Image

बिजनेस चलाने के लिए पैसों की जरूरत होती है। बिजनेस में वन टाइम इंवेस्टमेंट नहीं होता है। व्यवसाय चलाने के लिए लगातार धन चाहिए होता है। ऐसे में जब बिजनेस की जरूरतों को पूरा करने के लिए पैसों की जरूरत पड़ती है तो बड़े व्यापारी अपने सुरक्षित फंड का उपयोग कर लेते हैं। 

समस्या एमएसएमई व्यापारियों के साथ आती है। क्योंकि इनके पास उतना ही फंड होता है, जितने से बिजनेस चलने में कोई रुकावट न आये। ऐसे में जिन कारोबारियों के पास कम पूंजी होती है, उनके लिए बिजनेस लोन लेना आवश्यक हो जाता है। बिजनेस लोन की सहायता से कारोबारी अपने कारोबार की दैनिक जरूरतों को पूरा करने में आसानी हो जाती है।  

व्यवसाय का विस्तार कर सकते हैं 

कई कारोबारी ऐसे होते हैं, जो अपना कारोबार छोटे स्केल पर तो शुरु कर देते हैं, लेकिन समय के साथ अपना बिजनेस बढ़ाने का भी विचार करते रहते हैं। ऐसे में कारोबार का विस्तार करने के लिए सबसे पहली शर्त होती है “ आवश्यक धन होना ”।  

यहां पर जिन कारोबारियों के पास पर्याप्त धन होता है, उनके लिए तो दिक्कत की कोई बात नहीं होती है। लेकिनजिन कारोबारियों के पास आवश्यक धन उपलब्ध नहीं होता है, उनके लिए अपना बिजनेस बढ़ाना मुश्किल हो जाता है। ऐसी स्थिति में काम आता लाइन ऑफ क्रेडिट।  

अगर कोई बिजनेसमैन अपने पुराने कारोबार को बढ़ाना चाहता है तो वह बिजनेस लोन का बहुत बेहतरीन उपयोग कर सकता है। बिजनेस लोन के धन को वह अपने कारोबार के विस्तार में लगने वाले खर्च के रूप में कर सकता है। 

बिजनेस का वेंचर शुरु कर सकते हें  

अगर आपका पहले ही कोई कारोबार/दुकान हैजो अच्छी चल रही हो। अगर आप अपने दुकान की ब्रांच दुसरे जगहों पर भी खोलना चाहते है लेकिन पैसो की कमी हो रही है तो यहां आपकी मदद करेगा ‘बिजनेस लोन’। आप लोन की मदद से अपनी अपनी दुकान शुरू कर सकते हैफिर लोन की रकम वापस कर सकते है। अगर आपका कारोबार 2 साल से पुराना है और सालाना टर्नओवर 10 लाख रुपये से अधिक है आप ZipLoan से 7.5 लाख का बिजनेस लोन बहुत आसानी से प्राप्त कर सकते हैं। इसी के साथ आपको जानकारी के लिए बता दें कि ZipLoan द्वारा बिजनेस के नित खर्चों को पूरा करने के लिए लाइन ऑफ क्रेडिट भी प्रदान किया जाता है। जिसमें सिर्फ उपयोग हुई धनराशि पर ही ब्याज देना होता है। 

वर्किंग कैपिटल में मैनेज करने में सहायक 

सभी बिजनेस में हर रोज की कुछ जरूरतें होती है। बिजनेस की दैनिक जरूरतों में कोई उपकरण खरीदना हो सकता है या कोई कर्मचारी नौकरी पर रखना हो। बिजनेस लोन का उपयोग कारोबारी अपने कारोबार के इन्वेंट्री समानों खरीदने में कर सकते हैं । बिजनेस लोन की रकम से नए कंप्यूटरनए फर्नीचरनए डेस्कके साथ ही चाहे तो ग्राहकों की सुविधा के लिए कुछ सामान बढ़ा सकते है। 

इनकम टैक्स बचाने में सहायक  

बिजनेस के लिए लिए जाने वाले बिजनेस लोन पर सरकार टैक्स में छूट प्रदान करती है। इनकम टैक्स भरने के छूट का फायदा इनकम टैक्स रिटर्न दाखिल करते समय उठाया जा सकता है।