Image

मुंबई– अडाणी ग्रुप के मालिक गौतम अडाणी एक बार फिर अमीरों की लिस्ट में नीचे खिसक गए हैं। वे दुनिया के अमीरों की लिस्ट में 15 वें नंबर पर पहुंच गए हैं। जबकि रिलायंस ग्रुप के मालिक मुकेश अंबानी 13 वें पर विराजमान है। अडाणी के नंबर में इसलिए गिरावट आई है क्योंकि मंगलवार के बाद बुधवार को भी उनकी कंपनियों के शेयरों में गिरावट जाती है।  

ब्लूमबर्ग बिलिनेयर इंडेक्स की रिपोर्ट के मुताबिक, चीन के अरबपति झोंग शैनशैन एक बार फिर 15 वें नंबर पर वापस आ गए हैं। पहले गौतम अडाणी 14 वें नंबर पर थे। अडाणी ग्रुप की कंपनियों के शेयरों में मंगलवार को गिरावट दिखी थी। यह गिरावट बुधवार को भी जारी है। बुधवार को अडाणी ट्रांसमिशन का शेयर 5% तक गिर गया और यह 1378 रुपए पर चला गया। जबकि ग्रीन एनर्जी और अडाणी पावर का भी शेयर नीचे कारोबार कर रहा था। हालांकि बाकी की तीन कंपनियों अडाणी टोटल गैस, अडाणी इंटरप्राइज और अडाणी पोर्ट के शेयर बढ़त के साथ कारोबार कर रहे थे। 

पिछले दिनों गौतम अडाणी एशिया में दूसरे नंबर के अमीर बिजनेसमैन बने थे। पर अब उनकी जगह पर चीन के झोंगझोंग दूसरे नंबर पर आ गए हैं। उनकी संपत्ति 71 अरब डॉलर है जबकि अडाणी की संपत्ति 68.4 अरब डॉलर है। अडाणी ग्रुप के शेयरों में गिरावट से उनकी नेटवर्थ में 1.83 अरब डॉलर की कमी आई थी। जबकि बुधवार को भी उनकी नेटवर्थ घटी है। 

चीनी अरबपति झोंगझोंग की नेटवर्थ मंगलवार को 2.46 अरब डॉलर बढ़ी थी। जिसके चलते वो एशिया की अमीरों की सूची में एक बार फिर मुकेश अंबानी और गौतम अडाणी के बीच में आ गए हैं। साल 2021 में गौतम अडाणी की संपत्ति में जितनी तेजी आई है, वह 19 अन्य इंडियन बिलिनेयर की संपत्ति में आई कुल तेजी से ज्यादा है। 

अमेजॉन के जेफ बेजोस दुनिया के सबसे बड़े रईस बने हुए हैं। उनकी नेटवर्थ 189 अरब डॉलर है। फ्रांसीसी बिजनसमैन और दुनिया की सबसे बड़ी लग्जरी गुड्स कंपनी LVMH Moët Hennessy के चेयरमैन बर्नार्ड आरनॉल्ट (168 अरब डॉलर) इस लिस्ट में एक बार फिर दूसरे स्थान पर आ गए हैं। टेस्ला (Tesla) और स्पेसएक्स (SpaceX) के सीईओ एलन मस्क (Elon Musk) 167 अरब डॉलर की नेटवर्थ के साथ तीसरे स्थान पर खिसक गए हैं। इस लिस्ट में माइक्रोसॉफ्ट के को-फाउंडर बिल गेट्स (143 अरब डॉलर) चौथे नंबर पर हैं। 

अमेरिकन मीडिया के दिग्गज और फेसबुक के सीईओ मार्क जकरबर्ग 122 अरब डॉलर की वेल्थ के साथ पांचवें स्थान पर हैं। जाने माने निवेशक वारेन बफे 109 अरब डॉलर की नेटवर्थ से साथ छठें, अमेरिकी कम्प्यूटर साइंटिस्ट और इंटरनेट उद्यमी लैरी पेज (Larry Page) 108 अरब डॉलर के साथ सातवें, गूगल के को-फाउंडर सर्गेई ब्रिन (Sergey Brin) 104 अरब डॉलर के साथ आठवें नंबर पर हैं। लैरी एलिसन 91.4 अरब डॉलर नेटवर्थ के साथ नौवें और अमेरिकी बिजनसमैन और निवेशक स्टीव बाल्मर (Steve Ballmer) 90.9 अरब डॉलर के दसवें स्थान पर हैं। दुनिया के टॉप 10 अमीरों में से 9 अमेरिका के हैं। 

गौतम अडाणी हर मुश्किल से मजबूत बनकर उबरते रहे हैं, चाहे वह कारोबारी बाधा हो या निजी दिक्कत। 20 साल पहले वे फिरौती के लिए अगवा हुए थे और 2008 में ताजमहल होटल पर आतंकी हमले में बंधक रहे थे। अपनी कारोबारी क्षमता और बाधाओं से उबरने के हुनर ने अडाणी को देश की दूसरी सबसे अमीर हस्ती बना दिया है। कोरोना के चलते देश की अर्थव्यवस्था धीमी पड़ गई थी, लेकिन अडाणी ग्रुप का कारोबार फैलता ही जा रहा है।  

अडाणी ने 1980 के दशक की शुरुआत में कॉलेज की पढ़ाई बीच में छोड़कर मुंबई की डायमंड इंडस्ट्री में किस्मत आजमाई। कुछ समय बाद भाई के प्लास्टिक बिजनेस में मदद करने के लिए गुजरात लौट गए। उसके बाद 1988 में ग्रुप की फ्लैगशिप कमोडिटी ट्रेडिंग कंपनी अडाणी इंटरप्राइजेज शुरू की। एक दशक बाद अरब सागर तट पर मुंद्रा पोर्ट शुरू किया।

Resource Link- https://www.arthlabh.com/2021/05/27/mukesh-ambani-gautam-adan-net-worth-update-asias-2nd-richest-indian-billionaire-industrialist-positions-slips/