Image

कारोबार के विस्तार करने के लिए बिजनेस लोन एक शानदार विकल्प होता है। बिजनेस लोन की मदद से एमएसएमई कारोबारी अपने कारोबार का वर्किंग कैपिटल आसानी के साथ मैनेज कर पाने में सक्षम हो पाते है। वर्तमान समय में लगभग सभी बैंको से और एनबीएफसी कंपनियों से बिजनेस लोन आसानी से मिल जाता है। 

लेकिन, इसका यह मतलब नहीं होता है कि किसी भी बैंक या एनबीएफसी से एमएसएमई लोन के तौर पर बिजनेस लोन ले लेना चाहिए। ऐसा करने से कारोबारी को आगे चलकर कई तरह की दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। इसीलिए बिनजेस लोन का चुनाव करते समय कुछ महत्वपूर्ण बातों पर गंभीरता से विचार करना आवश्यक होता है। 

बिजनेस लोन की ब्याज दर कितनी है? 

लोन एक फाइनेंनशियल प्रोडक्ट होता है। इसलिए बिजनेस लोन पर ब्याज लागू होती है। अगर बिजनेस लोन अधिक ब्याज पर मिल रहा है, तो इसका अर्थ यह होता है कि आपको बहुत अधिक रकम ब्याज के  रुप में चुकाना पड़ सकता है। 

इसका विकल्प यह होता है कि बिजनेस लोन के लिए अप्लाई करने से पहले ही लोन कंपनी या बैंक से बिजनेस लोन की ब्याज दर के संबंध में जानकारी प्राप्त कर लें। इससे यह फायदा होता है कि आप बाद में होने वाली कठिनाइयों से बच सकते हैं। 

बिजनेस लोन प्री-पेमेंट चार्जेस फ्री होना चाहिए 

कारोबार में पैसा आता और जाता रहता है। इसलिए बिजनेस लोन वहीं से लेना चाहिए, जहां पर फोर क्लोजर चार्जेस फ्री यानी प्री-पेमेंट चार्जेंस फ्री मिले। इससे यह फायदा होगा कि आपके हाथ में जब पैसा आयेगा तब आप चाहें तो बिजनेस लोन को इक्कठे वापस कर सकते हैं और अतिरिक्त ब्याज से बच सकते हैं। 

बिजनेस होना चाहिए बिना कुछ गिरवी रखे 

कारोबार के लिए लोन कभी भी प्रॉपर्टी गिरवी रखकर नहीं लेना चाहिए। इससे यह फायदा होता है आपकी प्रॉपर्टी किसी कंपनी या बैंक के पास बंधक होने से बच जाती है। दूसरा बड़ा फायदा यह है कि अगर आप एमएसएमई लोन को चुकाने में विफल हो जाते हैं तो भी आपकी प्रॉपर्टी बची रह सकती है। क्योंकि भारत सरकार और सिबडी के सहयोग से चल रही क्रेडिट गारंटी योजना के द्वारा आपके एमएसएमई लोन का 60 प्रतिशत तक का लोन सिबडी भर सकता है। इसलिए जब भी बिजनेस लोन लेना हो, तो बिना कुछ गिरवी रखे ही बिजनेस लोन लेना ठीक होता है। 

बिजनेस लोन की पात्रता आसान होना चाहिए 

अगर बिजनेस लोन की पात्रका कठिन होगी तो बिजनेस लोन प्राप्त करना लोहे के चने चबाने जितना कटिन हो जाएगा। इसलिए उसी बैंक या एनबीएफसी से बिजनेस लोन लेना ठीक होता है, जहां पर आसान पात्रता पर बिजनेस लोन सहज मिल जाता है। 

बिजनेस लोन के लिए कम कागजातों की मांग होना चाहिए 

अगर बिजनेस लोन के लिए बहुत अधिक कागजातों की मांग होती है, तो कारोबारी कागजात इक्कठा करने में परेशान हो सकते हैं। वह अपने बिजनेस पर ध्यान ही नहीं दे पाएंगे। इसलिए बिजनेस लोन उसी कंपनी या बैंक से लेना ठीक होता है, जहां पर सिर्फ बेसिक कागजातों की मांग की जाती है।   

बिजनेस लोन के लिए सबसे अच्छा विकल्प 

फाइनेंस मार्केट में वैसे तो बहुत सी एनबीएफसी और बैंक हैं, जहां से व्यापारियों को लोन मिलता है। लेकिन देश की प्रमुख एनबीएफसी ZipLoan कंपनी बाकियों से जरा अलग है। क्योंकि यहां पर एमएसएमई व्यापारियों को बहुत ही आसान तरिके से 7.5 लाख रुपये तक का बिजनेस लोन, सिर्फ 3 दिनों* में मिलता है। खास बात यह है लोन के लिए बहुत ही बेसिक कागजातों की आवश्यकता होती है और लोन का सभी प्रोसेस ऑनलाइन होता है।