Image

अस्पतालों मे भगवान हैं।

किसी अस्पताल मे सतनाम श्री वाहेगुरु के रुप हैं, किसी अस्पताल मे अल्लाह के वंदे हैं, किसी अस्पताल मे भगवान के अवतार हैं, तो किसी अस्पताल मे यीशु मसीह के अनुचर हैं। जो डाक्टरों के भेष मे आज इंसानियत की सेवा कर रहे हैं मन मे किसी भी प्रकार के भेद भाव को छोड़ कर।

आज दुनिया वालों जान लेना चाहिए कि धरती मे अगर कहीं पर असली भगवान है तो वो एक दुसरे की मदद करने वाले इंसानों मे हैं और असली भक्ति सिर्फ किसी मूर्ति के आगे नारियल फोड़ना या सिर्फ किसी मंदिर मे जाकर दुध का अभिषेक करना या सिर्फ किसी दरगाह मे जाकर चादर ढकना या सिर्फ किसी चर्च मे जाकर यीशु के सामने मोमबत्ती जलाना या सिर्फ किसी गुरुद्वारे मे जाकर शीश झुकाना नहीं।

सबसे कठोर सत्य तो ये है कि भक्ति किसी भी धर्म के नाम पर, अल्लाह के नाम पर, राम के नाम पर, परमेश्वर के नाम पर आपस मे झगड़े करना, मरना-मारना बिलकुल नहीं है, बल्कि भक्ति तो सेवा मे है एक दुसरे की मदद मे है, प्यार बाँटिये नफ़रत नहीं।

बहुत कष्ट हो रहा होगा कि #Corona महामारी के वजह से हम सब को एक दुसरे से दुर रहना पड़ रहा है। जरा सोचिए जब कुछ घ़टे दुर रहने से हम लोगो की ये हालत है तो जब धर्मों के नाम पर, हिंदु मुस्लिम के नाम पर, जात पात के नाम पर एक दोस्त अपने दोस्तों से, एक छात्र अपने शिक्षकों से, एक ग्राहक अपने दुकानदारों से, एक पडोसी अपनी पडोसी से अलग हो जाएगा। जब सब एक दुसरे से अलग हो जायेंगे तब कैसा महसूस होगा।

#Corona के खिलाफ न सिर्फ एक देश बल्कि पुरा विश्व खड़ा है। #Corona ने पुरे विश्व को अपने खिलाफ कर दिया है। पर बधाई हो कि उसने आज पुरे विश्व को एक कर दिया है। #Corona ने हम मे एकता लाया है।

#Corona_we_hate_you_as_a_Disease but
#Corona_we_love_you_as_our_Common_Enemy

(Dayasagar)