Image

पिछले कुछ वर्षो से  कानून के क्षेत्र में युवाओ की दिलचस्पी काफी बढ़ी है क्योकि इस क्षेत्र आप अच्छी इनकम कमाने के साथ साथ अपनी एक अलग पहचान भी बना सकते है और इस क्षेत्र में युवाओ के लिए अच्छे करियर विकल्प भी मौजूद है | इसलिए आज हम आपको इस लेख में  कानून  से जुड़े एक ऐसे  करियर विकल्प के बारे में बताने वाले है  जिसकी आज के समय में काफी डिमांड है इस लेख में अहम आपको बताने वाले है | कॉरपोरेट लॉयर के बारे में कि कॉरपोरेट लॉयर कैसे बने ? Corporate Lawyer Kaise Bane  कॉरपोरेट लॉयर क्या है ? Corporate Lawyer Kya Hai वकील कैसे बने ? Vakil Kaise bane इत्यादि अगर आप भी इस क्षेत्र के बारे मे  संपूर्ण जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो इस लेख को अंत तक जरूरी पढ़े जो आपको करियर का चुनाव करने में काफी मदद करेगा |

वर्तमान समय में  क़ानून के जानने वालो की काफी मांग बढ़ गयी है | इस प्रोफेशन में आप कमाई के आलावा समाज में अपना एक रुतबा भी बना सकते है | यही कारण है कि आज बड़े स्तर पर युवा कानून की पढ़ाई करने में लगे हुए है | बदलते समाजिक और आर्थिक परिदृश्य और नियामक की बढ़ती भूमिका के कारण कानून विशेषज्ञों के लिए क्षेत्र में विशेष में काम करने के नए विकल्प भी विकसित हुए है | इनमे से एक विकल्प कॉरपोरेट लॉयर का भी है |

बदलते समय के कारण वर्तमान समय में सभी बड़ी कंपनियां स्वयं की कॉपोरेट लॉयर नियुक्त करके रखती है | लेकिन यह क्षेत्र चुनौतियों से भरा हुआ है | अगर आप इस क्षेत्र में अपना करियर बनाने की सोच रहे है तो आपको भरपूर मेहनत करनी होगी | इसमें आपको कई वर्षो तक अध्ययन और अनुभव प्राप्त करना होगा  लेकिन एक बार अच्छे से मेहनत करने के बाद आप इस क्षेत्र में  अपनी एक अलग पहचान बना सकते है |

कॉरपोरेट लॉयर क्या है ? What is Corporate Lawyer


कॉरपोरेट लॉयर विशेषज्ञ कारोबारियों , कंपनियों और औद्योगिक फर्म के कानूनी सलाहकार के रूप में कार्य करते है | कॉरपोरेट लॉयर अपने क्लाइंट्स को कानूनी तरीको से कारोबार करने की सलाह देते रहते है कि उन्हें कानून के दायरे में रहकर किस प्रकार कार्य करना है ताकि उनके कारोबार पर सरकार की तरफ से कोई कानूनी कार्रवाई न की जाये |

इसे भी पढे :- डिजिटल मीडिया मे करिअर कैसे बनाए ?

कॉर्पोरेट लॉयर नई फर्म के कागजात बनवाने से लेकर कॉरपोरेट रीऑर्गेनाइजेशन करवाने तक सभी की अच्छी तरीके से देखभाल करता है ताकि कम्पनी या फर्म को किसी भी प्रकार का नुकसान न उठाना पड़े |

इसे भी पढे :- स्टेज एंकर कैसे बने |

अगर कम्पनी या फर्म के ऊपर किसी भी प्रकार का कोई केस हो जाता है तो कॉरपोरेट लॉयर अदालत में केस फाइल करने से लेकर कम्पनी  प्रतिनिधित्व करने और कंपनी के खिलाफ कोर्ट में दर्ज मामले में कंपनी का बचाव करने ये सभी कॉरपोरेट लॉयर के होते है | कम्पनी या फर्म से जुड़े विशेष मामलो जैसे कि विलय और अधिग्रहण आदि में कानूनी मुद्दों का संभालने का कान भी कॉर्पोरेट लॉयर के द्वारा ही किया जाता है |

योग्यता Qualification


अगर आप कॉरपोरेट लॉयर बनने की सोच रहे है तो आपको सबसे पहले अपनी स्कूल शिक्षा पूरी करनी होगी ऐसे में अगर आप अपनी बारहवीं की शिक्षा कॉमर्स विषय से पूरा करते हो तो कॉपोरेट लॉयर की पढ़ाई करने के लिए आपको काफी सुविधा मिल जाती है लेकिन अगर आप बीकॉम करने के बाद भी इस क्षेत्र में अपना कदम बढ़ाते हो तो कॉर्पोरेट लॉयर की पढ़ाई करना आपके लिए और भी आसान हो जाता है |

कोर्स Course


कॉरपोरेट लॉयर बनने के लिए विद्यार्थी  बारहवीं के बाद बीए एलएलबी कोर्स में दाखिला ले सकते है इस कोर्स की अवधि पांच वर्ष की होती है |लेकिन अगर आप ग्रेजुएशन करने के बाद एलएलबी कोर्स में दाखिला लेते है तो फिर इस कोर्स की अवधि तीन वर्ष की हो जाती है |

इसे भी पढे :- सेल्स मार्केटिंग में करियर कैसे बनाये

एलएलबी पूरी करने के बाद आप इस क्षेत्र में  मास्टर्स कोर्स भी कर सकते है , एलएलबी करने के बाद आप दो वर्ष का एलएलएम इन कॉरपोरेट लॉ , पीजी डिप्लोमा इन कॉरपोरेट लॉ , या फिर पीजी डिप्लोमा इन बिजनेस एंड कॉरपोरेट लॉ कर सकते है |

दाखिला प्रक्रिया Admission Process


वैसे तो कानून की पढाई करने के लिए देश में प्राइवेट संस्थानों की कमी नहीं है लेकिन अगर आप कम पैसों में अच्छे कॉलेज से पढाई करना चाहते है तो आपको देश में बारहवीं स्तर पर  आयोजित होने वाली कॉमन लॉ एडमिशन टेस्ट क्लैट , ऑल इंडिया लॉ एंट्रेंस टेस्ट एआईएलटी , लॉ स्कूल एडमिशन टेस्ट एल एस टी इत्यादि परीक्षाओं में से किसी एक परीक्षा में अच्छे अंको से पास होना अनिवार्य है इसके अलावा अगर आप ग्रेजुएशन स्तर पर एलएलबी प्रोग्राम  में दाखिला लेना चाहते है तो आपको डीयू एलएलबी , बीएचयू एलएलबी इत्यादि परीक्षा में से कोई एक परीक्षा पास करनी होगी तभी आप कॉरपोरेट लॉयर के क्षेत्र में आगे जा सकते है |

कॉरपोरेट लॉयर की दूसरी कुशलताएँ  


अगर आप अपने इस  क्षेत्र का चुनाव करते हो  तो आपके लिए आगे की तरक्की के रास्ते खुल जाएंगे | इस क्षेत्र संबंधी किसी भी कोर्स को करने के बाद आप किसी कॉरपोरेट लॉयर के साथ कानून की प्रैक्टिस कर सकते है |

इसे भी जरूर पढे :- फाइनेंसियल एडवाइजर कैसे बने |

इस क्षेत्र में लगातार स्वयं को अपडेट रखना बेहद जरूरी है क्योकि समय के साथ कानून में संशोधन होते रहते है इसलिए आपको अपने अंदर  पढ़ने और अपडेट रखने की आदत विकसित करनी चाहिए | इसके अलावा आपको अपने अंदर कानून के प्रति रूचि और समझने की स्किल , मजबूत विश्लेषणात्मककौशल , कम्युनिकेशन स्किल , बिजनेस स्किल डेवलप करना बेहद जरूरी है जो आपके काम करने के तरीके को और भी मजबूत बनाता है |

कॉरपोरेट लॉयर के लिए करियर की सम्भावनाये  


अगर आपने अपने कॉरपोरेट लॉयर संबंधी अपनी शिक्षा पूरी कर ली है और आपके पास कानूनी , आर्थिक और वित्तीय मामलों संबंधी अच्छी जानकारी है इसके अलावा आपकी मौखिक और लिखित स्किल  तो आपके पास  आगे बढ़ने के बहुत से विकल्प मौजूद है | लॉ फर्म  ज्यादातर कॉरपोरेट लॉयर कानून फर्मों में कार्य करते है यहां पर उनका काम विलय , अधिग्रहण संयुक्त उपक्रम और श्रम या कॉरपोरेट कानून संबंधी मामलों पर कानूनी सलाह देना और समझौते तैयार करवाना होता है

इसे पढे :- मनी लेंडिंग मोबाइल ऐप्स लोन से कतई लोन न लें |

बैंक एवं बीमा कंपनियां
वर्तमान समय में निजी बैंकों एवं सार्वजनिक क्षेत्रों के बैंकों और बीमा कंपनियों को कॉरपोरेट लॉयर की आवश्यकता होती है | बैंकों में कॉरपोरेट लॉयर बनने के लिए आपको बैंक द्वारा निर्धारित चयन प्रक्रिया के बाद ही नियुक्त किया जाता है | इसके अलावा बीमा कम्पनियाँ भी अपने कानूनी मामलों को निपटाने के लिए कॉरपोरेट लॉयर की सलाह लेती है

सार्वजनिक क्षेत्र
अच्छे कॉरपोरेट लॉयर की सार्वजनिक क्षेत्रों में भी काफी मांग है जिसमे आपको नियुक्ति के लिए लिखित परीक्षा , ग्रुप डिस्कशन , साक्षात्कार क्वालीफाई करने के बाद ही नियुक्त किया जाता है |

इसे भी पढे :- रिटेल मैनेजमेंट में करियर कैसे बनाये |

निजी क्षेत्र / प्राइवेट क्षेत्र
आज के समय को ध्यान में रखते हुए देश की सभी बड़ी कंपनियों के पास खुद की एक कॉरपोरेट टीम होती है जो कंपनियों को कानूनी तौर पर कार्य की सलाह देती रहती है ताकि उन पर सरकार की तरफ से कोई करवाई हो सके हमारे देश में हिंदुस्तान यूनिलीवर , आईटीसी , गोदरेज , टाटा , रिलायंस , आदित्या बिरला ग्रुप , अडानी ग्रुप इत्यादि  कम्पनियों में कॉरपोरेट लॉयर के लिए अच्छे विकल्प मौजूद रहते है |

इसे भी जरूर पढे :-ऐसे कीवर्ड्स जिन्हे गूगल पर भूलकर भी न सर्च करे |

कॉरपोरेट लॉयर संबंधी देश के कुछ प्रमुख संस्थान
नेशनल लॉ  स्कूल ऑफ़ इंडिया यूनिवर्सिटी , बंगलौर
नलसार यूनिवर्सिटी ऑफ़ लॉ हैदराबाद
नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी नई दिल्ली , जोधपुर , भोपाल , गुजरात
नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी गांधीनगर
वेस्ट बंगाल नेशनल यूनिवर्सिटी ऑफ़ जुरिडिकल साइंसेज , कोलकाता
बनारस हिन्दू यूनिवर्सिटी , वाराणसी
अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी , अलीगढ़
गुरु गोबिंद सिंह इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी , नई दिल्ली
सिम्बायोसिस सोसाइटीज लॉ कॉलेज पुणे
इंटीरियर डिज़ाइनर कैसे बने

दोस्तों इस लेख में हमने आपको कानून से जुड़े एक उभरते हुए करियर विकल्प कॉरपोरेट लॉयर के बारे में सम्पूर्ण जानकारी दी है इस लेख में हमने आपको बताया है कि लॉयर कैसे बने कॉरपोरेट लॉयर कैसे बने ? Corporate Lawyer Kaise Bane  कॉरपोरेट लॉयर क्या है ? Corporate Lawyer Kya Hai वकील कैसे बने Vakil Kaise bane इत्यादि अगर आपको हमारे द्वारा दी गई यह जानकारी अच्छी अच्छी लगी है तो आप अपनी राय हमे कमेंट बॉक्स में बता सकते है और इस जानकारी को दुसरो के साथ भी शेयर करे ताकि उन्हें भी कानून से जुड़े इस उभरते हुए करियर के बारे में पता चल सके |