Home
Quotes New

Audio

Forum

Read

Contest


Write

Write blog

Log In
CATEGORIES
हिंदी की लाइव न्यूज़ पाने केलिए बेहतरीन लाइव समाचारऐप
 2 March 2021  

आज के समय में ख़बरें देखने के लिए न्यूज़ पेपर और टीवी का इंतजार नहीं करना होगा। अब समय आ गया है समाचार ऐप लाइव का। हाथों में फोन हो तो पूरी दुनिया की खबरें आपकी मुट्ठी में समझो। समाचार ऐप लाइव ने अब हर खबर को आपके पास ला दिया है।जैसे हीकोई समाचार आया उस का नोटिफिकेशन आपके मोबाइल पर आ जाता है।आज हम आपको समाचारऐपलाइव के कुछ ख़ास मोबाइल ऐप के बारें में बताने जा रहे हैं। जिन्हें आप अपने फ़ोन में जरुर डाउनलोड कर के रखें, अगर आप देश दुनियां की खबरों में रूचि रखते हैं। इसके साथ ही यह ऐप उन लोगों के लिए भी बहुत फायदेमंद हैं जो किसी भी परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं। समय - समय पर उनका सामन्य ज्ञान अपडेट होता रहता हैं।चलिए जानते है कुछ हिंदीसमाचारऐप के बारें में जिनसे आप पा सकेंगेब्रेकिंगन्यूज़,ताज़ाहिंदीसमाचार औरताज़ाहिन्दीखबर वो भी कुछ ही समय के अंदर।दैनिक भास्कर ऐप - लाइव समाचारऐप की बात करें तो दैनिक भास्कर का नंबर सबसे पहले आता है।इस ऐप में आप वो सब पढ़ सकते हैं जिसमें आपकी रूचि है।इस ऐप पर आप ज्योतिष, सेहत, खेल, व्यापार, फैशन, मनोरंजन देश, विदेश और राजनीति से जुड़ीं हर छोटी-बड़ी हर ब्रेकिंगन्यूज़ को तुरंत पढ़ सकते हैं।इसके अलावा आप अपने आस-पास घट रही घटनाओं को भी आसानी से जान सकते हैं। बस आपको दैनिक भास्कर के लाइव समाचारऐप को अपने मोबाइल फोन में डाउनलोड करना है, और नोटिफिकेशन को ऑन करना है। ऐसा करते ही आप हरपल हर खबर पर नजर रख सकते हैं।गूगल न्यूज़ ऐप  - जैसा की आप सब जानते हैं गूगल एक सर्च इंजन भी है और साथ में लाइव समाचारऐप भी है। यह हिंदी के अलावा भी कई भाषाओं में समाचार देता है। गूगल न्यूज़ हर उस खबर को आप तक पहुचता हैं जो किसी भी वेबसाइट या वेब पोर्टल पर खबर के रूप में अपडेट होता हैं।यहाँ पर भी आप देश- विदेश में होने वाली घटनाओं को पढ़ सकते हैं।आप जी जगह रहते हैं उस एरिया की खबरे भी पढ़ सकते हैं। बस आपको गूगल न्यूज़ के लाइव समाचारऐप को अपने मोबाइल फोन में डाउनलोड करना है, और नोटिफिकेशन को ऑन करना है।डेली हंट / न्यूज़ हंट न्यूज़ ऐप  - 2007 में वीरेंद्रगुप्ता द्वारा डेली हंट को स्थापित किया गया था। डेली हंट वर्सइनोवेशन कम्पनी के अंतर्गत आता है। इसका मुख्यालय बैंगलोर में स्थित है। यहऐप 14 भारतीयभाषाओंमेंहै। लाइव समाचार पाने के लिए यह भी बहुत अच्छा है, पर इसके साथ यह समस्या है इसमें दिखाई जाने वाली कुछ खबरे भ्रामक भी हो सकती हैं। क्योकिं यह लोगों को अपना प्लेटफोर्म देता है खबर लिखने के लिए। जिसकी वजह से कुछ खबरें भ्रामक भी होती है। आपको अपने विवेक का इस्तेमाल करके सही गलत का फैसला करना होता है।बस आपको डेली हंट के लाइव समाचारऐप को अपने मोबाइल फोन में डाउनलोड करना है, और नोटिफिकेशन को ऑन करना है।

Beoken heart on valentine's...💔💔💔💔
 3 February 2021  
Art

आधा खवाब आधा इशक़ आधी सी है जिंदगिमेरे हो ,और मेरे नही, ये कैसी है जिन्दगीदिल के सारे अरमाँ तो तुमने ही जगाया थाप्यार ना तो भी तुमने ही सिखायापर तुमने कभी ये नी बताया की तुम्हे भरोसा तोड़ना भी आता,दिल तोड़ना भी आता है और ऊसटुटे दिल के साथ खेलना भी आता हैबड़ी सिधत से मै अपना प्यार निभाए जा रहि थीतम्हारि काहि हर एक बात को आपनये जा रहि थीतूम भी तो खुब प्यार जता रहे थेपूरे जमाने को हमारे प्यार की कहानी बताये जा रहे थेफ़िर आचनक ऐसा क्या हुआक्या हुआ जो हमारा दिल टुट गया और तुम्हे एक नया खिलौना मिल गयाखैर अब जब मेरा दिल टुट ही गया है तो मै क्या करूँ इस टुटे दिल कातूम तो जा रहे हो इसे भी साथ लेते जाओतुम बताना भुल गये हो पर मैने सुना है तुम engineer होतुम्हे टूटी चीजो को जोडना अच्छी तरीके से आता है ।अच्चा सुनो हो सके तो वो सारे वादे जब यादद आयेसाथ बिताये लम्हे जब सताये,तो बेजिझ्क वापस चले आनामै तो आज भी नी जाना चाह्ती पर जाना हैक्योकी तुम मेरे हो, और मेरे नहीबड़ा खुबसूरत था ये सफर ऊस फ़रवरी से इस फ़रवरी तक कामुस्कुराहट छिपाने से अस्क छिपाने तक कातेरे वॉट्सएप्प स्टेटस पर  मेरी फोटो रहने से अपने डीपी रेमोवे करने तक काप्यार की अनजान राहो से दोस्ती की जान पहचान बन ,जान बन कर अनजान बन जाने काइशक़ की छाव मे बिछी आशुओ की खुमरी काबड़ा खुबसूरत सा सफर था हमाराKumkum sinha

कब रुकेगा सिलसिला ये कन्या भ्रूण हत्या का?
 1 October 2020  

सदियां बीत गयी लेकिन अगर कुछ नहीं बदला तो वो है स्त्री के अस्तित्व की लड़ाई। सदियों से स्त्री की भोग विलास की वस्तु समझते आ रहें हैं , हालांकि बहुत सी वीरांगनाओं ने अपनी प्रतिभा से खुद को साबित किया है। अपने अस्तित्व के साथ सभी नारियों के अस्तित्व की रक्षा की है परन्तु वर्तमान में तो हालात बद से बद्तर हो चले हैं। अब तो कन्या भ्रूण हत्या का नया चलन चल गया है। आजकल तो लोग अत्याधुनिक वैज्ञानिक तकनीक से कोख में पल रहे बच्चे का लिंग पता करवा लेते हैं और उन्हें जैसे ही पता चलता है कि उनके होने वाले बच्चे का लिंग स्त्रीलिंग है तो वो उसे कोख में ही मार देते हैं। गर्भावस्था की चिकित्सा समाप्ति पर भारत में 1971 में निश्चित शर्तो के साथ प्रतिबंध लगा दिया गया था और अभी हाल में ही 1971 के गर्भावस्था समाप्ति के कानून के संसोधन की भी मंजूरी दी गई है। खास बात ये है कि इतना सबकुछ होने के बाद भी कन्या भ्रूण हत्या का धंधा जोरों पर है। सारे डाॅक्टर अपने अस्पताल में मोटे अक्षरों में लिखवाकर रखते हैं कि उनके यहां लिंग की जांच कराना मना है लेकिन सच्चाई कुछ और ही है। आज भी कई अस्पतालों में धड़ल्ले से लिंग की जांच के साथ कन्या भ्रूण हत्यायें हो रही हैं। मैं खुद गवाह हूं इस घिनौनी सच्चाई की।कई बार देखा है अपने आसपास इस घिनौने कृत्य को होते हुए। कई बार कोशिश भी की विरोध में आवाज उठाने की और उठाई भी मगर समाज के कुछ बड़े लोगों ने अपनी पहुंच से मेरी आवाज़ दबा दी परन्तु मेरे प्रयासों में कभी कमी नहीं आयेगी। मेरी एक सहेली ने मुझे बताया कि उसके चाचा के एक लड़की थी और दूसरा बच्चा उन्हें लड़का चाहिए था जिसके लिए उन्होंने लगातार 3 कन्या भ्रूण हत्यायें की 😭 और आखिर में हारकर अस्पताल में बच्चा बदल लिया। मुझे ये सुनकर तब ज्यादा हैरानी हुई जब पता चला कि इन सब कुकृत्यों में बच्चे की मां की सहमति ज्यादा थी। इस घटना के कुछ दिन बाद ही उसने मुझे बताया कि उसके छोटे चाचा ने भी वहीं घटनाक्रम दोहराया 😡। मैं स्तब्ध थी कि ये सब हो करता रहा है । फिर हम दोनों ने मिलकर उस डॉक्टर का पता लगाने की बहुत कोशिश की ताकि हम उसके खिलाफ कार्रवाई करवा सके।हम इस कार्य में सफल होने ही वाले थे कि हमारे सामने ऐसा सच आया जिसकी हम सपनें में भी कल्पना नहीं कर सकते थे, मेरी सहेली के पिता इन सब में शामिल थे । उन्होंने हम-दोनों को धमकी दी कि हम कुछ न करें और मेरे घर पर भी शिकायत की मेरी और ये सिलसिला वहीं रुक गया मगर मेरे प्रयास जारी रहेंगे। मैं जानती हूं कि जितनी देर में मैं यह लेख लिखूंगी उतनी देर में हजारों बच्चियां काल के गाल में चली जायेंगी और अगर कोख से बच आयीं तो समाज के कुछ दरिंदों के हाथों बलि चढ़ जायेंगी क्योंकि आजकल तो बच्चियों का गैंगरेप जोरों पर है और सरकारें चुप बैठी रहती हैं चुनाव आने तक। खैर मैं बस इतना कहना चाहती हूं कि हमें अपने अस्तित्व के लिए खुद ही आवाज उठानी होगी और जब तक एक नारी दूसरी नारी के प्रति दयावान नहीं होगी तब तक कुछ नहीं हो सकता। सभी नारियों को एक-दूसरे को सम्मान और सहयोग देना ही इस समस्या का समाधान है।     धन्यवाद ्््््््््््््््््््््््््््््््््््््््््््््््््््््््

फाफ डु प्लेसिस ने आईपीएल 2020 में मुंबई इंडियंस की पारी के दौरान तीन अच्छे कैच पकड़े।
 19 September 2020  

आज दुबई में आईपीएल मैचों की शुरुआत हो चुकी है जहां पहला मैच मुंबई इंडियंस और चेन्नई सुपर किंग्स के बीच होना था। जहां सभी इस मैच को मनोरंजन के रूप में देख रहे है वही हम स्पोर्ट्स ऑवर की तरफ से कुछ विशेष घटनाओ पर चर्चा करेंगे।  आईपीएल 2020 संस्करण के शुरुआती खेल में  एमएस धोनी की अगुवाई वाली टीम चेन्नई सुपर किंग्स (सीएसके), और डिफेंडिंग चैंपियन रोहित शर्मा की अगुवाई वाली मुंबई इंडियंस (एमआई) के लिए भी ऐसा ही कुछ हुआ।मैच की शुरुआत में सिक्का टॉस जीतने के बाद, एमआई के सलामी बल्लेबाजों ने उड़ान की शुरुआत की। हालांकि, अबू धाबी में विपक्ष की प्रगति को पटरी से उतारने के लिए पीयूष चावला, सैम क्यूरन और रवींद्र जडेजा ने नियमित रूप से सफलता का हिसाब लगाया। दक्षिण अफ्रीका के पूर्व कप्तान फाफ डु प्लेसिस के मैदान में विद्युतीकरण की प्रक्रिया में सीएसके के विकेट लेने वालों की मदद की गई।36 वर्षीय, MI की पारी के दौरान चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाडी लाडिंग डु प्लेसिस तीन शानदार कैच लेकर लौटे, अपनी जबरदस्त फिटनेस से सीमा की रस्सी पर मन की उपस्थिति को प्रदर्शित किया। अपने क्षेत्ररक्षण के लिए लाडिंग डु प्लेसिस, जिसने सीएसके को खेल में वापस ला दिया और एमआई को 9 के लिए 162 तक सीमित कर दिया, फ्रेंचाइजी के आधिकारिक ट्विटर हैंडल ने अपने नवीनतम पोस्ट पर लिखा, "ईमानदारी से, यकीन नहीं होता कि यह पहला लड्डू या दूसरा लड्डू था। ..लेकिन लड्डू के लड्डू का भोग! # भोले ने हमें खेल में वापस ला दिया!इस मैच को विस्तार से जानने क लिए आप Sportshour वेबसाइट पे जा सकते है।  जहां हमारे स्पोर्ट्स लेखक आपको पूरी और सच्ची न्यूज़ देने क लिए दिन रात जागरूक रहते है, sports hour हिंदी न्यूज़ वेबसाइट है।  जिसके कारण आपको इसे समझने में आसानी होगी।

IPL 2020 मे बढ़ती सट्टेबाज़ी को रोकने के लिए भारतीय क्रिकेट बोर्ड ने किये ख़ास उपाय
 17 September 2020  

भारत में मशहूर व एक त्यौहार की तरह मनाया जाने वाले PL 2020 की शुरुआत हो गयी 13 वा सन का आईपीएल जिसकी खेले जाने की उम्मीद covid -19 में नामुमकिन थी  अब 2 दिन बाद 19-9-2020 को दुबई में खेला जाने वाला हैं  भारत में आईपीएल को कम समय में बेहतरीन बल्लेबाज़ और गेंदबाजी के लिए पसंद किया जाता हैं  वही इसका दूसरा रूप सट्टेबाज़ी वाला भी है जो आज  के युवकों में बड़ी जोर शोर  में अपनी जगह बना रहा है। तेज़ी  से पैसा कमाने की लालच  में आज के युवको को सट्टेबाज़ी और जुआ घर की तरफ ले जा रही है।  जिसको रोकने के लिए भारतीय क्रिकेट बोर्ड bcci  ने ब्रिटेन में स्थिति कंपनी  स्पोर्ट्स रैदार के साथ करार किया हैं  जो  धोखाधड़ी जांच प्रणाली fdsk के जरिये सेवाएं देगी।  IPL का 13 वा  स्तर covid-19 के कारण खाली स्टेडियम में खेला जा रहा है  ऐसे में bcci की और से अजित सिंह के लिए ACU के साथ मिलकर  भ्रष्टाचार और सट्टेबाज़ी को रोकना एक बड़ी चुनौती है.कुछ समय पहले गँवा में खेले गए फुटबॉल लीग में स्पोर्टरडार कि अहम भूमिका के कारण उन्हें ipl 2020 में भ्रष्टाचार को रोकने के लिए स्पोर्टरडार  को चुना गया स्पोर्ट्स रैदार ने फूटबाल लीग के आधा दर्जन मैचों को संदेय के घेरे मे रखा  और स्पोर्टरडार ने FIFA, UAF, और विश्व भर की विभिन्न लिग के साथ काम किया है।स्पोर्टरडार का मानना है की वह मैचों के दौरान होने वाले धोखाधड़ी जांच प्रणाली FDS एक विशेष सेवा है, जो सट्टेबाज़ी से संबंधित हेराफेरी का पता लगाती हैं और यह इस्सलिय भी संभव हो पता हैं  क्योंकि अब FDS के पास मैच फिक्सिंग के उद्देश्य से लगाई जाने वाली बोलियों को समझने के लिए उपयुक्त साधन हैं  IPL 2020 में खेले जाने वाले हर मैच की जानकारी आप सब को Sports Hour वेबसाइट पे मिल जाएगी  जहां हमारे सभी लेखक आपको मैचों से जुड़ी जानकारी अपने  आर्टिकल  के माघ्यम से देंगे  आप Sportshour पर मैचों के अलावा खिलाड़ियों के जीवन में घट रही सभी अच्छी और बुरी घटनाओं का अध्ययन कर सकते हैं