Image

नफरतों के जंग में क्या-क्या ना हो गया , सब्जियां हिंदू बन गई,                             बकरा मुसलमान हो ,गया!                         हम इंसान इंसानियत को भूल          बटवारा कर लिए ।                                   लाल हिंदू है ,हरा मुसलमान ,                   सूरज हिंदू है ,                                          चांद मुसलमान ,                                        अपनी ख्वाहिशों के लिए मजहब हमने बना   लिया।                                                   गाय हिंदू है ,बकरा मुसलमान,                  जरा सोचिए !ना यह कुरान ने हमें सिखाया ना गीता ने|                                                    तो यह बता किसने हमे  सिखलाया?               किसने हमें सिखलाया!!!!?!!?                                   पूजा रत्नाकर