Image

" लंगोट चोरी पर "सी .बी .आई."जाँच "

        

                    व्यंग्यात्मक अभिव्यक्ति

                     ******************

मंत्री जी की लंगोट चोरी हो गयी ! .....सारे सुरक्षा कर्मियों को युध्य स्तर पर पता लगाने का आदेश दिया गया !...... फिर क्या था ....ढूंढने का काम प्रारंभ हो गया ! .....चारों तरफ अफरातफरी मच गयी ! .....बात सारे राज्यों में फैल गयी ! ....मिडिया ने भी जम के अपनी सुर्खियाँ बटोरी ! आखिर टी.आर .पी. की जो बात ठहरी ! .....राज्यों में खलबली मच गयी ! .....पार्टी समर्थकों ने जगह -जगह जुलुस निकाला ! ......नारे बुलंद होने लगे ....." मंत्री जी का लंगोट वापस दो ..वापस दो "........हरेक चौक चौराहे पर सभाएं की गयी !.... सारा राज्य दो दिनों के लिए बंद बुलाया गया ! ....आखिर यह सुरक्षा का प्रश्न था ! धीरे -धीरे यह धार्मिक मामला बन गया ! क्योंकि लगोट का रंग गेरुआ जो था ! .....धर्म युध्य प्रारंभ हो गया ! लोग मरने लगे !...... राज्य के काम मानो ठप्प पड़ गए !..बातें केंद्र तक पहुंची तो प्रधान मंत्री कार्यालय से गृह मंत्रालय को आदेश मिला कि "हालत को काबू किया जाय "! ....आनन् फानन में सी.बी.आई. को जाँच करने का आदेश दिया गया !..... पार्टी समर्थकों को मनाया गया और आश्वासन दिया गया कि सी.बी.आई. १५ दिनों के अन्दर लंगोटे का पता लगाएगी ! ..बस फिर एक बार सी.बी.आई.के दस्तों ने युध्य स्तर पर इन्वेस्टीगेसन करना शुरू किया !...अंत में रिपोर्ट आयी ...." लंगोट की चोरी नहीं हुयी थी ..लंगोट तो मंत्री जी खुद भूल गए थे ...पंद्रह दिनों से वही लंगोट मंत्री जी खुद पहने हुए थे !

==========================

डॉ लक्ष्मण झा " परिमल "