबी पूरी करने के बाद आप इस क्षेत्र में  मास्टर्स कोर्स भी कर सकते है , एलएलबी करने के बाद आप दो वर्ष का एलएलएम इन कॉरपोरेट लॉ , पीजी डिप्लोमा इन कॉरपोरेट लॉ , या फिर पीजी डिप्लोमा इन बिजनेस एंड कॉरपोरेट लॉ कर सकते है |दाखिला प्रक्रिया Admission Processवैसे तो कानून की पढाई करने के लिए देश में प्राइवेट संस्थानों की कमी नहीं है लेकिन अगर आप कम पैसों में अच्छे कॉलेज से पढाई करना चाहते है तो आपको देश में बारहवीं स्तर पर  आयोजित होने वाली कॉमन लॉ एडमिशन टेस्ट क्लैट , ऑल इंडिया लॉ एंट्रेंस टेस्ट एआईएलटी , लॉ स्कूल एडमिशन टेस्ट एल एस टी इत्यादि परीक्षाओं में से किसी एक परीक्षा में अच्छे अंको से पास होना अनिवार्य है इसके अलावा अगर आप ग्रेजुएशन स्तर पर एलएलबी प्रोग्राम  में दाखिला लेना चाहते है तो आपको डीयू एलएलबी , बीएचयू एलएलबी इत्यादि परीक्षा में से कोई एक परीक्षा पास करनी होगी तभी आप कॉरपोरेट लॉयर के क्षेत्र में आगे जा सकते है |कॉरपोरेट लॉयर की दूसरी कुशलताएँ  अगर आप अपने इस  क्षेत्र का चुनाव करते हो  तो आपके लिए आगे की तरक्की के रास्ते खुल जाएंगे | इस क्षेत्र संबंधी किसी भी कोर्स को करने के बाद आप किसी कॉरपोरेट लॉयर के साथ कानून की प्रैक्टिस कर सकते है |इसे भी जरूर पढे :- फाइनेंसियल एडवाइजर कैसे बने |इस क्षेत्र में लगातार स्वयं को अपडेट रखना बेहद जरूरी है क्योकि समय के साथ कानून में संशोधन होते रहते है इसलिए आपको अपने अंदर  पढ़ने और अपडेट रखने की आदत विकसित करनी चाहिए | इसके अलावा आपको अपने अंदर कानून के प्रति रूचि और समझने की स्किल , मजबूत विश्लेषणात्मककौशल , कम्युनिकेशन स्किल , बिजनेस स्किल डेवलप करना बेहद जरूरी है जो आपके काम करने के तरीके को और भी मजबूत बनाता है |कॉरपोरेट लॉयर के लिए करियर की सम्भावनाये  अगर आपने अपने कॉरपोरेट लॉयर संबंधी अपनी शिक्षा पूरी कर ली है और आपके पास कानूनी , आर्थिक और वित्तीय मामलों संबंधी अच्छी जानकारी है इसके अलावा आपकी मौखिक और लिखित स्किल  तो आपके पास  आगे बढ़ने के बहुत से विकल्प मौजूद है | लॉ फर्म  ज्यादातर कॉरपोरेट लॉयर कानून फर्मों में कार्य करते है यहां पर उनका काम विलय , अधिग्रहण संयुक्त उपक्रम और श्रम या कॉरपोरेट कानून संबंधी मामलों पर कानूनी सलाह देना और समझौते तैयार करवाना होता हैइसे पढे :- मनी लेंडिंग मोबाइल ऐप्स लोन से कतई लोन न लें |बैंक एवं बीमा कंपनियांवर्तमान समय में निजी बैंकों एवं सार्वजनिक क्षेत्रों के बैंकों और बीमा कंपनियों को कॉरपोरेट लॉयर की आवश्यकता होती है | बैंकों में कॉरपोरेट लॉयर बनने के लिए आपको बैंक द्वारा निर्धारित चयन प्रक्रिया के बाद ही नियुक्त किया जाता है | इसके अलावा बीमा कम्पनियाँ भी अपने कानूनी मामलों को निपटाने के लिए कॉरपोरेट लॉयर की सलाह लेती हैसार्वजनिक क्षेत्रअच्छे कॉरपोरेट लॉयर की सार्वजनिक क्षेत्रों में भी काफी मांग है जिसमे आपको नियुक्ति के लिए लिखित परीक्षा , ग्रुप डिस्कशन , साक्षात्कार क्वालीफाई करने के बाद ही नियुक्त किया जाता है |इसे भी पढे :- रिटेल मैनेजमेंट में करियर कैसे बनाये |निजी क्षेत्र / प्राइवेट क्षेत्रआज के समय को ध्यान में रखते हुए देश की सभी बड़ी कंपनियों के पास खुद की एक कॉरपोरेट टीम होती है जो कंपनियों को कानूनी तौर पर कार्य की सलाह देती रहती है ताकि उन पर सरकार की तरफ से कोई करवाई हो सके हमारे देश में हिंदुस्तान यूनिलीवर , आईटीसी , गोदरेज , टाटा , रिलायंस , आदित्या बिरला ग्रुप , अडानी ग्रुप इत्यादि  कम्पनियों में कॉरपोरेट लॉयर के लिए अच्छे विकल्प मौजूद रहते है |इसे भी जरूर पढे :-ऐसे कीवर्ड्स जिन्हे गूगल पर भूलकर भी न सर्च करे |कॉरपोरेट लॉयर संबंधी देश के कुछ प्रमुख संस्थाननेशनल लॉ  स्कूल ऑफ़ इंडिया यूनिवर्सिटी , बंगलौरनलसार यूनिवर्सिटी ऑफ़ लॉ हैदराबादनेशनल लॉ यूनिवर्सिटी नई दिल्ली , जोधपुर , भोपाल , गुजरातनेशनल लॉ यूनिवर्सिटी गांधीनगरवेस्ट बंगाल नेशनल यूनिवर्सिटी ऑफ़ जुरिडिकल साइंसेज , कोलकाताबनारस हिन्दू यूनिवर्सिटी , वाराणसीअलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी , अलीगढ़गुरु गोबिंद सिंह इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी , नई दिल्लीसिम्बायोसिस सोसाइटीज लॉ कॉलेज पुणेइंटीरियर डिज़ाइनर कैसे बनेदोस्तों इस लेख में हमने आपको कानून से जुड़े एक उभरते हुए करियर विकल्प कॉरपोरेट लॉयर के बारे में सम्पूर्ण जानकारी दी है इस लेख में हमने आपको बताया है कि लॉयर कैसे बने कॉरपोरेट लॉयर कैसे बने ? Corporate Lawyer Kaise Bane  कॉरपोरेट लॉयर क्या है ? Corporate Lawyer Kya Hai वकील कैसे बने Vakil Kaise bane इत्यादि अगर आपको हमारे द्वारा दी गई यह जानकारी अच्छी अच्छी लगी है तो आप अपनी राय हमे कमेंट बॉक्स में बता सकते है और इस जानकारी को दुसरो के साथ भी शेयर करे ताकि उन्हें भी कानून से जुड़े इस उभरते हुए करियर के बारे में पता चल सके |

रिटेल मैनेजमेंट में करियर कैसे बनाये ? Retail Management Me Career Kaise Banaye
 3 April 2021  

रिटेल इंडस्ट्री लगातार तेजी से बढ़ती जा रही है और आने वाले समय में यह इंडस्ट्री और भी बढ़ने वाली है इसलिए इस क्षेत्र में करियर की अपार सम्भावना ये मौजूद है आप चाहे तो इस इस क्षेत्र ने कदम बढ़ा सकते है इस लेख में हम आपको इसी क्षेत्र के बारे में संपूर्ण जानकारी देने वाले है कि रिटेल सेक्टर क्या है Retail Sector Kya Hai और आप रिटेल इंडस्ट्री में करियर किस प्रकार बना सकते है | अगर आप भी जानना चाहते है कि रिटेल में करियर कैसे बनाये Retail Me Career Kaise Banaye या रिटेल मैनेजमेंट में करियर कैसे बनाये Retail Management Me Career Kaise Banayeतो इस लेख में अंत तक पढ़े क्योंकि हमने इस लेख में रिटेल करियर विकल्प से संबंधित संपूर्ण जानकारी दी है जो आपको भविष्य के करियर का चुनाव करने में काफी मदद करेगी |कुछ खबरों के अनुसार जर्मनी यूके यूएस की कुछ बड़ी रिटेल कंपनियां इंडिया में अपने स्टोर खोल रही है इसलिए ऐसा अनुमान लगाया जा रहा है कि 2022 तक यह इंडस्ट्री लगभग 18 लाख करोड़ तक पहुंच जाएगी | इसलिए शॉपिंग माल्स से लेकर स्टोर मार्किट तक सब जगह जॉब क्रिएट होती जा रही है | यही कारण है कि भारत में रिटेल इंडस्ट्री तेजी से बढ़ती जा रही है जिसके कारण दुनिया की बड़ी कंपनियों में शुमार केकेआर और फेसबुक जैसे कम्पनियो ने रिलायंस रिटेल कम्पनी जिओमार्ट मे इन्वेस्टमेंट किया है |क्योंकि वे रिटेल इंडस्ट्री के भविष्य के बारे में अच्छी तरह जानते है |देश में बढ़ती हुई रिटेल इंडस्ट्री का सबसे बड़ा कारण इंडिया की जनसंख्या भी है | क्योंकि जिस देश में जनसंख्या सबसे ज्यादा होगी उसी देश की मार्किट भी बड़ी होगी | इसलिए हमारे देश की मार्किट दुनिया की सबसे बड़ी मार्किट में से एक है यही कारण है कि यंहा पर रिटेल इंडस्ट्री लगातार बढ़ती जा रही है |वर्तमान समय में देश के अंदर कुछ बड़ी रिटेल इंडस्ट्री तेजी से ग्रो कर रही है जैसे कि रिलायंस रिटेल , अमेजॉन , फ्लिपकार्ट , ग्रोफर्स इत्यादि यही कारण है कि इन कम्पनियो में दुनिया के बड़ी बड़ी कंपनियां जमकर इन्वेस्टमेंट कर रही है | इसलिए इस क्षेत्र में युवाओं के पास करियर बनाने का अच्छा अवसर हैरिटेल सेक्टर क्या है ? What is Retailरिटेल इंडस्ट्री Retail Industry ग्राहकों वस्तुओ और बिक्री से संबंधित क्षेत्र है | इसमें अलग अलग प्रकार के कार्य मौजूद है | प्रोडक्ट की बिक्री सेवाओं की पूर्ति से लेकर ग्राहकों से संवाद संचार स्टोर प्रबंधन इत्यादि अनेको कार्य इसमें मौजूद है आज के समय में यह कार्य ऑनलाइन भी होने लगे है |इसे भी पढे :- ऑनलाइन मीडिया में करियर कैसे बनायेदरअसल रिटेल सेक्टर में मूविंग कंज्यूमर और प्रोडक्ट आते हैं। रिटेल सेक्टर में में ज्यादातर वे प्रोडक्ट आते है जिनका इस्तेमाल इंसान रोज़मर्रा की जिंदगी में करता है| सुबह उठने से लेकर रात को सोने तक हमे इनकी जरूरत पड़ती रहती है | डिब्बा बंद खाना, पीना, सौंदर्य प्रसाधन, साबुन, तेल, टूथपेस्ट, कपड़े, लग्जरी आइटम इत्यादि| सभी प्रोडक्ट इसी इंडस्ट्री के अंतर्गत आते हैं।इसे भी पढे :- माइक्रो बायोलॉजी मे करिअर कैसे बनाए |अब ऐसा भी नहीं है कि पहले के समय में इन चीजों की जरूरत नहीं होती थी बस ये है कि इस इंडस्ट्री का पहले कोई रूप नहीं था | लेकिन आज स्थिति कुछ और है | अब ये पुराना समय नहीं है | आज के समय इंसान के द्वारा रोज़मर्रा की जिंदगी में इस्तेमाल की जाने वाली चीजें और कंडीशनर शोरूमो में बिक रही है और इनकी मांगे भी लगातार बढ़ती जा रही है | इसलिए आज के समय में इस क्षेत्र को सीपीजी यानि कि कंज्यूमर पैक्ड गुड्स के नाम से भी जाना जाता है | जब से इस क्षेत्र में देश के अंदर विदेशी कम्पनियो ने दखल दी है | तब से और ज्यादा कॉम्पिटिशन बढ़ रहा है और युवाओं के लिए जॉब के अवसर भी खुल रहे है |इसे भी पढे :- बीमा क्षेत्र मे करियर कैसे बनाए |रिटेल सेक्टर में जॉब के कुछ विभागशॉप ऑपरेशन मैनेजमेंट Shop Operations Managementइस विभाग में कार्य करने वाले लोग ग्राहकों की ख़रीददारी को सुविधाजनक और आसान बनाने की दिशा में कार्य करते है ताकि ग्राहकों को किसी भी प्रोडक्ट पसंद करने में ज्यादा परेशानी न हो | उन्हें ग्राहकों की हर पसंद को ध्यान में रखते हुए अपने प्रोडक्ट दिखाने होते है | और मॉल या फिर स्टोर के एयर कंडीशनर से लेकर, बिलिंग सिस्‍टम और सुरक्षा व्‍यवस्‍था तक के लिए शॉप ऑपरेशन मैनेजमेंट ही जिम्मेदार रहता हैइसे भी पढे :- साइबर लॉ एक्सपर्ट्स कैसे बने |शॉप फ्लोर मैनेजमेंट Shop Floor Managementकिसी भी कम्पनी या स्टोर की प्रत्येक मंज़िल पर एक फ्लोर मैनेजर होता है, जो इस बात का ध्‍यान रखता है कि पूरी मंज़िल पर काम सही तरीके से चल रहा है या नहीं | शॉपिंग स्टोर या मॉल में कार्य करने वालो को किसी प्रकार की कोई परेशानी तो नहीं है अगर परेशानी है तो उसे कैसे दूर करना है इन सभी की ज़िम्मेदारी शॉप फ्लोर मैनेजमेंट के अंतर्गत आती है |कस्‍टमर सर्विस Customer Serviceइस विभाग में कार्य करने वालो का ज्यादातर समय कॉलिंग पर ही बीतता है | इस विभाग का कार्य ग्राहकों की हर जरूरत का ख्‍याल रखना होता है | ग्राहकों द्वारा पूछे जाने वाले सभी सवालों के जवाब इन्हे देने होते है ताकि ग्राहक उनके प्रोडक्ट से संतुष्ट हो सके | साथ ही यह विभाग ग्राहकों को प्री और पोस्‍ट सर्विस भी देता है.इसे भी पढे :- केमिस्ट्री मे करिअर कैसे बनाए |रिटेल बायर्स एवं मर्चेडाइजर Retail Buyers and Merchandisersये रिटेल प्रोडक्ट का सामान तय करने तथा उन्हें खरीदने का काम करते हैं, इसलिए इन्हें कस्टमर की समझ, ट्रेंड व मार्केट की अच्छी समझ होना जरूरी हैविजुअल मर्चेडाइजर Visual Merchandisersयह इंडस्ट्री का एक बड़ा पद होता है। इसके अंतर्गत ब्रांड को एक नया आकार दिया जाता है। स्टोर का डिज़ाइन व कॉन्सेप्ट तैयार करने, ले आउट, कलर, कंज्यूमर की पसंद आदि कार्यो के चलते यह पद सेक्शन टेक्निकल डिज़ाइनर, प्रोडक्ट डेवलपर तथा स्टोर प्लानर का एक बड़ा रूप ले चूका है |इसे भी पढे :- इन्वेस्ट बैंकिंग मे करियर कैसे बनाए |इस प्रकार के कार्य के लिए आप सप्लाई चेन डिस्ट्रिब्यूटर्स, लॉजिस्टिक एवं वेयर हाउस मैनेजर, मार्केटिंग एग्जीक्यूटिव के पद पर इंडस्ट्री में काम कर सकते हैं ।रिटेल मैनेजर Retail Managerसुपर मार्किट या हायर मार्किट के प्रबंधन को ही रिटेल मैनेजमेंट कहा जाता है और इस काम करने वाले को रिटेल मैनेजर कहते है जो प्रोडक्ट आर्डर और स्टॉक की निगरानी करता है तथा आपूर्ति की रिपोर्ट तैयार करता है | भविष्य प्लान के लिए प्लान तैयार करने से लेकर उसके विभिन्न कार्यो के बीच समन्वय बनाना और कार्य का संचालन कराना भी इनके कार्य में शामिल है |इसे भी जरूर पढे : –ऐसे कीवर्ड्स जिन्हे गूगल पर भूलकर भी न सर्च करेयोग्यता Qualificationइस क्षेत्र में करियर बनाने के लिए आपको कम से किसी भी स्ट्रीम से बारहवीं की परीक्षा पास करना अनिवार्य है उसके बाद आप इस क्षेत्र में सेल्स , ऑपरेशन , या डिपार्टमेंट में कार्य कर सकते है लेकिन अगर आप ग्रेजुएशन एमबीए या फिर पीजी करने के बाद इस क्षेत्र में कदम बढ़ाते है तो आपके पास उच्च पदों पर कार्य करने का मौका आसानी से मिल जाता है इसके अलावा आप बारहवीं या ग्रेजुएशन के बाद कुछ रिटेल संबंधी कोर्स करके भी करियर बना सकते है |इसे भी पढे :- ज्वेलरी डिजाइनिंग मे करिअर कैसे बनाए ?एडमिशन लेने का तरीकावैसे तो रिटेल मैनेजमेंट के क्षेत्र में कई तरह के कोर्स उपलब्ध है जिनके लिए योग्यता भी अलग अलग है |रिटेल मैनेजमेंट के क्षेत्र में करियर बनाने के लिए अगर आप एमबीए में दाखिला लेना चाहते है तो आपको कैट , जैट , मैट में से किसी एक परीक्षा में पास होना अनिवार्य है |इसके बारे मे भी जानिए :- ई लर्निंग फ्रॉड से कैसे बचे ?देश में ऐसे बहुत से संस्थान है जो मेरिट या पर्सनल इंटरव्यू के आधार पर रिटेल मैनेजमेंट कोर्स में प्रवेश ले सकते है |रिटेल पीजी प्रोग्राम में प्रवेश के लिए रिटेलर्स एसोसिएशन ऑफ़ इंडिया आरएआई प्रत्येक वर्ष एक कॉमन एडमिशन रिटेल टेस्ट करवाता है अगर आप इन एग्जाम को पास कर लेते है | तो आप इस क्षेत्र में आसानी से कदम बढ़ा सकता है |दूसरी स्किल्सआपकी कम्युनिकेशन स्किल्स बेहतर होनी चाहिए |आपका आचरण व व्यवहार कस्टमर के प्रति अच्छा होना चाहिए |आप में क्लाइंट से डील करने की अच्छी क्षमता होनी चाहिए |आप जिस भी कम्पनी में कार्यरत है आपको उस कम्पनी के प्रोडक्ट की अच्छी जानकारी होनी चाहिए |समय के साथ हर चीज में बदलाव होते रहते है इसलिए आपको भी रिटेल इंडस्ट्री में होने वाले बदलाव की जानकारी होनी चाहिए |आपको आने प्रोडक्ट की एडवरटाइजिंग एवं मर्चेटाइजिंग तकनीक के बारे में भी अच्छी समझ होनी चाहिए |इसे भी जरूर पढे :- इवेंट मैनेजमेंट में करियर कैसे बनाये |रिटेल संबंधी कुछ प्रमुख कोर्सDiploma in Retail Managementcertificate course in retail store managementcertificate course in leadership in retail salesadvance certificate courses in retail store managementbachelor’s degree in retail managementbachelor’s degree in fashion and retail managementpg diploma in retail managementpg diploma in fashion retail managementmaster of business administration in retail managementBachelor of Business Administration (BBA)इसे पढे :- मनी लेंडिंग मोबाइल ऐप्स लोन से कतई लोन न लें |रिटेल संबंधी देश के कुछ प्रमुख संस्थानIndira Gandhi University, New DelhiGuru Gobind Singh University, New DelhiAmity Business School, Noida ( UP )Anna University of Technology CoimbatoreDr. Babasaheb Ambedkar Marathwada University, MaharashtraBirla Institute of Management and Technology, NoidaPearl Academy of Fashion New DelhiIndian Retail School ,New Delhiइसे भी पढे : – प्रोडक्ट डिज़ाइनर कैसे बने |दोस्तों इस लेख में हमने आपको आज के उभरते हुए करियर विकल्प रिटेल सेक्टर के बारे में सम्पूर्ण जानकारी दी है कि रिटेल क्या है Retail Kya Hai , रिटेल मैनेजमेंट में करियर कैसे बनाये Retail Management Me Career Kaise Banaye और आप रिटेल सेक्टर में अपना करियर किस प्रकार बना सकते है ताकि आपको भविष्य के लिए करियर का चुनाव करने में किसी प्रकार की कोई परेशानी न हो अगर आपको हमारे द्वारा दी गई ये जानकारी पसंद आई हो तो आप अपनी राय हमे कमेंट बॉक्स में भी बता सकते है और इस जानकारी को दुसरो के साथ भी शेयर करे ताकि उन्हें भी इस करियर विकल्प के बारे में सही और सटीक जानकरी मिल सके |

जियोलॉजी में करियर कैसे बनाये ? Geology Me Career Kaise Banaye
 28 March 2021  

धरती अपने अंदर अनगिनत रहस्यों को छुपाए हुए है। जिन्हें आसानी से नहीं समझा  जा सकता है। पृथ्वी के भीतर छुपे कुछ प्रतिशत  रहस्यों से  ही आम लोग परिचित हैं। यदि आप पृथ्वी के छुपे रहस्य एवं उनसे होने वाले फायदों को जानना चाहते हैं, तो जियोलॉजी (Geology)  का क्षेत्र आपके लिए बेहतर साबित हो सकता है और आप इसक्षेत्र में अपने कदम बड़ा सकते है | इस क्षेत्र में आपको गहन अध्ययन करना पड़ेगा | अगर आप भी पृथ्वी से जुड़े बिन्दुओ पर खोज करने में इंटरस्ट रखते है | और इससे जुड़े  क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहते है तो यह लेख आपके लिए महत्वपूर्ण है क्योकि आज हम आपको इस लेख में कुछ ऐसी  जानकारी देने वाले है जो आपके लिए महत्वपूर्ण है इस लेख में हम आपको बताने वाले है कि जियोलॉजी में करियर कैसे बनाये ? Geology Me Career Kaise Banaye  ? जियोलॉजी कोर्स कैसे करे ? Geology Course Kaise Kare  या फिर जियोलॉजी क्या है ? Geology Kya Hai जियोलॉजी क्या है ? Geology Kya Haiअर्थ साइंस Earth Science और जियोलॉजी Geology में हम पृथ्वी से जुड़े रहस्यों के बारे में अध्ययन करते है | पृथ्वी का अविष्कार हुए अरबो खरबो साल गुज़र चुके है लकिन आज तक कोई भी इसके बारे में पूर्ण रूप से अध्ययन नहीं कर पाया है | जितना हम इसके बारे में जानने की कोशिश करते है उतना ही इसमें उलझते चले जाते है | जियोलोजी से हम पृथ्वी के अंदर हो रही हलचल और काम आने वाले  कुछ महत्वपूर्ण खनिज पदार्थों के बारे में पता लगाते है |ऐसे समय में जब ऊर्जा संसाधनों की  मांग बढ़ रही है | जलवायु परिवर्तन पर असर पड़ रहा है इसी वजह से जियोलॉजी  करने वालो विशेषज्ञो की मांग बढ़ती जा रही है |इस क्षेत्र में अध्ययन करने वाले छात्रों को कॉल पेट्रोलियम जिओथर्मल एनर्जी और खनिजों से जुड़े रहस्यों को जानने का मौका मिलता है | बदलते हुए समय के अनुसार खनिज में मांग बढ़ने के कारण इस क्षेत्र में पेशेवरों की काफी कमी हो रही है | अगर आप पृथ्वी से जुड़े रहस्यों को जानने में दिलचस्पी रखते है तो आप यहा पर अपने करियर की शुरआत करके जियोलॉजिस्ट और अर्थ साइंस में कदम बढ़ा सकते है | जियोलॉजी का  नया रूप बदलकर ही अब अर्थ साइंस  हो गया है |इवेंट मैनेजमेंट में करियर कैसे बनाये |जियोलॉजी Geology में हम पृथ्वी के अंदर मौजूद कठोर और तरल पदार्थों का अध्ययन करते है |तो दूसरी और अर्थ साइंस का दायरा काफी बड़ा है जिसमे आप  जियोग्राफी जियोलॉजी ओश्यनोग्राफी,  बायोलॉजी  फिजिक्स केमस्ट्री  और पृथ्वी से जुड़े सभी रहस्यों के बारे में अध्ययन करते है  | इस क्षेत्र में विशेषज्ञता  हासिल करने के लिए आपको आधुनिक उपकरण जैसे जीपीएस सिस्टम मैपिंग सॉफ्टवेयर केड का इस्तेमाल करना पड़ता है |योग्यता Qualificationवैसे तो इस  क्षेत्र में 12 वी  पास  छात्र कदम रख सकते है लकिन बड़े बीएससी स्तर के कोर्स में प्रवेश करने के लिए 12 वी की परीक्षा पीसीएम से होना जरूरी है | ग्रेजुएशन स्तर पर भारतीय संस्थानों में जियोलॉजी अर्थ साइंस, एनवायरमेंट साइंस में बीएससी और बीए कोर्स कराये जाते है जियोलॉजी से  बीएससी करने के बाद छात्र जूनियर जियोलॉजिस्ट के  पद पर कार्य की शुरुआत कर सकता है फिर विषेशज्ञता हासिल करने के लिए आगे की पढ़ाई जारी रख सकता है उसके बाद आपके लिए उच्चतम पद के विकल्प खुल जाते है |उसके बाद आप पीजी स्तर पर एमएससी जियो इन्फार्मेटिक्स,  एमएससी इन अर्थ साइंस जैसी डिग्री भी प्राप्त कर सकते है इस कोर्सेज में आपको दाखिला प्रवेश परीक्षा या मेरिट के आधार पर मिलता है उसके बाद चाहे तो आप पीएचडी भी कर सकते है | साइकोलॉजिस्ट कैसे बने |भारत में कई संस्थान अर्थ साइंस के क्षेत्र ऍमटेक कोर्स भी कराते है | जिनमे पेट्रोलियम ,जियो साइंस,  एप्लाइड जियोलोजी  व एप्लाइड जियोफिजिक्स  कोर्स काफी पॉपुलर है | लकिन इन कोर्स में प्रवेश लेने के लिए आपको जियोलजी या जियो फिजिक्स में एमएससी होने के अलावा गेट की परीक्षा में भी अच्छे प्राप्त करना जरूरी है |दाखिला प्रक्रिया Admission Processजियोलॉजी Geology के क्षेत्र में  ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रेजुएशन, डॉक्टरेट एवं बीटेक व एमटेक  जैसे कोर्स में प्रवेश लेने  के लिए देश  के विश्वविद्यालयों, कॉलेजों एवं संस्थानों में अलग अलग आधार तय किये गए है | जिनमे प्रवेश लेने के लिए एंट्रेंस  परीक्षाएं  आयोजित की जाती हैं | जिसमे सफल होने वाले विद्यार्थियों को ही मेरिट के आधार पर  प्रवेश दिया जाता है।जियोलॉजी Geology में  ग्रेजुएशन करने के लिए जंहा विश्वविद्यालय में  एंट्रेंस एग्जाम पास करने पड़ते है वहीं आईआईटी खड़गपुर से बीटेक करने के लिए जेईई में अच्छी रैंक लानी होती है। इसलिए  विधार्थी की बारहवीं के विषयो  पर अच्छी  कमांड होनी चाहिए। एग्जाम में पूछे जाने वाले प्रश्न इंटरमीडिएट स्टैंडर्ड के होते हैं |फाइनेंसियल एडवाइजर कैसे बने |करियर  विकल्प Career Optionsजियोलॉजी Geology से ग्रेजुएशन पोस्ट ग्रेजुएशन, एवं पीएचडी करने वाले विद्यार्थियों के लिए इस क्षेत्र में बहुत अधिक डिमांड है |  जियोलॉजी के स्टूडेंट्स के लिए अनुसंधान, शिक्षण, औद्योगिक भूवैज्ञानिक एजेंसियों, कृषि, वन सेवा, पर्यावरण, अंतरिक्ष, समुद्रीय प्रशासन  संबंधी क्षेत्रों में करियर के भरपूर विकल्प उपलब्ध हैं। जियो साइंटिस्ट शोधकर्ता, शिक्षक और लेखक के रूप में  भी करियर की शुरुआत कर सकता है। यूपीएससी इसके लिए हर वर्ष परीक्षा लेती है। आप इससे संबंधित प्रतियोगी परीक्षा पास करके करियर बना सकते हैं। इसके अलावा भू-विज्ञान (Geology) की शिक्षा देने वाले संस्थानों में जियोलॉजी स्कॉलर की नियुक्ति उसकी योग्यता के अनुसार महत्वपूर्ण पदों पर होती है। इससे संबंधित कुछ महत्वपूर्ण पद हैं :एटमॉस्फेरिक साइंटिस्ट  (Atmospheric Scientist): जियोलोजी साइंटिस्ट एटमॉस्फेरिक साइंटिस्ट के रूप में मौसम का अध्ययन कर प्रदूषण से होने वाले जलवायु परिवर्तन और उसके प्रभाव का अध्ययन करते हैं।इकोनॉमिक जियोलॉजिस्ट  (Economic Geologist) :यह मेटालिक एवं नॉन मैटेलिक धातुओं को खोजने के साथ खनन से निकलने वाले अपशिष्ट से पर्यावरण की रक्षा करता है।इंजीनियरिंग जियोलॉजिस्ट  (Engineering Geologist) : ये उन भौगोलिक तथ्यों का अध्ययन करते हैं, जो पुलों, इमारतों, हवाई अड्डों, बांधों आदि को प्रभावित करते हैं।प्रोडक्ट डिज़ाइनर कैसे बने |एनवायरनमेंट जियोलॉजिस्ट  (Environmental Geologist) : ये लोग मानवीय गतिविधियों पर पडने वाले विभिन्न भौगोलिक प्रभावों का पता लगाते हैं। ये प्रदूषण, शहरीकरण आदि से होने वाली समस्याओं का समाधान भी खोजते हैं।जियोलॉजी कोर्स से संबंधित देश के कुछ प्रमुख संस्थान –बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी, वाराणसी –आईआईटी, खड़गपुर पटना यूनिवर्सिटी, बिहाररांची यूनिवर्सिटी, झारखण्डदिल्ली यूनिवर्सिटी, दिल्लीअलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी, अलीगढ़लखनऊ यूनिवर्सिटी, यूपीदेवी अहिल्या यूनिवर्सिटी, इंदौरपंजाब यूनिवर्सिटी, चंडीगढ़यूनिवर्सिटी ऑफ कश्मीर, श्रीनगरमोबाइल रोबोटिक्स इंजीनियरिंग में करियर कैसे बनायेदोस्तों इस लेख में हमने आपको भूमि / पृथ्वी से जुड़े एक करियर के बारे में सम्पूर्ण जानकरी दी है | अगर आप भी भूमि चट्टानों और खदानों जैसे संसाधनों में रूचि रखते है तो यह करियर आपके लिए बेहतर विकल्प है आप इसमें अपना करियर शुरू कर सकते है इस लेख में हमने आपको बताया है कि जियोलॉजी में करियर कैसे बनाये Geology Me Career Kaise Banaye  ? जियोलॉजी कोर्स कैसे करे Geology Course Kaise Kare  या फिर जियोलॉजी क्या है Geology Kya Hai | अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी हो तो आप अपनी राय हमें कमेंट बॉक्स में बता सकते है और इस जानकारी को दुसरो के साथ भी शेयर करे ताकि उन्हें भी इस बारे में पता चल सके | अगर आपका इस करियर को लेकर किसी प्रकार का सवाल है तो आप कमेंट करके  पूछ सकते है | 

इंटीरियर डिजाइनर कैसे बने ? Interior Designer Kaise Bane ?
 24 March 2021  

इंटीरियर डिजाइनिंग से घर की खूबसूरती को चार चांद लग जाते है | क्योंकि इसमें डिजाइनिंग पूरी घर को देखते हुए की जाती है लेकिन बहुत लोगो को यह भी लगता है | कि इंटीरियर डिजाइनरों की सेवा लेना ज्यादा जरूरी नहीं है | इसलिए बहुत से लोग इंटीरियर डिजाइनर का खर्चा बचा लेते है | और वे इस खर्चे को फ़िजूल समझते है | हालांकि यह बात भी सत्य है कि इंटीरियर डिजाइनर की सेवा लेना भी जरूरी नहीं है व्यक्ति स्वयं भी अपनी पसंद के घर की डिजाइनिंग कर सकता है | और अपने घर की सजावट कर सकता है | लेकिन इंटीरियर डिज़ाइनर के द्वारा की गई डिज़ाइनिंग कुछ अलग ही होती है क्योंकि उन्हें इस काम की अच्छी समझ और अनुभव होता है जो किसी भी घर की डिजाइनिंग को चार लगा देते है |  इसलिए आज हम आपको इस लेख इंटीरियर डिज़ाइनिंग के बारे में संपूर्ण जानकरी देने वाले है कि इंटीरियर डिज़ाइनिंग क्या है | इंटीरियर डिज़ाइनर कैसे बने Interior Designer Kaise Bane या इंटीरियर डिज़ाइनर में करियर कैसे बनाये Interior Designing Me Career Kaise Banaye  अगर आप इस क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहते है और इस क्षेत्र में जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो इस लेख को पूरा पढ़े |इंटीरियर डिज़ाइनिंग वर्तमान समय में सबसे सुनहरे  कैरियर के रूप में तेजी से उभर रहा है | भारत में वर्ष 2021 तक इंटेनियर डिज़ाइनिंग इंडस्ट्री आठ फीसदी और बढ़ने वाली है | इसे एक बात तो एकदम साफ है कि इस क्षेत्र में जॉब के अवसर और बढ़ने वाले है  अगर आप भी इस क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहते है तो यह आपके भविष्य के लिए बेहतर विकल्प हो सकता है | इंटीरियर डिज़ाइनिंग क्या है Interior Designing Kya Hai  इंटीरियर डिज़ाइनिंग का सबसे अहम कार्य जगह एवं आवश्यकता के हिसाब से चीजों को सुंदर एवं  सही तरीके से रखने के साथ साथ कलर कॉम्बिनेशन , टेक्स्चर , एवं पैटर्न पर खासतौर पर सबसे ज्यादा ध्यान दिया जाता है  | पुराने समय में इंटेनियर डिज़ाइनिंग को  एक छोटा का क्षेत्र माना जाता था लेकिन आज  के समय में यह एक बड़े प्रोफेशनल के रूप में तेजी से उभर रहा है | इसे भी पढे :- फैशन डिज़ाइनर कैसे बने | इंटीरियर डिज़ाइनर ग्राहकों की पसंद और बजट को ध्यान में रखते हुए उपलब्ध स्थान को अधिक से अधिक उपयोगी एवं आकर्षक बनाते है | इंटीरियर डिज़ाइनर Interior Designer मुख्यत घर या किसी भी इमारत, भवन के  अंदर वाले हिस्से की प्रत्येक चीज को सजाते है | और जो भी  आदमी घरो या इमारतों  के अंदर वाले हिस्से को सजाने का कार्य करते है उन्हें इंटीरियर डिज़ाइनर कहा जाता है | इसे भी पढे :- फाइनेंसियल एडवाइजर कैसे बने |इंटीरियर डिजाइनिंग का क्षेत्र उन विद्यार्थियों के लिए अच्छा विकल्प को सकता है जो डिजाइनिंग में रूचि रखते हो और उन्हें  चीजों को सजना अच्छा लगता हो  तो ऐसे में इंटीरियर डिजाइनिंग में करियर बना सकते है | घर, ऑफिस, होटल, क्लीनिक, हॉस्पिटल, हॉस्टल,स्कूल इत्यादि में  किसी कोई भी  हो आप  इनके अंदरूनी भाग को इंटेनिओर डिज़ाइनर के द्वारा  नया लुक दे सकते है  | इसे भी पढे : – प्रोडक्ट डिज़ाइनर कैसे बने | बड़े बड़े दिल्ली, मुंबई, बंगलौर जैसे शहरों में छोटे घरो में पूरे परिवार के हिसाब से समान व्यवस्थित करने और कम जगह को भी खूबसूरत डिज़ाइन देने का कार्य इंटेनिओर डिज़ाइनर के द्वारा ही किया जाता है | इंटीरियर डिज़ाइनर जगह के हिसाब से रंग, लाइट , फर्नीचर, डेकोरेटिव, आइटम इत्यादि का चुनाव करते है बहुत से जगहों पर इंटीरियर डिज़ाइनर निर्माण समय में ही ार्केटचर के साथ मिलकर कार्य करते है  |योग्यता Qualification इंटीरियर डिज़ाइनर Interior Designer बनने के लिए सबसे आपको बारहवीं की परीक्षा  पास करना अनिवार्य है उसके बाद आप इंटीरियर डिज़ाइनिंग में डिग्री डिप्लोमा या फिर सर्टिफ़िकेट कोर्स कर सकते है  आप ग्रेजुएशन करने के बाद भी इस क्षेत्र में कदम बढ़ा सकते है |इसे पढे :- मनी लेंडिंग मोबाइल ऐप्स लोन से कतई लोन न लें |इंटीरियर डीजेइंग संबंधी कोर्स को पूरा करने के बाद आप रूम डिज़ाइनिंग, किचन डिज़ाइनिंग, ऑफिस डिज़ाइनिंग, हॉल डिज़ाइनिंग, या फिर हॉउस डिज़ाइनिंग में विशेषज्ञता हासिल कर सकते है |इंटीरियर डिजाइनिंग संबंधी कुछ प्रमुख कोर्स  बैचलर ऑफ़ इंटीरियर डिज़ाइनिंग डिप्लोमा इन इंटीरियर डिजाइन पीजी डिप्लोमा इन इंटीरियर डिजाइन एंड डेकोरेशन ,एडवांस डिप्लोमा इन इंटीरियर डिज़ाइन बी-एससी इन इंटीरियर डिजाइन बीएससी इन इंटीरियर डिज़ाइनपोस्ट ग्रेजुशन ऑफ डिजाइन प्रोग्रामपीएचडी प्रोग्राम इन डिजाइनएमआर्क प्रोग्राम इन इंटीरियर डिजाइनपोस्ट ग्रैजुएट डिप्लोमा इन क्राफ्ट डिजाइनपीजी डिप्लोमा फर्नीचर एंड इंटीरियर डिज़ाइनपोस्ट ग्रैजुएट डिप्लोमा इन टेक्सटाइल डिजाइनपोस्ट ग्रेजुएट प्रोग्राम इन इंटीरियर स्पेस एंड इक्यूप्मेंट डिज़ाइनइसे भी पढे : – इवेंट मैनेजमेंट में करियर कैसे बनाये |इंटीरियर डिजाइनिंग में प्रवेश प्रक्रिया  इंटीरियर डिज़ाइनिंग संबंधी ग्रेजुएशन कोर्स में दाख़िला लेने के लिए देश के कई बड़े संस्थान एंट्रेंस एग्जाम परीक्षा का आयोजन करते है इस परीक्षा की सहायता अभ्यर्थी को डिज़ाइन योग्यता, क्रिएटिविटी, ,समझ  तर्क इत्यादि के आधार पर दाख़िला मिलता है |ऐसे कीवर्ड्स जिन्हे गूगल पर भूलकर भी न सर्च करेइसके अलावा अभ्यर्थी को लिखित परीक्षा भी पास करनी पड़ती है जिसमे उन्हें पोर्टफोलियो का प्रदर्शन भी दिखाना पड़ता है | इंटीरियर डिजाइनर बनने  के गुण  इंटीरियर डिज़ाइनर Interior Designer बनना एक क्रिएटिविटी वाला प्रोफेशनल है इस क्षेत्र में वही लोग बहुत आगे तक जा सकते है जिनके अंदर क्रिएटिविटी होती है | इसलिए बेहतर होगा कि कोर्स पूरा करने के बाद या कोर्स करते समय किसी इंटीरियर डिज़ाइनर या इंटीरियर डिजाइनिंग फर्म के साथ इंटर्नशिप या ट्रेनिंग के लिए जा सकते है जो आपके करियर के लिए बेहतर है डिग्री डिप्लोमा कोर्स करने के बाद  आप इंटीरियर डिजाइनिंग संबंधी कंप्यूटर ऑटोकैड प्रोग्राम सर्टिफिकेट कोर्स कर सकते है | इसे भी पढे :- सेरेमिक इंजीनियर कैसे बने |इसके साथ ही आपको बेहतर कम्युनिकेशन, प्रभावशाली व्यक्तित्व आपको बेहतर इंटीरियर डिजाइनर बनने के लिए अहम भूमिका निभाते है | इंटीरियर डिजाइनिंग के करियर विकल्प  इंटीरियर डिज़ाइनिंग के क्षेत्र में आप अपना सफर शुरू करने के लिए  आर्किटेचर फर्म , कंस्ट्रंक्शन फर्म, रियल स्टेट कम्पनी, टाउन एवं सिटी प्लानिंग ब्यूरो , डिज़ाइन स्टूडियो , होटल रिजॉर्ट, डिज़ाइनिंग इंस्टिट्यूट से जुड़कर शुरू कर सकते है | अर्बन लेंडर , बेनिटो डिज़ाइन , होमेलैन, लिवस्पेस इत्यादि कंपनियां  देश में बड़े स्तर  पर इंटीरियर डिज़ाइनिंग की बड़ी भूमिका निभाते है  |इसे भी पढे :- डाइटीशियन कैसे बने | इंटीरियर डिज़ाइन संबंधी कुछ स्किल कलर थ्योरी एंड टेक्निक्सआर्ट्स एंड ग्राफ़िक्सकंस्ट्रक्शन एंड डिज़ाइनग्राफ़िक डिज़ाइन इंटीरियर डिज़ाइन थ्योरीडिजाइन प्रैक्टिसआर्ट्स एंड क्राफ्ट कम्युनिकेशन स्किल्समॉडल मे किंगफर्नीचर डिज़ाइनमटेरियल परचेसएन्विरोंमेंतल स्टडीजकॉस्ट एस्टीमेशनडिजाइन टेक्नोलॉजीमैटेरियल्स एंड फिनिशेस इसे भी पढे : – अनलाइन फ्रॉड से कैसे बचे |इंटीरियर डिज़ाइनर के लिए जॉब प्रोफ़ाइल Landscape Architect Floral Designer Industrial Designer   Interior Design Farm Architecture and Design Farm Infrastructure and Property Developers Farms Furniture Manufacturing and Designing Farms Interior Designing & Decoration Assistant Designer Craft and Fine Artistsइसे भी पढे :- खाना बनाने का शौक है तो बने शेफ इंटीरियर डिजाइनिंग  सम्बन्धी देश के कुछ प्रमुख संस्थान  National Institute of Design Ahmedabad CPT  University, Ahmedabad JJ Institute of Arts, Mumbai College of Architecture and Centre for Design, Nashik Indian Institute of Technology, Mumbai ARK  Academy of Design, Jaipur Institute of Indian Interior Designers, New Delhi Wong Institute of Fashion Technology, BangaloreIndian School of Design and Innovation, Mumbai MIT Institute of Design, Pune इसे भी पढे :- ऑनलाइन शॉपिंग सुरक्षा टिप्स जिनके बारे मे आपको जरूर जानना चाहिए | दोस्तों इस लेख में हमने आपको इंटीरियर डिजाइनिंग के बारे में सम्पूर्ण जानकारी दी है | कि किस प्रकार से आप इंटीरियर डिजाइनिंग के क्षेत्र में अपना एक सुनहरा करियर बना सकते है | अगर आपको डिजाइनिंग में रूचि है तो यह करियर आपके लिए बेहतर विकल्प है |  इस लेख में हमने आपको बताया है कि इंटीरियर डिज़ाइनर कैसे बने Interior Designer Kaise Bane या इंटीरियर डिज़ाइनर में करियर कैसे बनाये Interior Designing Me Career Kaise Banaye  या फिर इंटीरियर डिजाइनिंग कोर्स कैसे करे  Interior Designing Course Kaise Kare इत्यादि | अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी हो तो आप अपनी राय हमें कमेंट बॉक्स में बता सकते है और इस जानकारी को दुसरो के साथ भी शेयर करे ताकि उन्हें भी इस बारे में पता चल सके | अगर आपका इस करियर को लेकर किसी प्रकार का सवाल है तो आप कमेंट करके  पूछ सकते है | करिअर , एजुकेशन और टेक्नोलॉजी से जुड़ी और भी अधिक जानकारी ले लिए आप हमारी वेबसाईट  Ultimate Guider पर भी विजिट कर सकते है | जहा पर आप करिअर से जुड़ी समस्याओ समाधान भी पूछ सकते है |

होटल मैनेजमेंट में करियर कैसे बनाये ? Hotel Management Me Career Kaise Banaye
 22 March 2021  
Art

दोस्तों होटल का ज्यादातर बिज़नेस पर्यटन पर निर्भर रहता है | जब कोई भी व्यक्ति एक स्थान से दूसरे स्थान पर घूमने के लिए जाता है जैसे की किसी पर्यटन स्थल की सैर करना, हनीमून मनाना, गर्मियों की छुट्टियाँ में बच्चों को घुमाने ले जाना इत्यादि किसी भी प्रकार से घूमने जाना | ऐसी स्थिति में कही पर ठहरने और आराम करने करने के लिए  किसी एक जगह की जरूरत होती है उस जरूरत को पूरा करने के लिए लोग होटल की सहायता लेते है जहां पर आपको अपनी जरूरत की सभी चीजें मिल जाती है |इस लेख में हम आपको बताने वाले है कि होटल मैनेजमेंट क्या है Hotel Management Kya hai, आप होटल मैनेजमेंट में करियर किस प्रकार बनाये Hotel Management Me Career Kaise Banaye और होटल मैनेजमेंट में करियर बनाने के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए ताकि आप भी होटल मैनेजमेंट कोर्स की मदद से अपने करियर पर सुनहरा बना सके |होटल मैनेजमेंट क्या है | Hotel Management Kya Haiआजकल तो बड़ी बड़ी पार्टियाँ शादी फंक्शन या फिर मीडिया कॉन्फ़्रेंस भी होटलों के द्वारा ही ऑर्गेनाइज की जा रही है| होटल में व्यक्ति को सुविधाएँ भी उसकी हैसियत के अनुसार ही दी जाती है | आप होटल से अपने लिए जिस प्रकार की सुविधाएँ चाहते है उसके अनुसार ही आपको कीमत भी चुकानी पड़ती है |इसे भी पढे :- खाना बनाने का शौक है तो बने शेफहोटल को भी व्यक्ति के बजट के अनुसार अलग अलग भागों में बांटा  गया है | जैसे जैसे होटल की स्टेज बढ़ती है उसी प्रकार उनकी कीमत भी बढ़ती चली जाती है | बजट की लिमिट  कहा तक बढ़ेगी इसकी कोई लिमिट नहीं है | Normal Hotel, Three Star Hotel , Five Star Hotel ,Seven Star Hotel अगर कोई भी होटल अपने किसी मेहमान को किसी प्रकार की कोई सुविधा देते है | तो उस सुविधा को होटल में आये मेहमान तक पहुंचाने के लिए होटल को एक टीम की जरूरत होती है | इस टीम में हर डिपार्टमेंट के अलग अलग पर्सन काम करते है आकड़ों मे है, रुचि तो बनाए स्टेटिस्टिक्स मे करियर |यदि आप एक ऐसे करियर का चुनाव करना चाहते है जहा पर आपको आधुनिकता का स्वर्ग भी देखने को मिले और आपको एक अच्छा करियर भी मिले तो यह करियर आपके लिए एक अच्छा विकल्प हो सकता है | ये एक ऐसा करियर है जिसमे आपको हर समय अवसर नजर आएंगे बस आपको होटल मैनेजमेंट से जुड़ा कोई भी एक  कोर्स करके उसमे अपने आप को बेहतर बनाना है  |होटल में जॉब के अवसर होटल में अलग-अलग कार्यो को केटेगरी के अनुसार अलग अलग डिपार्टमेंट में बाँटा गया है ताकि होटल में किसी को  भी कार्य करने परेशानी न हो | और कार्यो को सही और तेजी से किया जा सके होटल से जुड़े कार्यो की कुछ केटेगरी नीचे दी गई है जिसे आप अपने अनुसार चुनकर उसमें अपना करियर बना सकते है |इसे भी पढे :- ज्वेलरी डिजाइनिंग मे करिअर कैसे बनाए ?होटल मैनेजर  Hotel Menejor होटल इंडस्ट्री में आपको मैनेजर पद पर रहकर इस बात की जिम्मेदार पूर्ण रूप से निभानी होती है | कि होटल के अंदर जितने भी डिपार्टमेंट है | सब पर पूर्ण रूप से निगरानी रखना और उनको अच्छे से गाइड करना ताकि  होटल में आने वाले मेहमान भी प्रकार की कोई दिक्कत न हो | अगर आपकी शिक्षा अच्छी है और आपको होटल के बारे में अच्छा अनुभव है तो आप होटल में इस केटेगरी में अपना करियर बना सकते है |इसे भी पढे :- विदेशी भाषा मे करिअर कैसे बनाए ?फ्रंट ऑफिस Front Officeफ्रंट ऑफिस होटल की वो जगह होती है | जहां पर कोई भी मेहमान सबसे पहले आकर स्वयं का रजिस्ट्रेशन कराता है | फ्रंट ऑफिस पर रहने वाले का काम बहार से आये सभी मेहमानो की एक लिस्ट बनाकर उनके द्वारा बुक किये गए कमरो तक पहुँचाना है | ताकि मेहमानो को होटल के अंदर अपना कमरा ढूंढने में किसी भी प्रकार की कोई समस्या न हो | अगर आपको कंप्यूटर के बारे में अच्छी जानकरी है | तो आप होटल में इस पद पर अपना अच्छा करियर बना सकते है |फ़ूड मेकर Food Makerइस डिपार्टमेंट का काम होटल के अंदर आने वाले सभी मेहमानो के लिए अच्छे भोजन की व्यवस्था करना है | इसमें भी तीन अलग अलग केटेगरी होती है | एक केटेगरी का काम मेहमानो से भोजन का आर्डर लेना ,दूसरी केटेगरी का काम अच्छा भोजन बनाना और तीसरी कैटेगरी का काम उस भोजन को मेहमानो तक सही तरीके से पहुंचाने का होता है |इसे भी पढे : – प्रोडक्ट डिज़ाइनर कैसे बने |यह डिपार्टमेंट बहुत महत्वपूर्ण होते है | क्योंकि अगर मेहमानो को अच्छा खाना न मिले तो होटल की साख ख़राब हो जाती है बाद में मेहमान उस होटल में आने से कतराते है | अगर आपको खाना पकाने के बारे में अच्छी जानकरी है और आप होटल से पहले छोटी जगहों पर भी अपनी सुविधाएँ दे चुके है तो आप होटल मैनेजमेंट से जुड़े  फ़ूड विभाग में अपना करियर बना सकते है जहा पर आपको अच्छी सेलरी भी मिल जाती है |हाउसकीपिंग Housekeepingक्योंकि होटल्स का क्षेत्र भी काफी बड़ा रहता है तो ऐसे में होटल के अंदर समय समय पर साफ़ सफाई की जरूरत भी पड़ती रहती है | होटल के प्रत्येक हिस्सों को साफ करने का काम हाउसकीपिंग  टीम के अंतर्गत आता है | इसे भी पढे :- योगा के क्षेत्र में करियर कैसे बनायेहोटल के अंदर चाहे कमरों की सफाई हो या रेस्टोरेंट की सफाई हो या स्विमिंग पूल की सफाई हो या लॉबी की सफाई हो या फिर होटल की कोई भी जगह हो  सभी की सफाई अच्छी तरीके से की जाती है ताकि होटल में आने वाले मेहमानो को एकदम ताजगी महसूस हो | अगर आपको साफ़ सफाई करना पसंद है तो आप  होटल मैनेजमेंट के इस काम से जुड़कर अपना करियर बना सकते है | होटल मार्केटिंग Hotel Marketingहोटल बहुत बनाये जा सकते है लेकिन उन होटल को चलाने के लिए सबसे जरूरी है ! ग्राहक | अगर आपने होटल बहुत खूबसूरत बनाया हुआ है लेकिन उसमे कोई ग्राहक नहीं आते है तो फिर बेकार है |कम्प्यूटर नेटवर्किंग क्या है | इसेमे करिअर कैसेइसलिए होटल में ग्राहक लाने का काम मार्केटिंग टीम का होता है | होटल में किस प्रकार की सुविधाएँ मौजूद है वे इसकी पूरी जानकरी ग्राहकों तक पहुँचाते है | ताकि ग्राहकों को उनका होटल पसंद आये इसके अलावा वे होटल की मार्केटिंग बढ़ाने और ज्यादा से ज्यादा ग्राहकों की आकर्षित करने के लिए मार्केटिंग टीम ग्राहकों के लिए अच्छे अच्छे पैकेज भी तैयार करती है | कि अगर आपके साथ इतने सदस्य आते है तो आपको इतनी छूट मिल जाएगी इसलिए आज के इस कॉम्पिटिशन के दौर में इस विभाग की बहुत अहमियत बढ़ गयी है |इसे पढे :- मनी लेंडिंग मोबाइल ऐप्स लोन से कतई लोन न लें |योग्यता Qualificationइस क्षेत्र में करियर बनाने के लिए आपको देश के किसी भी बोर्ड से बारहवीं की परीक्षा पास करना अनिवार्य है और बारहवीं की परीक्षा में भी आपके पास अंग्रेजी विषय होना जरूरी है | इस क्षेत्र में आप ग्रेजुएशन के बाद भी कदम बढ़ा सकते है जो आपके लिए एक अच्छा अनुभव रहेगा | इसके बाद आप होटल मैनेजमेंट से जुड़ा कोई भी एक कोर्स  करके इस क्षेत्र में करियर बना सकते है ऐसे कीवर्ड्स जिन्हे गूगल पर भूलकर भी न सर्च करेहोटल मैनेजमेंट संबंधी कुछ कोर्स B.Sc in Hotel Management and Catering TechnologyB.Sc in Hotel Management B.A in Hospitality and Tourism Management M. Sc  in Hospitality Administration Hotel Management Category Certificate Diploma in Hotel Management इसे भी पढे :- बीमा क्षेत्र मे करियर कैसे बनाए |दूसरी स्किल Other Skillआपकी हिंदी और इंग्लिश दोनों भाषाओ पर अच्छी पकड़ होना जरूरी है और आपकी आवाज़ में मिठास हो तो बेहतर रहेगा |आपके अंदर ऐसी कला होनी चाहिए कि आपको अंदर से कितनी भी परेशानी हो  वो आपके चेहरे पर न झलके |इसे भी पढे : – सिम स्वाइप फ्रॉड क्या है |आपको दुसरो की सेवा करते समय शर्मिंदगी महसूस नहीं होनी चाहिए | क्योंकि ये आपका प्रोफेसन है |हिंदी अंग्रेजी भाषा के अलावा अगर आपकी पकड़ किसी विदेशी भाषा पर है तो आपको विदेशो में भी अच्छी नौकरी मिल सकती है |होटल मैनेजमेंट संबंधी देश  के कुछ बड़े कॉलेज National Council for Hotel Management and Catering Technology, NoidaIndira Gandhi National Open University New Delhi Lakshya Bharti Institute of International Hotel Management, New DelhiJawaharlal Nehru University ,New Delhi Guru Jambheshwar University NRAI School of hotel management The Hotel School – Hotel Management College in Delhiहोटल मैनेजमेंट इंडस्ट्री में देश के कुछ बड़े होटल्स Taj Group of HotelsOberoi Group of HotelsLe Meridien Group of Hotels in IndiaWelcome Group of Hotels Marriott International Hotel Hayat Corporation of Hotels in India ITC Limited – Hotels Division Radisson BLU  Hotel Ramada Hotel Group दोस्तों इस लेख में हमने आपको भविष्य के उभरते हुए एक करियर विकल्प  होटल मैनेजमेंट के बारे में संपूर्ण जानकरी दी है कि किस प्रकार से आप इस क्षेत्र में अपना करियर बना सकते है ताकि आपको करियर का चुनाव करने में किसी भी प्रकार की परेशानी न हो |इसे भी पढे : – अनलाइन फ्रॉड से कैसे बचे |इस लेख में हमने आपको बताया है कि होटल मैनेजमेंट क्या है  Hotel Management Kya Hai  ? होटल मैनेजमेंट में करियर कैसे बनाये Hotel Management Me Career Kaise banaye या होटल मैनेजमेंट कोर्स कैसे करे  Hotel Management Course Kaise Kare  | हमने इन सभी के बारे में आपको संपूर्ण जानकरी दी है अगर अगर आपको ये जानकारी अच्छी लगी हो तो आप अपनी राय हमे जरूर कमेंट करके बताये | अगर आपका इस करियर को लेकर किसी भी प्रकार का सवाल है तो आप हमसे कमेंट के द्वारा पूछ सकते है और इस जानकरी को दुसरो के साथ भी शेयर करे ताकि उन्हें भी इस महत्वपूर्ण करियर विकल्प के बारे में पता चल सके | करिअर , एजुकेशन और टेक्नोलॉजी से जुड़ी और भी अधिक जानकारी ले लिए आप हमारी वेबसाईट  Ultimate Guiderपर भी विजिट कर सकते है | जहा पर आप करिअर से जुड़ी समस्याओ समाधान भी पूछ सकते है |

डिजिटल बैंकिंग क्या है ? इसमें अपना कैरियर कैसे बनाये ? Digital Banking Hindi
 22 March 2021  

जब से देश में नोट बंदी हुई है | तब से देश में डिजिटल बैंकिंग का स्तर दिन प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है | क्योंकि नोट बंदी के बाद देश में केश की कमी आई है इसी के चलते लोगो ने डिजिटल बैंकिंग को काफी  बढ़ावा दिया है | ताकि उन्हें किसी भी प्रकार के पैसों के लेन देन में दिक्कत न हो  और वे आसानी से अपनी जरूरतो को  पूरा कर सके | इसलिए देश के ज्यादा से ज्यादा यूज़र ने  डिजिटल बैंकिंग Digital Banking Hindi को सीखा  और उसको बढ़ावा दिया |आपकी जानकारी के लिए बता दे कोविड 19 ने वह काम कर दिया है जो  पिछले चार वर्ष पहले नोट बंदी में नहीं हो पाया था | आज हम आपको इस लेख में बताने वाले है कि डिजिटल बैंकिंग क्या है Digital Banking Kya Hai , डिजिटल बैंकिंग के क्या क्या फायदे है इसके अलावा हम आपको इस लेख में यह भी बतायंगे कि आप डिजिटल बैंकिंग के क्षेत्र में करियर किस प्रकार बना सकते है Digital Banking Me Career Kaise Banaye | इसलिए अगर आप भी डिजिटल बैंकिंग के क्षेत्र अपना करियर बनाना चाहते है तो इस लेख को पूरा पढ़े जब से दुनिया में कोविड 19 का समय चल रहा है तब से डिजिटल पेमेंट में काफी बढ़ोत्तरी हुई है | कोविड 19 के बाद करोना वायरस फैलने से रोकने के लिए आरबीआई ने भी सभी बेकिंग यूजर्स को नोटिफिकेशन जारी करते हुए कहा है | कि जितना ज्यादा हो सके डिजिटल पेमेंट और ऑनलाइन पेमेंट का इस्तेमाल करे | 2016 में देश के कई बड़े बैंकों ने अपनी डिजिटल बैंकिंग और ऑनलाइन पेमेंट को बढ़ावा देने के लिए UPI यूपीआई यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफेस की सुविधा शुरू की थी | इसलिए पिछले कई वर्षो से डिजिटल लेन देन का स्तर काफी बढ़ चुका है |डिजिटल बैंकिंग क्या है Digital Banking Hindiअगर हम डिजिटल बेकिंग Digital Banking को आसान भाषा में कहे तो डिजिटल बैंकिंग हमारे ट्रेडिशनल  बैंकिंग का भी एक ही प्रकार है | जो लोगो को अपनी सेवाएं प्रदान करती है | बस डिजिटल बैंकिंग और बाकि बैंकों में यह फर्क होता है | कि डिजिटल बैंकिंग की कोई  फिजिकल ब्रांच नहीं होती है | यह पूरी तरह से ऑनलाइन होती है जिसका इस्तेमाल आप इंटरनेट के माध्यम से ही कर सकते है |इसे भी पढे :- फाइनेंसियल एडवाइजर कैसे बने |इस तकनीकी की मदद से बैंकों को ही ग्राहकों तक पहुंचाया जाता है | ऑनलाइन अकाउंट खुलवाने से लेकर लेन देन करने तक का इस्तेमाल डिजिटल बैंकिंग कहलाता है | डिजिटल बैंकिंग में इंटरनेट बैंकिंग Internet Banking , मोबाइल बैंकिंग Mobile Banking , यूपीआई UPI   एटीएम ATM , इत्यादि शामिल है | Digital Banking डिजिटल बैंकिंग में आपका बैंक हमेशा आपके साथ रहता है | आप जब चाहे अपनी मर्जी से इसका इस्तेमाल कर सकते है | और डिजिटल बैंकिंग की सभी सेवाओं का लाभ उठा सकते है |  डिजिटल बैंकिंग के आंकड़े वैसे तो देश में डिजिटल बैंकिंग Digital Banking की शुरुआत नोट बंदी के समय ही हो गई थी | लेकिन कोविड 19 ने तो इसे  पूरी तरह से बदल कर रख दिया है | क्योंकि ज्यादातर लोग ने  घरो से निकलना बंद कर रखा है | इसलिए वे अपने पैसो के लेंन देन करने के लिए डिजिटल बैंकिंग का इस्तेमाल ही कर रहे है |इसे भी पढे :- कॉर्पोरेट लॉयर कैसे बने |एक सर्वे के मुताबिक कोविड 19 के समय तीन चौथाई यूजर्स डिजिटल बैंकिंग का इस्तेमाल कर रहे है इसलिए 78 प्रतिशत अगले पांच महीनों में डिजिटल पेमेंट को जारी जारी रखना चाहते है |देश के सबसे बड़े बैंक आरबीआई ने पिछले वर्ष ये जानकरी दी थी कि उसका लक्ष्य 2021 तक डिजिटल लेन देन को दस प्रतिशत से बढ़कर 15 प्रतिशत तक का है इसे अलावा सरकार का डिजिटल लेन देन में रोजना एक अरब रूपये का लक्ष्य है ताकि ज्यादा से ज्यादा स्मर्टफ़ोन यूजर्स एक क्लिक में ही लेन देन  कर सके | इसे पढे :- मनी लेंडिंग मोबाइल ऐप्स लोन से कतई लोन न लें |कोर्स एवं योग्यता  Course and Qualificationअगर आप डिजिटल बैंकिंग Digital Banking के क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहते है तो आपको अपनी बारहवीं की परीक्षा  कॉमर्स विषय से पास करना अनिवार्य है | उसके बाद आप बैंकिंग और फाइनेंस से संबंधित कोई भी  डिग्री , डिप्लोमा या पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स कर सकते है | इन कोर्स के दौरान आपको डिजिटल बैंकिंग के तौर पर स्कोर बेस्ड लेंडिंग, ई-केवासी KYC , डिजिटल पेमेंट्स Digital Payments, कोलेबोरेट ऑफिस, वर्चुअल मीटिंग्स, एपीआई API , बैंकिग क्रिप्टो करेन्सी , साइबर फ्रॉड्स , एआई , इत्यादि जैसे विषय आपको पढ़ाये जाते है |  इसे पढे :- डीप लर्निंग तकनीक क्या है |क्योंकि डिजिटल बैंकिंग का सारा कार्य टेक्नोलॉजी से जुड़ा हुआ है | इसलिए आपको तकनीक का ज्ञान होना भी बेहद जरूरी है | इसके अलावा आपको कम्युनिकेशन स्किल्स , इंटरपर्सनल स्किल्स, सेल्स प्रोसेस, की अच्छी समझ होनी चाहिए ताकि आप अपने ग्राहकों को प्रभावित कर सके रोजगार के अवसर Job Opportunitiesआज के वर्तमान समय में ज्यादातर यूजर्स ऑनलाइन बैंकिंग का इस्तेमाल कर रहे है जिसके कारण देश के सभी बड़े से बड़े बैंक  अपने यूजर्स को ऑनलाइन बैंकिंग की सुविधा दे रहे है ताकि उन्हें किसी भी प्रकार की कोई समस्या न हो | जैसे कि एसबीआईSBI , एचडीएफसी बैंक HDFC, कोटक मेहन्द्रा बैंक, एक्सिस बैंक, आईसीआईसीआई बैंक ICICI Bank, पीएनबी बैंक PNB Bank इत्यादि | इसके बारे मे भी जानिए :- ई लर्निंग फ्रॉड से कैसे बचे ?यही नहीं मार्किट कमर्शियल बैंक के अलावा  कुछ ऑनलाइन बैंकिंग एक प्लेटफॉर्म भी कार्य कर रहे है जैसे कि फोन पे Phone Pe , पेटी-एम Paytm, गूगल पे Google Pay , अमेजॉन पे Amazon Pay इत्यादि जिनमे आप ऑनलाइन बैंकिंग Online Banking, डिजिटल पेमेंट Digital Payment, यूपीआई UPI , डिजिटल वॉले Digital Wallet जैसे सुविधाओं का लाभ उठा सकते है | इसे भी पढे : – सिम स्वाइप फ्रॉड क्या है |ऐसे आपके पास इन कम्पनियो में जॉब के अच्छे अवसर मौजूद रहते है आप इनमे से किसी भी कम्पनी में अपने पसंद के पद की जॉब आसानी से ढूंढ सकते है | अगर आपके पास बैंक सेक्टर की अच्छी जानकरी है तो आपको जॉब आसानी से मिल जाएगी |वेतन  Salaryअगर आप डिजिटल बैंकिंग में अपना करियर बनाते हो तो आपको शुरूआती दौर में ही 15 से 20 हजार रूपये तक की जॉब आसानी से मिल सकती है | और आगे चलकर  जब आपका इस क्षेत्र में अनुभव 5 से 7 वर्ष का हो जाता है | तब आपकी इनकम 50 से 60 हजार तक पहुंच सकती है | इस क्षेत्र में आपके पास शुरुआत से ही अलग से इंसेंटिव  कमाने का मौका भी होता है | जिससे आपकी इनकम में बढ़ोत्तरी हो जाती है |इसे भी जरूर पढे :- कपल चैलेंज के अनलाइन फ्रॉड का तरीका है |इस लेख में हमने आपको भविष्य के उभरते हुए करियर विकल्प डिजिटल बैंकिंग के बारे में संपूर्ण जानकरी दी है कि डिजिटल बैंकिंग क्या है और आप क्षेत्र में अपना करियर किस प्रकार बना सकते है ताकि आपको अपना करियर चुनने में किसी भी प्रकार की कोई समस्या न हो अगर आपको यह जानकारी पसंद आयी है तो आप अपनी राय हमे कमेंट बॉक्स में बता सकते है और इस जानकारी को दुसरो के साथ भी शेयर करे ताकि उन्हें भी इस बैंकिंग से जुड़े उभरते हुए करियर विकल्प के बारे में पता चल सके |करिअर , एजुकेशन और टेक्नोलॉजी से जुड़ी और भी अधिक जानकारी ले लिए आप हमारी वेबसाईट  Ultimate Guider पर भी विजिट कर सकते है | जहा पर आप करिअर से जुड़ी समस्याओ समाधान भी पूछ सकते है | 

फैशन डिज़ाइनर कैसे बने ! How to Become a Fashion Designer
 22 March 2021  

फैशन डिज़ाइनिंग की अगर बात की जाए तो हमारे देश में कुछ प्रसिद्ध फैशन डिज़ाइनर है | जिन्होंने इस क्षेत्र में अपनी एक अलग पहचान बनाई है | वे एक-एक ड्रेस को डिज़ाइन करने का लाखों रुपयों से लेकर करोड़ो रुपए तक भी चार्ज करते हैं ! भारत के मशहूर फैशन डिज़ाइनर मनीष मल्होत्रा, ऋतु बेरी, रोहित बल, सब्यसाची इत्यादि |ये जितने भी नाम मैंने आपको ऊपर बताएं यह सभी इसी क्षेत्र से करोड़पति बने हैं | इसलिए अगर आप भी एक Fashion Designer  बनना चाहते हैं ! तो इस क्षेत्र में कदम बढ़ा सकते हैं | इस लेख में हम आपको बताने वाले हैं कि कैसे आप आप एक अच्छे Fashion Designer बन सकते हैं | और आपको फैशन डिज़ाइनर बनने के लिए आपके पास क्या योग्यता और स्किल होनी चाहिए | इसलिए अगर आप  इस क्षेत्र में करियर बनाने की सोच रहे हैं तो इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें ! क्योंकि इस लेख हम वाले है की ,फैशन डिज़ाइनर कैसे बने how to become a fashion designer, fashion designer kaise bane ,या फिर फ़ैशन डिज़ाइनिंग कोर्स कैसे करे fashion designing me career kaise banayeफैशन बाजार Fashion Market फैशन की अगर बात की जाए तो आज के समय में दिन प्रतिदिन फ़ैशन की डिमांड बढ़ती जा रही है आपने नोटिस भी किया होगा कि जब आप बाजार में जाते हैं तो आपको नए-नए डिज़ाइन वाले कपड़े देखने को मिलते हैं | कुछ डिज़ाइन आपको अजीबोगरीब भी लगते हैं और कुछ अच्छे भी लगते होंगे | इन सभी को एक नए डिजाइन देने के कार्य  Fashion Designer फैशन डिज़ाइनर के द्वारा किया जाता है ! हर कोई अपने आप को दूसरे से बेहतर दिखाने बनाने के लिए अच्छे डिजाइन वाले कपड़े पहनना पसंद करता है |दुनिया में सबसे ज्यादा फैशन फिल्म इंडस्ट्री के अंदर देखने को मिलते  है | फैशन इंडस्ट्री में ऐसी ऐसी ड्रेस देखने को मिलती है | जिनका डिजाइन आम इंसान की सोच से बहुत अलग होता है  | फिल्म इंडस्ट्री में अगर फैशन की बात की जाए तो सबसे ज्यादा फैशनेबल ड्रेस एक्ट्रेस पहनती है | वे प्रत्येक पार्टी फंक्शन के लिए अलग-अलग डिजाइन वाली ड्रेस इस्तेमाल है |इसे भी पढे :- इंटीरियर डिज़ाइनर कैसे बनेजिनकी कीमत भी लाखों-करोड़ों में होती है और उन्हें वह सिर्फ एक बार इस्तेमाल करती है | दुनिया में सबसे ज्यादा फैशन फिल्म इंडस्ट्री से ही निकलते हैं चाहे वह हेयरस्टाइल हो या कपड़ों का फैशन हो ! इसी को देखते हुए फैशन एक उद्योग बनता जा रहा है |फैशन डिजाइनिंग में करियर शहरों में जिस रफ्तार से डिज़ाइनिंग स्टोर खुलते जा रहे हैं , उतनी ही तेजी से ग्राहकों मैं फैशनेबल कपड़ों की मांग बढ़ती जा रही है | बड़े-बड़े बिज़नेस इस क्षेत्र में आ चुके है | Ecommerce Companies  इस क्षेत्र में अपनी पकड़ मजबूत बना रही हैं | इसे देखकर आप अंदाजा लगा सकते है कि इस क्षेत्र में रोज़गार कितना बढ़ता जा रहा है |इसे भी पढे : – प्रोडक्ट डिज़ाइनर कैसे बने |फैशन डिज़ाइनिंग संबंधित कोर्स करने के बाद आप इस इस क्षेत्र में अपनी रुचि के अनुसार करियर बना सकते हैं | युवा ऐसिसरीज फुटवियर, कपड़ों का निर्माण, लेदर प्रोडक्ट डिज़ाइनिंग इत्यादि | इसका अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते हैं कि जैसे-जैसे नए-नए फैशनेबल गारमेंट्स की मांग बढ़ती जा रही है , उसी प्रकार से डिज़ाइनर की मांग बढ़ रही है | इस इंडस्ट्री में अपनी स्किल के आधार पर नौकरी प्राप्त कर सकते हैं  |फैशन डिजाइनिंग में करियर पद Lifestyle AccessoriesFootwear Fashion DesignerFashion Export Houses Garment ChainFashion MarketingDesigner ProductionDesigner Production ManagementFashion Media CommunicationQuality ControlFashion Graphic DesignerFashion ConsultantTechnical Fashion Designerइसे भी पढे :- ज्वेलरी डिजाइनिंग मे करिअर कैसे बनाए ?इसके अलावा अगर आप खुद का बिज़नेस करना चाहते हैं तो स्वयं का डिज़ाइनिंग स्टोर हाउस खोल सकते है | आजकल डिज़ाइनिंग का बाजार ऑनलाइन भी बढ़ता जा रहा है , जिसमें बहुत सारी कंपनियां Ecommerce Website के जरिए फैशनेबल गवर्नमेंट्स को ग्राहकों के घर पहुंचाने का कार्य कर रही है | योग्यता Qualification इस इंडस्ट्री में अगर आपके पास स्वयं का हुनर है तो आपको कोई नहीं हरा सकता या टैक्सटाइल डिज़ाइनिंग के कोर्स करके स्वयं को डिवेलेप करने वालो के लिए इस इंडस्ट्री में दिन-प्रतिदिन नौकरी के अवसर बढ़ते जा रहे हैं | जिसका फायदा आप ले सकते हैं | अगर आपके अंदर फैशन, कपड़ा,  ट्रेंड रंग इत्यादि की अच्छी समझ है | तो आप निश्चित होकर Fashion Designer के तौर पर अपना कैरियर बना सकते हैं | जो आने वाले समय में आपके अच्छे भविष्य का निर्माण कर सकता है |इसे भी पढे :- सेरेमिक इंजीनियर कैसे बने |इस क्षेत्र में कैरियर बनाने के लिए आपकी योग्यता इतनी मायने नहीं रखती जितनी आपकी क्रिएटिविटी रखती है | तभी आप किसी प्रोडक्ट को एक अच्छे डिज़ाइन दे पाओगे | डिज़ाइनिंग को लेकर आपका मस्तिष्क हर समय काम करता रहना चाहिए | जिससे नए-नए डिज़ाइन आपके मस्तिष्क में आते रहे और आप उनका एक्सपेरिमेंट करके एक अच्छे डिज़ाइनर बन सके | इसलिए अगर आप क्रिएटिव पर्सन है तो फैशन डिज़ाइनर का जॉब आपके लिए एक चकाचौंध वाला करियर है |  इसे भी पढे :- ऑनलाइन शॉपिंग सुरक्षा टिप्स जिनके बारे मे आपको जरूर जानना चाहिए |अगर डिज़ाइनिंग में योग्यता की बात करें तो एक अच्छा फैशन डिज़ाइनर बनने के लिए कम से कम 12th पास होना जरूरी है | उसके बाद आप अपने पसंद के अनुसार क्षेत्र में महारत हासिल कर सकते हैं | इस क्षेत्र में सर्टिफ़िकेट कोर्स से लेकर मास्टरस तक के कोर्स है | जिनको करके आप एक अच्छा Fashion Designer  बन सकते हैं | फैशन डिजाइनिंग से सम्बन्धी कोर्सेज B.Des in Textile DesignB.A in Fashion Styling and Image DesignB.A in Fashion Business ManagementB.Des in Fashion CommunicationB.Sc in Fashion Design KnitsB.A in Fashion DesigningB.A in Fashion Media CommunicationB.A (Hons) in Fashion Marketing and Retail ManagementB.Sc in Apparel Fashion DesignNational Institute of Fashion TechnologyNational Institute of DesignAmity School of Fashion TechnologyVogue Institute of Fashion TechnologyMasters in Fashion ManagementM.Des in Fashion and TextilesM.A in Fashion Retail ManagementM.A in Fashion and Textile MerchandisingMBA in Fashion ManagementMBA in Fashion Design and Business ManagementMBA in Fashion Merchandising and Retail Managementइसे भी जरूर पढे :- कपल चैलेंज के अनलाइन फ्रॉड का तरीका है |वेतन  Income इस क्षेत्र में ग्रेजुएशन करने के बाद आपकी स्किल के आधार पर आपको 20 से ₹25000 तक मिल जाते हैं जो किसी भी कार्य को करने की शुरुआत में एक अच्छी इनकम मानी जाती है | अगर आपको इस क्षेत्र में 4 से 5 वर्ष का अनुभव हो जाता है तो आपको 50 से ₹60000 रुपये प्रति माह तक की सैलरी मिल जाती है | अगर आपको इस क्षेत्र में हर प्रकार की जानकारी हो जाती है तो आप स्वयं का फैशन स्टोर डिज़ाइनिंग स्टोर इत्यादि खोल कर एक अच्छी इनकम भी कर सकते हैं  | इसे भी पढे : – विधार्थी के जीवन की कुछ बड़ी ग़लतियाँ जो किसी भी विधार्थी को नहीं करनी चाहिएदोस्तों इस लेख में हमने आपको एक उभरते हुए करियर विकल्प फैशन डिज़ाइनर के बारे में संपूर्ण जानकरी दी है | कि फैशन डिज़ाइनर कैसे बने या आप एक अच्छे फैशन डिज़ाइनर कैसे बन सकते है | अगर आपको ये जानकरी अच्छी लगी हो तो आप अपनी राय हमे बॉक्स में बता सकते है और इस जानकारी को दुसरो के साथ भी शेयर करे ताकि उन्हें भी इस महत्वपूर्ण करियर विकल्प के बारे में जानकरी पता चल सके 

हिंदी की लाइव न्यूज़ पाने केलिए बेहतरीन लाइव समाचारऐप
 2 March 2021  

आज के समय में ख़बरें देखने के लिए न्यूज़ पेपर और टीवी का इंतजार नहीं करना होगा। अब समय आ गया है समाचार ऐप लाइव का। हाथों में फोन हो तो पूरी दुनिया की खबरें आपकी मुट्ठी में समझो। समाचार ऐप लाइव ने अब हर खबर को आपके पास ला दिया है।जैसे हीकोई समाचार आया उस का नोटिफिकेशन आपके मोबाइल पर आ जाता है।आज हम आपको समाचारऐपलाइव के कुछ ख़ास मोबाइल ऐप के बारें में बताने जा रहे हैं। जिन्हें आप अपने फ़ोन में जरुर डाउनलोड कर के रखें, अगर आप देश दुनियां की खबरों में रूचि रखते हैं। इसके साथ ही यह ऐप उन लोगों के लिए भी बहुत फायदेमंद हैं जो किसी भी परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं। समय - समय पर उनका सामन्य ज्ञान अपडेट होता रहता हैं।चलिए जानते है कुछ हिंदीसमाचारऐप के बारें में जिनसे आप पा सकेंगेब्रेकिंगन्यूज़,ताज़ाहिंदीसमाचार औरताज़ाहिन्दीखबर वो भी कुछ ही समय के अंदर।दैनिक भास्कर ऐप - लाइव समाचारऐप की बात करें तो दैनिक भास्कर का नंबर सबसे पहले आता है।इस ऐप में आप वो सब पढ़ सकते हैं जिसमें आपकी रूचि है।इस ऐप पर आप ज्योतिष, सेहत, खेल, व्यापार, फैशन, मनोरंजन देश, विदेश और राजनीति से जुड़ीं हर छोटी-बड़ी हर ब्रेकिंगन्यूज़ को तुरंत पढ़ सकते हैं।इसके अलावा आप अपने आस-पास घट रही घटनाओं को भी आसानी से जान सकते हैं। बस आपको दैनिक भास्कर के लाइव समाचारऐप को अपने मोबाइल फोन में डाउनलोड करना है, और नोटिफिकेशन को ऑन करना है। ऐसा करते ही आप हरपल हर खबर पर नजर रख सकते हैं।गूगल न्यूज़ ऐप  - जैसा की आप सब जानते हैं गूगल एक सर्च इंजन भी है और साथ में लाइव समाचारऐप भी है। यह हिंदी के अलावा भी कई भाषाओं में समाचार देता है। गूगल न्यूज़ हर उस खबर को आप तक पहुचता हैं जो किसी भी वेबसाइट या वेब पोर्टल पर खबर के रूप में अपडेट होता हैं।यहाँ पर भी आप देश- विदेश में होने वाली घटनाओं को पढ़ सकते हैं।आप जी जगह रहते हैं उस एरिया की खबरे भी पढ़ सकते हैं। बस आपको गूगल न्यूज़ के लाइव समाचारऐप को अपने मोबाइल फोन में डाउनलोड करना है, और नोटिफिकेशन को ऑन करना है।डेली हंट / न्यूज़ हंट न्यूज़ ऐप  - 2007 में वीरेंद्रगुप्ता द्वारा डेली हंट को स्थापित किया गया था। डेली हंट वर्सइनोवेशन कम्पनी के अंतर्गत आता है। इसका मुख्यालय बैंगलोर में स्थित है। यहऐप 14 भारतीयभाषाओंमेंहै। लाइव समाचार पाने के लिए यह भी बहुत अच्छा है, पर इसके साथ यह समस्या है इसमें दिखाई जाने वाली कुछ खबरे भ्रामक भी हो सकती हैं। क्योकिं यह लोगों को अपना प्लेटफोर्म देता है खबर लिखने के लिए। जिसकी वजह से कुछ खबरें भ्रामक भी होती है। आपको अपने विवेक का इस्तेमाल करके सही गलत का फैसला करना होता है।बस आपको डेली हंट के लाइव समाचारऐप को अपने मोबाइल फोन में डाउनलोड करना है, और नोटिफिकेशन को ऑन करना है।

Beoken heart on valentine's...💔💔💔💔
 3 February 2021  
Art

आधा खवाब आधा इशक़ आधी सी है जिंदगिमेरे हो ,और मेरे नही, ये कैसी है जिन्दगीदिल के सारे अरमाँ तो तुमने ही जगाया थाप्यार ना तो भी तुमने ही सिखायापर तुमने कभी ये नी बताया की तुम्हे भरोसा तोड़ना भी आता,दिल तोड़ना भी आता है और ऊसटुटे दिल के साथ खेलना भी आता हैबड़ी सिधत से मै अपना प्यार निभाए जा रहि थीतम्हारि काहि हर एक बात को आपनये जा रहि थीतूम भी तो खुब प्यार जता रहे थेपूरे जमाने को हमारे प्यार की कहानी बताये जा रहे थेफ़िर आचनक ऐसा क्या हुआक्या हुआ जो हमारा दिल टुट गया और तुम्हे एक नया खिलौना मिल गयाखैर अब जब मेरा दिल टुट ही गया है तो मै क्या करूँ इस टुटे दिल कातूम तो जा रहे हो इसे भी साथ लेते जाओतुम बताना भुल गये हो पर मैने सुना है तुम engineer होतुम्हे टूटी चीजो को जोडना अच्छी तरीके से आता है ।अच्चा सुनो हो सके तो वो सारे वादे जब यादद आयेसाथ बिताये लम्हे जब सताये,तो बेजिझ्क वापस चले आनामै तो आज भी नी जाना चाह्ती पर जाना हैक्योकी तुम मेरे हो, और मेरे नहीबड़ा खुबसूरत था ये सफर ऊस फ़रवरी से इस फ़रवरी तक कामुस्कुराहट छिपाने से अस्क छिपाने तक कातेरे वॉट्सएप्प स्टेटस पर  मेरी फोटो रहने से अपने डीपी रेमोवे करने तक काप्यार की अनजान राहो से दोस्ती की जान पहचान बन ,जान बन कर अनजान बन जाने काइशक़ की छाव मे बिछी आशुओ की खुमरी काबड़ा खुबसूरत सा सफर था हमाराKumkum sinha