Image

आखिर मानवजाति की अंधाधुंध लापरवाही का खामियाज़ा भुगतने का वो मनहूस दिन भी आ ही गया जब गलत तरीके से पर्यावरण के संसाधनों का इस्तेमाल हम लोगों ने किया और हमारा पृथ्वी ग्रह पूरी तरह से नष्ट हो गया | 


वर्ष 3021 की नई सदी ....

चारों तरफ हाहाकार मचा था कि अब से कुछ ही क्षणों बाद पृथ्वी ग्रह नष्ट हो जायेगा | सौभाग्यवश मैं भी उन कुछ लोगों में से एक थी ज़िन्हे वहाँ घूम रहे स्पेसशिप ने बचा लिया था और किसी ऐसे नए ग्रह पर पहुँचा दिया जहाँ पृथ्वी ग्रह की ही तरह मानव जीवन संभव था | वहाँ पहुँचकर अनायास ही मेरे मुख से ये पंक्तियाँ निकल उठीं -


खूबसूरत से इस नवग्रह को ,

चलो धरा से भी सुन्दर बनायें ,

कूड़ा-करकट , पॉलिथीन ना फैला ,

मानव जाति का संसार बचायें ||

 

3021 में नए ग्रह पर आने से मैं जहाँ एक और तो अपने लोगों को खो देने से दुखी थी वहीं दूसरी ओर यहाँ रह रहे नए लोगों की सोच को देख कर हैरान जो इस ग्रह को बचाने के लिए जी जान से लगे थे | मैं भी उनके इस अभियान में शामिल हो गई और अपना योगदान कुछ इस तरह से वहाँ देने लगीं -


1. पानी - सबसे पहले जल की समस्या को ही दूर करना था  | हर बार फ्लश में कम से कम 1.6 लीटर पानी का इस्तेमाल होता था जिसके लिए शौचालय में ड्यूल सिस्टम लगाकर हमने कई गैलन पानी रोज़ाना बचाया | साथ ही आरओ प्यूरीफायर से बेकार होने वाला पानी का इस्तेमाल पौधों को पानी देने, बर्तन धोने, फर्श पौंछने या कार धोने में किया गया जिससे रोज़ाना 100 लीटर से अधिक पानी की बचत हुई |


2. कचरा - गीले कचरा में 80 फीसदी की कम्पोस्टिंग कर बड़ी मात्रा में ऑर्गैनिक खाद बनाई और सूखे कूड़े जैसे बोतलों, शॉपिंग बैग का इस्तेमाल विभिन्न विकल्पों के रूप में किया गया जैसे बैम्बू ब्रश, प्लास्टिक कटलरी आदि। 


3. ऊर्जाः सौर उर्जा ने हमारे घर एवं बाहर कार्बन फुटप्रिंट को कम किया और हमने सोलर हीटर, सोलर इन्वर्टर और सोलर कुकर के इस्तेमाल द्वारा जलवायु परिवर्तन के मनुष्य पर प्रभाव को कम करने में योगदान दिया |


4. भोजनः  धरती पर हरी सब्ज़ियों में भी हानिकर रसायन और प्रदूषक छिपे थे इसलिये नवग्रह पर अपने घर की बालकनी में छोटा सा बगीचा बनाकर वहाँ फल सब्ज़ियां उगाईं और उसे बचाया |


5. घरः कंक्रीट के घर हमारी धरती के लिए बड़ा खतरा बने थे इसी वजह से यहाँ इको हाउस बनाये गए जो पर्यावरण के लिए अनुकूल थे और जिन्होने ग्लोबल वॉर्मिंग को कम किया |


इस तरह हमने अपने आस पास मौजूद पांच महत्वपूर्ण तत्वों यानी पानी, कचरा, उर्जा, भोजन और घर से अपने पर्यावरण में  बड़ा बदलाव ला दिया और उस नए ग्रह को तबाह होने से बचा लिया  ||